ताज़ा ख़बर

नफरत फैलाकर इस तरह देश को बर्बाद कर रही है मोदी सरकार

केन्द्र सरकार पर हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने दिया नया मंत्र ‘डरो मत’ 
नई दिल्ली। भाजपा और आरएसएस पर तीखा प्रहार करते हुए राहुल गांधी ने बुधवार को आरोप लगाया कि ये लोगों में ‘भय’ का माहौल पैदा कर रहे हैं, साथ ही जोर दिया कि कांग्रेस इनकी विचारधारा को परास्त कर देगी और भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंकेगी। इसे दो विचारधाराओं के बीच का संघर्ष करार देते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी का दर्शन लोगों को भयमुक्त होने को कहता है जबकि भाजपा का दर्शन लोगों में ‘भय’ और ‘डर’ पैदा करने वाला है। राहुल ने कहा, ‘यह दो दर्शन के बीच की लड़ाई है। यह कोई नई लड़ाई नहीं है। यह लड़ाई हजारों वर्षो पुरानी है। कांग्रेस पार्टी का दर्शन कहता है कि भयभीत नहीं हों। दूसरा दर्शन कहता है कि भयभीत करो, डराओ।’ राहुल ने कहा, ‘आप भाजपा की नीतियों को देखें । पूरा मकसद देश के लोगों को डराने का है। आतंकवाद, माओवाद, नोटबंदी से डराओ, मीडिया को डराओ । पिछले दो..तीन महीने में पूरे देश में ऐसा डर फैल गया है।’ राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी जहां मजदूरों और किसानों को भयमुक्त होकर आगे आने को कहती है, उन्हें 100 दिनों के रोजगार की गारंटी देने की बात करती है, यह भी कहती है कि बाजार मूल्य से कम कीमत पर किसी की जमीन नहीं ली जायेगी, वहीं नरेन्द्र मोदी उनसे पैसा और जमीन छीन रहे हैं। झारखंड, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश जैसे राज्यों में जहां आदिवासी अपनी जमीन, जल और वन अधिकारों के लिए खड़े हो रहे हैं, उनका दमन किया जा रहा है। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, ‘ ये लोग (भाजपा और आरएसएस) सोचते हैं कि वे लोगों के बीच भय और घृणा फैला कर शासन कर सकते हैं। कांग्रेस पार्टी इन्हें परास्त करेगी और सत्ता से हटा देगी। हम उनसे (भाजपा और आरएसएस) से घृणा नहीं करते हैं लेकिन हम उनकी विचारधारा को परास्त कर देंगे।’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी भय को समाप्त करने के लिए खड़ा होगी । भारत एक मजबूत देश है और यहां के लोगों को दुनिया में किसी से भी डरने की जरूरत नहीं है। उनकी राजनीति और ढांचे का आधार भय को गुस्से में बदलने का है । यह पिछले ढाई वर्षो में नहीं हो रहा है । लेकिन वे (भाजपा और आरएसएस) ऐसा करते रहे हैं। यह विचारधारा ऐसा ही करती है। राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में भयमुक्त होकर आगे बढ़ने का दर्शन है और यह महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू से लेकर देखा गया है जो अंग्रेजों से भयभीत नहीं होने की बात कहता था । हरित क्रांति के दौरान किसानों को भयमुक्त होने को कहा गया, बैंकों के राष्ट्रीयकरण के दौरान और संप्रग सरकार के समय खाद्य सुरक्षा कानून और भूमि अधिग्रहण कानून के समय लोगों को भयमुक्त होने का संदेश दिया गया। नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘करोड़ों लोग लाइनों में खड़े थे। क्यां आपने वहां पर किसी भ्रष्ट व्यक्ति को खड़ा हुआ पाया? भ्रष्ट लोग बैंक के पीछे के दरवाजे पर थे। मोदी जी ने सोचा कि जब आर्मी ने सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया तो उन्होंने गरीबों और किसानों पर सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया।’ संबोधन के दौरान राहुल गांधी ने पीएम मोदी की मिमिक्री भी की। राहुल गांधी ने कहा, ‘जैसे अमिताभ बच्चन जी की फिल्मों में डायलॉग होते थे ना वैसे ही नरेंद्र मोदी जी आए और डायलॉग दिया ‘देशवासियों… सॉरी, सॉरी माफी चाहता हूं, मित्रों, अपनी जेब में हाथ डालो। सबने अपनी जेब में हाथ डाला। ये जो तुम्हारी जेब में 500 और 1000 रुपए के नोट हैं। अब ये कागज हो गए हैं, कागज। मित्रों, भ्रष्टाचार के खिलाफ हम आज एक लड़ाई लड़ रहे हैं। मुझे अपना वर्तमान समय दो। मैं आपको एक चमकता हुआ भारत आज से 10-15 साल बाद दूंगा। यह बात भी समझ लो यह चमकता हुआ भारत अरुण जेटली जी, सुषमा स्वराज जी और राजनाथ सिंह जी नहीं देंगे, ये चमकता हुआ भारत सिर्फ नरेंद्र मोदी देगा।’ इस बाद वहां मौजूद लोगों ने तालियां बजाईं।
मोदी योग की राजनीति करते हैं, पर पद्मासन तक नहीं आता 
राहुल गांधी ने बुधवार (11 जनवरी) को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में ‘जनवेदना सम्मेलन’ को संबोधित किया। इस कार्यक्रम में राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा और साथ ही उनका मजाक भी उड़ाया। राहुल ने मोदी पर संस्थाओं का अनादर करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस सभी संस्थाओं का सम्मान करती है। राहुल ने नोटबंदी का जिक्र करते हुए कहा कि यह मोदी का निजी फैसला था और उसके लिए किसी से भी सलाह नहीं ली गई थी। उन्होंने कहा कि सरकार ने अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए नोटबंदी की थी। उन्होंने यह भी कहा कि नोटबंदी की वजह से दुनियाभर में भारत का मजाक बना। राहुल ने कहा कि ‘हमें यह बताने की जरूरत नहीं कि हमने पिछले 70 सालों में क्यार किया या क्याा नहीं किया। बीजेपी ने ढाई साल में वह कर दिया है जो हम नहीं कर पाए।’ इसके अलावा उन्होंने भाजपा और मोदी सरकार की कुछ नीतियों को मजाक भी बनाया। उन्होंने कहा कि बीजेपी वालों को ठीक से झाडू लगानी नहीं आती। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पीएम को पद्मासन भी करना नहीं आता। राहुल ने कहा, ‘2.5 साल पहले मोदी जी आए, कहा हिंदुस्तान को साफ कर दूंगा, सबको झाडू पकड़ाया, फैशन था, 3-4 दिन चला फिर भूल गए। मैं बातें नोटिस करता हूं। बहुत योग किया लेकिन पद्ममासन नहीं किया। मेरे योग गुरु ने कहा था कि जो योग करता है वो पद्ममासन कर सकता है और जो योग नहीं कर सकता वह पद्ममासन भी नहीं कर सकता।’ राहुल ने आगे कहा कि नोटबंदी एक बहाना है क्योंकि मोदी को पता लगा गया है कि वह योगा, स्किल इंडिया, मेक इन इंडिया के पीछे नहीं छिप पाएंगे। राहुल ने आगे कहा कि मोदी ने भारत को 16 साल पहले की स्थिति में पहुंचा दिया है। राहुल ने आगे कहा, ‘वो कहते हैं कि तुम क्या हो? इस देश को नरेंद्र मोदी और मोहन भागवत की जी चलाएंगे।। लेकिन हम लोग हिंदुस्तान की आवाज को बचा कर रखेंगे।’
मोदी की मिमिक्री कर सरकार पर हमले किए 
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को जन वेदना सम्मेलन में मोदी की मिमिक्री की. राहुल ने पीएम पर फिल्मी डायलॉग के सहारे भी निशाना साधा. उन्होंने अमिताभ बच्चन की फिल्म का डायलॉग भी सुनाया। जन वेदना सम्मेलन में राहुल ने नोटबंदी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री को घेरते हुए कहा ’नोटबंदी सरकार का निजी फैसला है, पीएम ने कहा था हमारा मकसद भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ना है, बताइए कितना कालाधन वापस आ गया? बीजेपी ने नोटबंदी से एक दिन पहले पश्चिम बंगाल में पैसा जमा किया। जनार्दन रेड्डी जी ने 500 करोड़ रुपए की अपनी बेटी की शादी करवाई। इतने नए नोट कैसे आ सकते हैं किसी के पास?’ पीएम ने चुनाव प्रचार में कई बार ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का नारा दिया है. इस पर राहुल ने जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस 100 साल पुरानी पार्टी है. शिवजी की फोटो में भी कांग्रेस पार्टी का चिन्ह है। गुरूनानक देव जी, बुद्ध, महावीर जी की तस्वीर में भी कांग्रेस का चिन्ह दिखाई देता है। राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का भी हौसला बढ़ाया और कहा कि पांच राज्यों में होने वाले चुनावों में कांग्रेस की सरकार बनेगी। कार्यकर्ताओं ने भी कांग्रेस उपाध्यक्ष का हौसला बढ़ाया। ‘राहुल तुम संघर्ष करो, हम तुम्हारे साथ हैं’ के नारों की चीख चिल्लाहट के बीच राहुल ने कहा पीएम चंद्रयान बनाने पर भी खुद श्रेय लेते हैं। इसका मतलब है इसरो के वैज्ञानिकों का इसमें कोई योगदान नहीं है। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा ‘यूपीए की सोच में डरो मत की सोच थी। हाथ के निशान का मतलब है डरो मत। जबकि बीजेपी का कहना है डरो और डराओ। आरएसएस और बीजेपी गरीबों को डरा कर उनका पैसा छीन रही है। मोदी जी ने बड़े व्यापारियों का 8 लाख करोड़ रुपए में से 1 लाख करोड़ रुपया माफ कर दिया। बाकी का पैसा गरीबों का पैसा छीन-छीन कर बड़े व्यापारियों को दे दिया।’ सहारा डायरी मामले को भी राहुल गांधी ने उठाया। राहुल ने कहा सहारा ने पीएम को 9 बार पैसे दिए हैं। वो उस पर तो कुछ बोल नहीं रहे। जन वेदना सम्मेलन में राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेता भी मौजूद थे। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी स्वास्थ्य ठीक नहीं होने के चलते मीटिंग में अनुपस्थित थीं।      राजीव रंजन तिवारी, फोन- 8922002003
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: नफरत फैलाकर इस तरह देश को बर्बाद कर रही है मोदी सरकार Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल