ताज़ा ख़बर

लाखों लोग पहले ही दे चुके हैं अपनी ‘आधार’ डिटेल, तो नए सिस्टम का अब क्या फायदा: चिदंबरम

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री ने ट्वीट कर कहा, "अनिवार्यता की वजह से लाखों लोगों ने पहले ही अपने आधार नंबर कई सेवा प्रदाताओं के साथ साझा कर दिया है। नई सुरक्षा प्रणाली घोड़े के भाग जाने के बाद अस्तबल बंद करने जैसा है।" आधार डाटा को संग्रहित करने समेत नागरिकों के बायोमेट्रिक जानकारी इकट्ठा करने वाला भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण यानी यूआईडीएआई ने बुधवार को आधार कार्ड की गोपनीयता सुरक्षित करने के लिए दो स्तरीय प्रणाली लागू करने की घोषणा की। इसके तहत आधार धारकों को सत्यापन के लिए अपना आधार नंबर नहीं देना होगा। हाल ही में एक न्यूज रिपोर्ट में आधार की जानकारी आसानी से उपलब्ध होने की रिपोर्ट छापी गई थी, जिसके बाद आधार की गोपनीयता को सुरक्षित करने के लिए सरकार ने यह घोषणा की है। नई प्रणाली के तहत, आधार कार्ड धारकों को सत्यापन के वक्त अपना आधार कार्ड नंबर साझा नहीं करने का विकल्प मौजूद रहेगा। इसके बदले 16 अंकों का वर्चुअल आईडी नंबर जारी किया जा सकता है, जिसका इस्तेमाल बिना आधार नंबर दिए ही सत्यापन के लिए किया जा सकेगा। साभार नवजीवन 
राजीव रंजन तिवारी (संपर्कः 8922002003)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: लाखों लोग पहले ही दे चुके हैं अपनी ‘आधार’ डिटेल, तो नए सिस्टम का अब क्या फायदा: चिदंबरम Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल