ताज़ा ख़बर

पढ़ें, कैसे और क्यों मची आतंकियों में ‘दहशत’, पाकिस्तान हुआ ‘परेशान’!

रामलीला देखने गए पीएम मोदी के जुबानी हमले से ‘घायल’ हुआ पड़ोसी, कहा- नहीं बख्शे जाएंगे आतंकवाद को पनाह देने वाले 
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जुबानी हमले से निश्चित रूप से पड़ोसी पाकिस्तान में हलचल मची होगी। जानकार बताते हैं कि विजय दशमी के मौके पर लखनऊ के ऐशबाग रामलीला में शामिल हुए पीएम मोदी ने जिस तरह आतंकवाद को निशाने पर लिया, उससे पाकिस्तानी आतंकियों में भय व दहशत का माहौल बन गया है। पीएम के हमलावर रूख से पाकिस्तान भी परेशान है। पीएम ने ‘जय श्री राम’ के उद्घोष के साथ भाषण की शुरुआत की। कहा, ”मुझे आज अति प्रचीन रामलीला में शामिल होने का सौभाग्य मिला। इस धरती से भगवान राम और श्री कृष्ण मिले। इस धरती को आकर प्रणाम करने का सौभाग्य मिला।” पीएम ने कहा, ”हम रावण को तो हर वर्ष जलाते हैं। रावण को जलाते समय एक संकल्प होना चाहिए कि हम भी अपने भीतर जो भी बुराइयां हैं इन्हें ऐसे ही खत्म करेंगे। हर साल इस संकल्प को और मजबूत बनाना चाहिए।” आतंकवाद पर हमला बोलते हुए पीएम ने कहा, ”आतंकवाद मानवता का दुश्मन हैं। भगवान राम मानवता का प्रतिनिधित्व करते हैं। भगवान राम मर्यादाओं को रेखांकित करते हैं। त्याग और तपस्या की मिशाल भगवान राम ने मिसाल पेश की।” कहा, ”रामायण गवाह कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ने का काम सबसे पहले जटायू ने किया। एक स्त्री का अपहरण करके ले जा रहे रावण से लड़ना आतंकवाद से लड़ने जैसा ही था। हम अगर राम नहीं बन सकते तो कम से जटायू बनकर आतंकवाद पर नजर तो रख सकते हैं।” पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा, ”जो लोग आज आतंकवाद को पनाह दे रहे हैं उन्हें छोड़ा नहीं जा सकता।” पीएम ने कहा, ”श्री कृष्ण के जीवन में भी युद्ध था और राम के जीवन में भी युद्ध था। लेकिन हम वो लोग हैं जो युद्ध से बुद्ध की और जा रहे हैं। ये देश सुदर्शनचक्र धारी कृष्ण को भी युग पुरुष मानता है और चरखाधारी मोहन को भी युग परुष मानता है।” पीएम ने भाषण के अंत में भी ‘जय श्री राम’ का जयघोष करवाया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पीएम मोदी का स्वागत करते हुए कहा, ”पीएम मोदी ने अंतरराष्ट्री य जगत में भारत का सिर ऊंचा किया। लखनऊ मेरा संसदीय क्षेत्र है इसलिए मैं उनका स्वागत करता हूं।” पीएम मोदी वायुसेना के विमान से शाम साढे पांच बजे अमौसी हवाई अडडे पहुंचे। केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उनकी अगवानी की। एयरपोर्ट से प्रधानमंत्री का काफिला ऐशबाग के लिए रवाना हो गया।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: पढ़ें, कैसे और क्यों मची आतंकियों में ‘दहशत’, पाकिस्तान हुआ ‘परेशान’! Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल