ताज़ा ख़बर

बोले नवाज शरीफ, कश्मीरियों की आवाज उठाना मेरा हक

इस्लामाबाद। पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज आता हुआ नजर नहीं आ रहा है। हाल ही में कश्मीर के लोगों का इलाज करवाने की पेशकश करने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने फिर वहीं राग छेड़ा है। इस बार शरीफ ने कहा कि कश्मीर के लोगोंं की आवाज बनना उनका दायित्व है। उन्होंने कहा कि कश्मीरियों को जिस तरह उत्पीड़ित किया गया है, उसको लेकर मैं आवाज उठाऊंगा। बता दें कि इससे पहले शरीफ ने बुरहान वानी के मारे जाने के बाद घाटी में भड़की हिंसा में घायल होने वाले लोगों के इलाज करवा सके। नवाज शरीफ के कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के रूप में कश्मीरियों की आवाज बनना मेरा दायित्व है जिन्हें कश्मीर में उत्पीड़ित किया गया है। मैं कश्मीर के लोगों की स्थिति और उनके वैध संघर्ष के बारे में विश्व को समझाने में कोई भी कसर नहीं छोडूंगा। शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र की आगामी महासभा की तैयारी के लिए एक बैठक की अध्यक्षता की। शरीफ ने बैठक में कहा, ‘आत्मनिर्णय का अधिकार कश्मीरियों का मूल अधिकार है और हम कश्मीरियों को उनका यह अधिकार दिलाने के लिए सभी प्रयास करेंगे।’ गौरतलब है कि इससे पहले भी कई बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ भारत के खिलाफ बयान दे चुके हैं। शरीफ ने हिजबुल कमांडर बुरहानी वानी के मारे जाने पर अफसोस जताते हुए उसे ‘शहीद’ बताया था। साथ ही कहा था कि उन्हें उस दिन का इंतजार है जब कश्मीर पाकिस्तान का हिस्सा बनेगा। इस पर भारत की ओर से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा बनाने का उनका सपना कायनात के खत्म होने पर भी साकार नहीं होगा।  
यूएन के सामने अलापा कश्मीर राग   
पाकिस्तान के पीएम नवाज़ शरीफ ने एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र के सामने कश्मीर का राग अलापा है। नवाज़ ने कश्मीर के हालात पर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव वान की मून और संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार के हाई कमिश्नर को पत्र लिख कर कश्मीर में हिंसा और मानवाधिकार पर दखल की मांग की है। पत्र में शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के उस प्रस्ताव को लागू करने का भी ज़िक्र किया जिसके तहत अगर कश्मीर के लोग खुद चाहें तो जनमत संग्रह करवा सकते हैं। शरीफ ने भारत पर हमला करते हुए पत्र में लिखा कि भारतीय फोर्स के कश्मीर के लोगो पर हुए अत्याचार में करीब 50 लोगों की मौत हो चुकी है, 3500 से ज़्यादा लोग घायल हैं जिनमें से 400 लोगों की हालत नाज़ुक है. बहुत से कश्मीरियों की पैलेट गन लगने से आंखें चली गई हैं। कुछ दिन पहले सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने इस्लामाबाद गए गृहमंत्री राजनाथ सिंह अपना दौरा बीच में ही रोककर भारत वापस लौट आए थे. राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान में आकंतवाद के मुद्दे पर जमकर लताड़ लगाई थी. उस वक्त पाकिस्तान ने अपने निकम्मेपन का एक और सबूत देते हुए भारत के गृहमंत्री राजनाथ सिंह के भाषण को ना दिखाने की साजिश के तहत गृह मंत्रियों के भाषण की कवरेज के लिए इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को नहीं आने दिया था।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: बोले नवाज शरीफ, कश्मीरियों की आवाज उठाना मेरा हक Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल