ताज़ा ख़बर

कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत पर रेप का मामला दर्ज

32 साल की महिला ने सफदरजंग एन्क्लेव दिल्ली में लिखाई रिपोर्ट 
नई दिल्ली। उत्तउराखंड के पूर्व मंत्री और भाजपा नेता हरक सिंह रावत पर रेप का मामला दर्ज किया गया है। 32 साल की एक महिला ने दिल्ली के सफदरजंग एन्क्लेव थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें आरोप लगाया गया है कि रावत ने उसके साथ रेप किया। वह लंबे समय से उसका शोषण कर रहे थे। बताया जा रहा है कि महिला हरक सिंह रावत की जानकार है। हरक सिंह रावत पर साल 2014 में भी छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया गया था। पुलिस जांच कर रही है कि शिकायतकर्ता महिला वही है या कोई और है। महिला का आरोप है कि उस पर पुलिस के पास न जाने का दबाव बनाया जा रहा था। महिला असम की रहने वाली है। मामला 29 जुलाई की रात को दर्ज कराया गया। हरक सिंह रावत कहां है, यह पता नहीं चल पाया है। पुलिस का कहना है कि जांच के बाद कार्रवाई होगी। रावत उत्तराखंड में हरीश रावत सरकार में मंत्री थे। पिछले दिनों भाजपा में चले गए थे।
विवादों से पुराना नाता रहा है हरक का 
हरक सिंह रावत का विवादों से पुराना नाता रहा है। 2003 का जैनी प्रकरण हो या 2014 में मेरठ की रहने वाली महिला के कथित उत्पीड़न का मामला, हरक का नाम ऐसे विवादों से जुड़ा रहा है। इस मामले को जैसे-तैसे रफादफा करने के आरोप भी हरक सिंह पर लगे थे। 2003 में एनडी तिवारी की सरकार में भी हरक को चर्चित जैनी प्रकरण की वजह से मंत्री पद छोड़ना पड़ा। तब जैनी नाम की महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया था। जैनी ने हरक सिंह रावत पर आरोप लगाया था कि हरक ही उसके बच्चे के पिता हैं। जैनी का आरोप था कि हरक ने काम दिलाने के नाम पर शारीरिक शोषण किया। इस मामले में डीएनए टेस्ट भी हुआ था, लेकिन डीएनए रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं हुई। बाद में मामला रफादफा हो गया। उत्तराखंड में 2012 के विधानसभा में बहुमत मिलने के बाद हरक सिंह ने कहा कि वे मंत्री पद को जूते की नोक पर रखते हैं। उनके इस बयान से काफी विवाद हुआ। तब हरक सीएम बनने का सपना देख रहे थे। जब विजय बहुगुणा सीएम बने तब हरक को मंत्री पद स्वीकारना पड़ा। वर्ष 2013 में बहुगुणा सरकार में ही हरक सिंह पर ऑफिस ऑफ प्रोफिट का आरोप का आरोप लगा। कईं दिनों तक हरक सिंह विपक्ष के निशाने पर रहे। तब भाजपा ने हरक का इस्तीफा मांगा था। वर्ष 2013 में मेरठ की रहने वाली एक महिला ने हरक सिंह रावत पर शरीरिक शोषण का आरोप लगाया था। तब हरक सिंह रावत, विजय बहुगुणा सरकार में मंत्री थे। फरवरी 2014 में मेरठ की रहने वाली महिला ने दिल्ली के सफदरजंग थाने में ही हरक सिंह के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया था। बाद में दोनों पक्षों की कथित सहमति के बाद यह मामला रफादफा हुआ। 18 मार्च, 2016 को उत्तराखंड विधानसभा में हरीश रावत सरकार के खिलाफ बगावत का झंडा बुलंद करने वाले 9 बागियों में हरक सिंह रावत ने अग्रणी भूमिका निभाई। इसके बाद हरीश रावत सरकार को हटाकर राज्य में राष्ट्रपति शासन तक लगा। सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद हरीश रावत सरकार लौट आई तो हरक सिंह समेत सभी बागियों ने भाजपा ज्वॉइन की। 26 मार्च, 2016 को सरकार बचाने के लिए विधायकों की खरीद फरोख्त से जुड़े हरीश रावत के कथित स्टिंग की सीडी बागियों ने दिल्ली में जारी की थी। विधायक मदन बिष्ट से जुड़े एक अन्य के पीछे भी हरक सिंह रावत की ही भूमिका मानी जाती रही। अब 29 जुलाई, 2016 को दुष्कर्म का मामला दर्ज हुआ है। ताजा मामला दिल्ली के सफदरजंग थाने का है, जहां एक महिला ने हरक पर दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है। बताया जा रहा है कि मेरठ की इसी महिला ने 2014 में सफदरजंग थाने में ही हरक के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। तब दोनों पक्षों की सहमति के बाद महिला ने मामला वापस ले लिया था। अब नये सिरे से महिला ने हरक के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत पर रेप का मामला दर्ज Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल