ताज़ा ख़बर

वो बातें जो पहलाज निहलानी नहीं चाहते फिल्म 'उड़ता पंजाब' में...

मुंबई। फिल्मी 'उड़ता पंजाब' को लेकर सेंसर बोर्ड अध्यरक्ष पहलाज निहलानी और फिल्मक निर्माता अनुराग कश्य प के बीच खींचतान जारी है। बुधवार को ही ‘उड़ता पंजाब’ के समर्थन में आगे आते हुए निर्माता-निर्देशकों महेश भट्ट, मुकेश भट्ट और अनुराग कश्यप ने आरोप लगाया कि बोर्ड जानबूझकर फिल्म के प्रमाणण में देरी कर रहा है। बोर्ड ने फिल्म के नाम सहित पूरी फिल्म से ‘पंजाब’ शब्द हटाने और कहानी में कथित तौर पर 89 कट करने को कहा है। बोर्ड का यह फैसला निर्माताओं को कुछ रास नहीं आया है और वे इसके खिलाफ बंबई उच्च न्यायालय चले गए हैं। सेंसर बोर्ड ने 13 सुझाव फ़िल्म निर्माता को दिए हैं, ये सुझाव मानने पर ही फ़िल्म को सेंसर बोर्ड की ओर से 'ए' सर्टिफ़िकेट मिल सकेगा। जानिए कौन से हैं वो सुझाव, जिसे बोर्ड फिल्म में चाहता है। फ़िल्म की शुरुआत से पंजाब का साइन बोर्ड हटाएं। फ़िल्म से पंजाब, जालंधर, चंडीगढ़, अमृतसर, तरनतारन, जशनपुरा, अबेसर, लुधियाना और मोगा के बोर्ड और डायलॉग से इन्हें हटाया जाए। गाना नंबर 1 से 'चिट्टावे' शब्द हटाया जाए। गाना नंबर 2 से 'टॉ दी कॉक जेव्हे चिट्टी चिट्टी' और 'कोक' शब्द हटाए जाए। गाना नंबर 3 से सरदार के खुजली करने वाले एक सीन से भी आपत्ति। फ़िल्म में शामिल 14 गालियों को हटाने को कहा गया। फ़िल्म में इस्तेमाल हुए 'इलेक्शन', 'एमपी', 'पार्टी', 'एमएलए', 'पंजाब' ,'पार्लियामेंट' शब्द हटाए जाएं। ड्रग्स के लिए इंजेक्शन लेते हुए क्लोज़अप शॉट हटाने को कहा। भीड़ के सामने टॉमी सिंह के क़िरदार के चंद आपत्तिजनक एक्शन हटाने का सुझाव। 'ज़मीन बंजर ते औलाद कंजर', इस लाइन को हटाया जाए। कुत्ते का नाम जैकी चैन नहीं होना चाहिए, इसे बदला जाए। शुरुआत में ये डिस्क्लेमर चले, ''फ़िल्म ड्रग्स के बढ़ते असर और इसके खिलाफ़ चल रही लड़ाई को दिखाती है। हम मानते हैं कि इसके लिए सरकार और पुलिस कोशिशें कर रही हैं। मगर ये लड़ाई लोगों के सहयोग के बिना नहीं जीती जा सकती। काल्पनिक कहानी से जुड़ा फ़िल्म का दूसरा डिस्क्लेमर बढ़ाने के लिए कहा गया।  
बॉलीवुड एकजुट, निहलानी को हटाने की मांग 
फिल्म उड़ता पंजाब को लेकर सेंसर बोर्ड अध्यक्ष पहलाज निहलानी और निर्देशक अनुराग कश्यप के बीच विवाद बढ़ता जा रहा है। कल पहलाज निहलानी के अनुराग कश्यप पर आम आदमी पार्टी से पैसे लेने के आरोप लगाने के बाद आज अनुराग कश्यप ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में अनुराग के साथ फिल्म जगत की जाना मानी हस्तियां एकता कपूर, सुधीर मिश्रा, महेश भट्ट, अश्विवनी चौधरी, अशोक पंडित, सुभाष घई भी मौजूद थे। इन सभी ने एक सुर में पहलाज निहलानी को सेंसर बोर्ड अध्यक्ष पद से हटाने की मांग की। पैसे लेने के आरोप पर अनुराग कश्यप ने कहा कि ऐसे आरोपों में उन्हें खुद का बचाव करने में शर्म आती है। उन्होंने कहा कि पिछले दो साल में ऐसा क्या हो गया की हर फिल्म को ट्रिब्यूनल में जा कर क्लियर करवाना पड़ रहा है। इस प्रेस कांफ्रेस में मुकेश भट्ट ने मंत्रालय से अपील करते हुए कहा कि पहलाज निहलानी सेंसर बोर्ड अध्यक्ष पद के लिए उपयुक्त नहीं हैं, उन्हें तुरंत पद से हटाया जाना चाहिए। वहीं, उड़ता पंजाब मामले में बाम्बे हाईकोर्ट ने सुनवाई कल तक के लिए स्थगित कर दी है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: वो बातें जो पहलाज निहलानी नहीं चाहते फिल्म 'उड़ता पंजाब' में... Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल