ताज़ा ख़बर

गरीबों की समस्याओं के बारे में कुछ क्यों नहीं बोलते मोदीः राहुल गांधी

मुंबई। पीएम नरेंद्र मोदी पर करारा प्रहार करते हुए कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को सवाल किया कि वह गरीबों की तकलीफों के बारे में कुछ क्यों नहीं बोलते। राहुल ने दावा किया कि भाजपा सरकार की विश्वसनीयता काफूर हो चुकी है। उत्तरी मुंबई के मलाड उपनगरीय इलाके में पार्टी कार्यकर्ताओं के एक जलसे को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा, ‘‘तकरीर देना बहुत अच्छी बात है, लेकिन मोदी गरीबों की तकलीफों के बारे में खामोश क्यों हैं।’’ राहुल ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वह अपने आपसी मतभेद भुलाकर मिलकर काम करें और कांग्रेस को सत्ता में वापस लाएं। उन्होंने कांग्रेस नेताओं से गुटबाजी से दूर रहने की अपील करते हुए मकर संक्रांति के मौके पर मराठी में दी जाने वाली शुभकामना दोहराई कि ‘तिल गुल घया, गोड़ गोड़ बोला’ यानी मीठा मीठा खाओ, मीठा मीठा बोलो। राहुल ने कहा कि एक सरकार की विश्वसनीयता को समाप्त होने में अमूमन दो, तीन, चार साल लगते हैं, लेकिन भाजपा सरकार की विश्वसनीयता बहुत जल्दी काफूर हो गई। उन्होंने कहा कि ‘स्टार्ट अप्स और भारत जोड़ो’ की बातें तो बहुत होती हैं, यह बातें अच्छी हैं, लेकिन भारत में गरीब लोग और घरेलू कामगार भी हैं, सरकार उनको भूल गई है। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि किसी किसान की हालत के बारे में पूछें, वह अपनी दुर्दशा बताते हुए रो देंगे। आप गरीब लोगों को, खोमचे वालों को पीछे नहीं छोड़ सकते। इस मौके पर राहुल ने मशहूर गायक मरहूम मोहम्मद रफी के पुत्र शाहिद रफी को कांग्रेस में शामिल किया। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार को प्रतिवर्ष 100 करोड़ रुपये की मामूली रकम देने की बजाय मुंबई के विकास के लिए 5000 करोड़ रुपए देने चाहिए। उन्होंने कहा कि हमने इस सरकार को उखाड़ने की चुनौती स्वीकार कर ली है। चव्हाण ने कहा कि कांग्रेस ने राहुल और सोनिया गांधी के करिश्माई नेतृत्व में महाराष्ट्र के हालिया स्थानीय निकाय चुनावों में उल्लेखीय सफलता हासिल की है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव गुरूदास कामत ने कहा कि गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवारों ने शानदार जीत हासिल की। कामत ने कहा कि संप्रग सरकार ने बहुत अच्छा काम किया, लेकिन उसका प्रचार करने में पीछे रह गए। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी महासचिव मुकुल वासनिक ने आरोप लगाया कि देश में आज एक ऐसी सरकार है, जो लोगों को धोखा देती है। लोगों में सत्तारूढ़ पार्टी के प्रति गुस्सा है और कांग्रेस में उम्मीद है। राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्णन विखे पाटिल ने कहा कि यह रैली अगले वर्ष होने वाले बीएमसी चुनाव में सत्ता परिवर्तन का संकेत है। पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष संजय निरूपम ने कहा कि इंदिरा गांधी 1978 में मलाड आई थीं और राजीव गांधी ने 1985 में इस उपनगर का दौरा किया था। उन्होंने एमआरसीसी के मुखपत्र ‘कांग्रेस दर्शन’ में नेहरू, इंदिरा और सोनिया गांधी के बारे में विवादित लेख का परोक्ष उल्लेख करते हुए कहा कि मैं एक इंसान हूं। अगर मैंने कोई भूल की हो तो मुझे माफ कर दें। उन्होंने कहा कि हम जब तक भाजपा शिवसेना सरकार को मुंबई और महाराष्ट्र से उखाड़ नहीं देंगे, तब तक चैन से नहीं बैठेंगे।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: गरीबों की समस्याओं के बारे में कुछ क्यों नहीं बोलते मोदीः राहुल गांधी Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल