ताज़ा ख़बर

सपा राज्य संसदीय बोर्ड की बैठक में लिए गए कई अहम फैसले

लखनऊ। सपा के राज्य संसदीय बोर्ड की बैठक प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव की अध्यक्षता में हुई जिसमें सदस्यता अभियान, उपचुनाव की तैयारी, समाजवादी सरकार की उपलब्धियां गांवों तक पहुंचाने और छात्र जागरूकता पखवारा मनाने पर विचार किया गया। बैठक में 12 विधान सभा क्षेत्रों में 7 क्षेत्रों के प्रत्याशियों के नाम पर मुहर लगाने के साथ 5 अन्य विधान सभा क्षेत्रों के प्रत्याशियों के चयन का अधिकार राष्ट्रीय अध्यक्ष जी को सौंप दिया गया। सपा का सदस्यता अभियान जुलाई 2014 से प्रारम्भ है जो 31 अगस्त,2014 तक चालू रहेगा। प्रदेश में एक लाख पचास हजार सक्रिय सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा गया है। सदस्यता अभियान के लिए जगह-जगह शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। इसके साथ ही प्रदेश अध्यक्ष जी द्वारा सदस्य बनाने की एक नई योजना आन लाइन सिस्टम 10 दिन पूर्व से प्रारम्भ किया गया है जिसके उत्साहजनक परिणाम मिले हैं। उपचुनावों की तैयारी के संबंध में बताया गया कि मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र के प्रत्याशी तेज प्रताप सिंह के अलावा विधान सभा के 12 में 7 क्षेत्रों के प्रत्याशी घोषित हो चुके हैं। बैठक में 5 अन्य क्षेत्रों के प्रत्याशियों के चयन के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष को अधिकृत कर दिया गया है। राज्य संसदीय बोर्ड की बैठक में कहा गया कि समाजवादी सरकार ने घोषणा पत्र के अधिकांश वायदे पूरे कर दिए हैं और अब मेट्रो, शहरों को 4 लेन सड़कों से जोड़ने, आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे, आईटी क्षेत्र, मेडिकल कालेजों की स्थापना, कैंसर इंस्टीट्यूट के साथ ही कृषि एवं गांव किसान के उत्थान हेतु 75 प्रतिशत बजट की व्यवस्था की गई है। सरकार के 20 माह के कार्यो एवं उपलब्धियों को गांव-गांव तक पहुॅचाने की आवश्यकता पर बैठक में बल दिया गया। बैठक में छात्रों में समाज के प्रति जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से समाजवादी छात्रसभा के नेतृत्व में शिक्षक दिवस 5 सितम्बर,2014 से 15 दिन तक छात्र जागरूकता पखवारा मनाने का भी निर्णय लिया गया है।
सपा सरकार के सकारात्मक कार्यों से घबराए विपक्षीः राजेन्द्र चौधरी
सपा के प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी सरकार द्वारा प्रदेश में विकास की गति तेज करने से घबड़ाए और बौखलाए कुछ दल इनकी बदनामी करने में जुट गए है। उन्हें अपनी जमीन हर पल खिसकती नजर आती है। हताशा में वे अनर्गल दुष्प्रचार करके यह सिद्ध कर रहे हैं कि उनके पास जनहित की कोई योजना नहीं है, वे बस अपने राजनीतिक स्वार्थ साधन में ही व्यस्त हैं। राजनैतिक शिष्टाचार एवं मर्यादा से उनका दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं रह गया है। एक स्वच्छ छवि के युवा मुख्यमंत्री के खिलाफ भ्रामक एवं तथ्यहीन प्रचार एक साजिश है। यह उनकी छवि धूमिल करने का कुत्सित प्रयास है। इस तरह तो उनकी फोटो विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ भी है। सार्वजनिक जीवन में तमाम तरह के लोग मिलने आते हैं लेकिन इसका मतलब यह तो नहीं कि किसी अपराधी को दंगा करने या अपराध करने की छूट मिल जाएगी। जिस आरोपी की फोटो टीवी पर दिखाई गई उसकी गिरफ्तारी भी हो चुकी है फिर बात का बतंगड़ क्यों बनाया जा रहा है। सच तो यह है कि मुख्यमंत्री जी का रवैया अपराधियों के प्रति बहुत सख्त है। वे कई बार यह स्पष्ट कर चुके हैं कि दंगाइयों और अपराधियों की जगह जेल है। अमन चैन के विरोधी को सख्त सजा मिलनी चाहिए। समाजवादी सरकार कानून का राज चलाने के लिए प्रतिबद्ध है। इसलिए विपक्ष की गलत बयानी बेबुनियाद और लोकतंत्र की स्वस्थ परंपराओं का अपमान है। उत्तर प्रदेश में विपक्ष की साजिशों के पीछे इरादा जनता को गुमराह करना और प्रदेश की बदनामी करना है। समाजवादी सरकार ने सामाजिक सद्भाव बढ़ाने की पहल की है। समाज विरोधी गतिविधियों में लिप्त लोगों के खिलाफ कड़ाई बरती गई है। प्रदेश में इससे शांति सौहार्द का वातावरण बना है। जनता को राहत मिली है। विकास की गति तेज हुई है। कृषि अर्थव्यवस्था और बुनियादी सुविधाओं के विस्तार से उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने की दिशा में बल मिला है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: सपा राज्य संसदीय बोर्ड की बैठक में लिए गए कई अहम फैसले Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल