ताज़ा ख़बर

कठोर शब्द बोलना कांग्रेस की संस्कृति नहीं: राहुल

सहारनपुर। कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि यूपीए ने पिछले दस साल में विकास की लड़ाई लड़ी है। विपक्ष हमें भले ही गाली दे, मगर हमें गुस्से की राजनीति नहीं करनी है। नफरत को प्यार से हराना है। भाजपा पर कहा कि इस बार एनडीए के गुजरात मॉडल का गुब्बारा भी पिछले दोनों लोकसभा चुनावों की तरह फुस्स हो जाएगा। राहुल गांधी शनिवार को गांधी पार्क मैदान में कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। करीब सवा घंटा देरी से आए राहुल गांधी ने भाषण की शुरुआत यहां के विश्वप्रसिद्ध किंतु दम तोड़ते वुडकार्विग उद्योग से की। कहा कि चुनाव में तो हर कोई वुडकार्विग के विकास की बात करता है, लेकिन यह उद्योग संकट में है। एनडीए पर हमला बोलते हुए राहुल ने कहा कि उसने 6 साल तक राज किया, लेकिन देश व गरीबों के विकास के लिए कुछ नहीं हुआ। 2004 में चुनाव हुए तो एनडीए ने नारा दिया था 'इंडिया शाइनिंग'। जनता ने उसका गुब्बारा फोड़ दिया। 2009 में वे फिर धूम-2 की तरह आए तब भी जनता ने उनके गुब्बारे की हवा निकाल दी। अब ये गुजरात मॉडल का नारा लेकर आए हैं। एनडीए के गुजरात मॉडल का गुब्बारा भी पिछले दोनों लोकसभा चुनाव की तरह फूट जाएगा। राहुल ने कहा कि हमने पिछले दस साल में गरीबों की लड़ाई लड़ी, मनरेगा के तहत लोगों को रोजगार की गारंटी दी। भोजन का अधिकार दिया। विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि हम पर भ्रष्टाचार की उंगली उठाने वाली भाजपा को कर्नाटक, छत्तीसगढ़ व मध्यप्रदेश में अपनी सरकारों का भ्रष्टाचार नजर नहीं आता। कहा कि भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए ही हमने सूचना का अधिकार कानून का अधिकार दिया है। मनरेगा से 15 करोड़ लोगों को रोजगार मिला। अब हम गरीबी रेखा से नीचे जीने वालों को रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य का अधिकार देंगे। कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद के लिए वोट मांगते हुए कहा कि विपक्ष के लोग गुस्सा करते हैं और दंगा कराते हैं। कांग्रेस का यह तरीका नहीं है। उन्होंने कार्यकर्ताओं को सीख देते हुए कहा कि हमारे प्रत्याशी ने 6 महीने पहले विपक्ष के नेता पर कुछ टिप्पणी की थी, लेकिन हमें गुस्से की राजनीति नहीं करनी, बल्कि गुस्से को प्यार से हराना है। हम लड़ेंगे जरूर, लेकिन हिन्दुस्तान की तरक्की और एकता के लिए। इस दौरान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री, विधानसभा मंडल दल के नेता प्रदीप माथुर, कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद की पत्‍‌नी साईमा मसूद, नोमान मसूद, कांग्रेस जिलाध्यक्ष चौधरी मेहरबान आलम, महानगर अध्यक्ष शशि वालिया आदि मौजूद रहे।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: कठोर शब्द बोलना कांग्रेस की संस्कृति नहीं: राहुल Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल