ताज़ा ख़बर

पीएम पद के लिए मुझसे ज्यादा काबिल थे प्रणब मुखर्जी: मनमोहन सिंह

राहुल गांधी जल्द संभालेंगे कांग्रेस अध्यक्ष की कमानः सोनिया 
नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने यह कहकर सबको चौंका दिया है कि सोनिया गांधी ने 2004 में उन्हें प्रधानमंत्री तो बना दिया लेकिन प्रणब मुखर्जी उस पद के लिए ज्यादा काबिल थे. मनमोहन सिंह ने ये बातें पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा लिखी गई किताब ‘द कोलिशन ईयर्स 1996 – 2012’ के विमोचन के मौके पर कही, जिसमें सोनिया गांधी और राहुल गांधी भी मौजूद थे. मंच पर मौजूद प्रणब मुखर्जी की तरफ मुखातिब होते हुए मनमोहन ने यह भी स्वीकार किया कि उनके पास इस मामले में कोई विकल्प नहीं था और ये बात प्रणब मुखर्जी जानते हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं राजनीति में घटनावश आया था जबकि प्रणब बाबू अपनी मर्ज़ी से…2004 में जब सोनिया जी ने मुझे पीएम बनाया तो मैं जानता था कि प्रणब जी मुझसे ज़्यादा काबिल थे लेकिन मेरे पास इस मामले में कोई विकल्प नहीं था. प्रणब मुखर्जी अगर ऐसा सोचते हैं कि उन्हें पीएम बनना चाहिए था तो इसमे गलत कुछ भी नहीं है.’ मनमोहन सिंह ने इस मौक़े पर प्रणब मुखर्जी की खूब तारीफ भी की. उनके साथ अपने संबंध को याद करते हुए मनमोहन सिंह ने कहा कि प्रणब मुखर्जी ने उन्हें हर मौके पर सहयोग दिया. ये बात किसी से छुपी नहीं है कि 2004 में जब यूपीए की सरकार बन रही थी तब प्रणब मुखर्जी कांग्रेस के वरिष्ठ और अनुभवी नेता होने के नाते पीएम बनने के सबसे बड़े हकदार थे. कहा जाता है कि सोनिया गांधी के पति और पूर्व प्रधान मंत्री राजीव गांधी के समय की कुछ घटनाओं के चलते सोनिया ने प्रणब मुखर्जी की जगह मनमोहन सिंह को पीएम बना दिया. जिसके बाद प्रणब मुखर्जी और सोनिया गांधी के रिश्तों में उतार चढ़ाव जगजाहिर है. ‘द कोलिशन ईयर्स 1996 – 2012’ शीर्षक से लिखी गई इस क़िताब में प्रणब मुखर्जी ने 1996 की संयुक्त मोर्चा सरकार से लेकर यूपीए-2 कार्यकाल तक के राजनीतिक इतिहास के बारे में लिखा है. किताब में 1996 से 2012 तक की राजनीति, घटनाओं के ज़रिए समझाने की कोशिश की गई है. विमोचन के मौके पर सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी , यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव, डीएमके नेता कनिमोई समेत यूपीए गठबंधन के कई सहयोगी भी मौजूद थे. मौके की नजाकत को भांपते हुए अखिलेश यादव ने किताब की प्रशंसा के बहाने भविष्य की राजनीति का भी संकेत दे दिया. अखिलेश यादव ने कहा कि प्रणब दा की किताब आगे होने वाले गठबंधन के लिए काफी उपयोगी साबित होने वाली है.
राहुल गांधी जल्द संभालेंगे कांग्रेस अध्यक्ष की कमानः सोनिया 
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को जल्द ही पार्टी का अध्यक्ष नियुक्त किया जा सकता है। राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने के सवाल के जवाब पर सोनिया गांधी ने कहा कि ऐसा जल्द ही होगा। सोनिया गांधी का पहली बार इस सवाल के बारे में बयान आया है जबकि यह सवाल उनसे काफी सालों से पूछा जाता रहा है, लेकिन उन्होंने कभी साफतौर पर जवाब नहीं दिया। उन्होंने यह बात देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की किताब 'द कोएलिशन इयर्स 1996-2012' के लॉन्च के मौके पर कही है। एक समाचार चैनल से बातचीत के दौरान सोनिया ने राहुल गांधी के पार्टी का अध्यक्ष बनाए जाने पर कहा कि ऐसा जल्द ही होने वाला है। हालांकि कांग्रेस उपाध्यक्ष ने इस बारे में बातचीत करने से इंकार किया। बताते चलें कि लंबे समय से राहुल को पार्टी का अध्यक्ष बनाये जाने की समय-समय पर पार्टी के नेताओं द्वारा मांग उठाई जाती रही है। अटकलों के बीच आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इसके संकेत दिए हैं।
राजीव रंजन तिवारी (संपर्कः 8922002003)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: पीएम पद के लिए मुझसे ज्यादा काबिल थे प्रणब मुखर्जी: मनमोहन सिंह Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल