ताज़ा ख़बर

सेक्स सीडी मामलाः रमन सरकार सीबीआई से कराएगी जांच

रायपुर (आलोक प्रकाश पुतुल, बीबीसी हिंदी के लिए)। छत्तीसगढ़ सरकार ने लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत की कथित सेक्स सीडी मामले की जांच सीबीआई से कराए जाने का ऐलान किया है. शनिवार को मंत्रिमंडल की बैठक के बाद राज्य के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन और उच्च शिक्षा मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय ने ये घोषणा की. पांडेय ने कहा कि राज्य सरकार ने पूरे मामले की छह बिंदुओं पर जांच के लिए सीबीआई को पत्र लिखा है, "इस मामले में अंतरराज्यीय साजिश और अपराध को देखते हुए सरकार ने ये निर्णय लिया." छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने कहा है कि सरकार का ऐलान अविश्वसनीय है और पूरे मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के जज की देखरेख में होनी चाहिए. ये मामला तब प्रकाश में आया जब छत्तीसगढ़ की पुलिस ने इस संबंध में ग़ाज़ियाबाद से वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को शुक्रवार को गिरफ़्तार किया था. पांडेय ने कहा कि इस मामले में राज्य के जिन मंत्री राजेश मूणत पर आरोप लगे थे, उन्होंने पहले ही पूरी जांच की मांग की थी, इसके अलावा विपक्षी दल कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भी ऐसी मांग कर रहे थे. उधर, कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा है कि 'सरकार को पनामा पेपर्स में मुख्यमंत्री के बेटे और सांसद अभिषेक सिंह के मामले की भी सीबीआई जांच करानी चाहिए. उन्होंने नान घोटाला, अंतागढ़ टेप कांड, लक्ष्मी सहकारी बैंक घोटाला और झीरम घाटी कांड की जांच सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में करने की मांग की.' बघेल ने कहा, "बस्तर के झीरम घाटी में कांग्रेस के शीर्ष नेताओं समेत 29 लोग मारे गए थे. सरकार ने डेढ़ साल पहले विधानसभा में इसकी सीबीआई जांच की घोषणा की थी. लेकिन आज तक इसकी जांच नहीं हुई. सरकार सीडी कांड से लोगों का ध्यान हटाना चाहती है, इसलिए सीबीआई जांच की घोषणा की गई है." इससे पहले शनिवार को आम आदमी पार्टी ने रैली निकाल कर मंत्री राजेश मूणत के ख़िलाफ़ रायपुर में प्रदर्शन किया. पुलिस ने पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया. कांग्रेस पार्टी ने भी मूणत के विधानसभा क्षेत्र में गंगा जल लेकर यात्रा निकाली और जगह-जगह गंगा जल छिड़क कर कथित रूप से उस इलाक़े को 'पवित्र' किया. मंत्री राजेश मूणत ने शनिवार को कहा, "मेरे उपर लगाए गए सारे आरोप ग़लत हैं और अब जांच के बाद पूरी बात स्पष्ट हो जाएगी." उन्होंने कहा कि इस मामले में जिन-जिन लोगों ने झूठे आरोप लगाए हैं, उन सबके ख़िलाफ़ वे कार्रवाई करेंगे. उन्होंने कहा कि 'राजनीति में भ्रष्टाचार का आरोप लगा कर, चरित्र की हत्या करके या हत्या करके किसी व्यक्ति को खत्म किया जाता है.' एक स्थानीय चैनल आईबीसी 24 ने अपनी जांच के आधार पर 13 मिनट का एक वीडियो क्लिप पेश कर दावा किया कि इसी क्लिप में मंत्री राजेश मूणत का चेहरा चस्पा कर फर्ज़ी तरीक़े से कथित सीडी बनाई गई थी. इस ख़बर के बाद राजधानी में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जमकर आतिशबाजी की और मिठाइयां बांटी. भाजपा कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष के घर पर पथराव किया. कार्यकर्ताओं ने भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव के घरों की नेम प्लेट पर कालिख पोत दी. विनोद वर्मा ने दावा किया था कि 'छत्तीसगढ़ के लोक निर्माण विभाग मंत्री राजेश मूणत की उनके पास सीडी है और इसीलिए उन्हें निशाना बनाया जा रहा है.' जबकि, रायपुर में एक संवाददाता सम्मेलन में राजेश मूणत ने सीडी के फर्ज़ी होने की बात कही थी. मूणत ने इस मामले में शुक्रवार को ही विनोद वर्मा और भूपेश बघेल के ख़िलाफ़ आईटी एक्ट की धारा के तहत पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. साभार बीबीसी
राजीव रंजन तिवारी (संपर्कः 8922002003)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: सेक्स सीडी मामलाः रमन सरकार सीबीआई से कराएगी जांच Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल