ताज़ा ख़बर

गुजरात में राहुल से डरी बीजेपी ने लगाया हिंदुत्व का ‘योग’

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की तीन दिवसीय गुजरात यात्रा के बाद, भारतीय जनता पार्टी को गुजरात में अपनी नैया डांवाडोल होती नजर आ रही है। विकास के नारे की हवा निकल चुकी है, अर्थव्यवस्था पर काले बादल मंडरा रहे हैं और जीएसटी ने गुजरात के बड़े-बड़े कारोबारियों और व्यापारियों को सड़कों पर उतरकर विरोध करने को मजबूर कर दिया है। ऐसे में बीजेपी ने एक बार फिर हिंदू कार्ड खेल कर गुजरात में ' हिंदुत्व लहर' स्थापित करने की योजना बनाई है। सूत्रों की मानें तो बीजेपी ने गुजरात में हिंदू वोटों को रिझाने और वोटरों का ध्रुवीकरण करने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को मैदान में उतारने का फैसला किया है। यूं भी गुजरात, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का गृह राज्य है और इन दोनों की साख दांव पर है। इसीलिए बीजेपी गुजरात में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती। बीजेपी ने उत्तर प्रदेश से आदित्यनाथ के अलावा स्वतंत्र देव सिंह को भी गुजरात भेजने की योजना बनाई है। स्वतंत्र देव सिंह, कुर्मी समुदाय से आते हैं और बीजेपी के हिंदुत्व एजेंडा को बढ़ाने का काम करते हैं। दूसरी तरफ योगी हैं, जिन्होंने उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद भी अपनी कट्टर हिंदूवादी छवि को बरकरार रखा है। हालांकि बीजेपी योगी को ऐन चुनाव के मौके पर गुजरात के चुनावी समर में उतारने वाली थी, लेकिन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की सफल गुजरात यात्रा और पाटीदारों के बदले रुख के बाद योगी को जल्द से जल्द गुजरात में ‘माहौल’ संभालने के निर्देश दिए गए हैं। संभावना है कि योगी इसी महीने गुजरात का दौरा करें। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इसी सप्ताहांत कानपुर में बीजेपी कार्यसमिति की एक बैठक होगी, जिसमें योगी भी शामिल होंगे, और उसके बाद वह गुजरात दौरे के लिए निकल जाएंगे। माना जा रहा है कि योगी वहां कई जनसभाएं करने के साथ ही पैदल यात्रा भी करेंगे। जहां तक उत्तर प्रदेश के परिवहन मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वतंत्र देव सिंह का मामला है, वह गुरुवार को ही गुजरात के लिए रवाना हो रहे हैं। उनका इस्तेमाल बीजेपी गुजरात के कुर्मी वोटरों को रिझाने के लिए करना चाहती है। दरअसल हार्कदि पटेल के आरक्षण आंदोलन से गुजरात की कुर्मी बिरादरी एकजुट हो गई है, इसलिए बीजेपी स्वतंत्र देव की 'जाति' का लाभ उठाना चाहती है। इसके अलावा गुजरात के अहमदाबाद और सूरत सहित कई शहरों में बड़ी संख्या में उत्तर प्रदेश के निवासी रहते हैं। इसलिए बीजेपी उत्तर प्रदेश के नेताओं को मैदान में उतारकर इन वोटरों को भी अपने पाले में लाने की कोशिशें कर रही है। सूत्रों का कहना है कि योगी और स्वतंत्र देव सिंह के अलावा भी बीजेपी ने उत्तर प्रदेश के आधा दर्जन दूसरे नेताओँ की सूची भी तैयार की है, जिन्हें गुजरात में चुनावी मैदान में प्रचार के दौरान इस्तेमाल किया जाना है। लेकिन इस सूची पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की आखिरी मोहर लगनी बाकी है। यानी बीजेपी गुजरात में अपनी हार टालने के लिए पूरा जोर लगा रही है। उसे डर है कि उसकी लाख कोशिशों के बाद भी जिस तरह अहमद पटेल को राज्यसभा सीट पर कब्जा करने से नहीं रोक सकी, कहीं इसी तरह गुजरात भी हाथ से न निकल जाए। साभार नवजीवन
राजीव रंजन तिवारी (संपर्कः 8922002003) 
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: गुजरात में राहुल से डरी बीजेपी ने लगाया हिंदुत्व का ‘योग’ Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल