ताज़ा ख़बर

उन लोगों के लिए जीत आरक्षित है जो इसकी कीमत चुकाना चाहते हैं

स्टार भारत आज के ऐसे युवा की सच्ची भावनाओं को प्रस्तुत करता है जिनमें सब हासिल करने का सामर्थ्य है.‘‘साम दाम दंड भेद‘‘ 
भानु उदय तथा सोनल वेंगुरलकर की मुख्य भूमिका वाले इस कम्पलीट फैमिली एंटरटेनर का 28 अगस्त 2017 रात 9 बजे ‘‘स्टार भारत‘‘ पर प्रीमियर हुआ कभी कभी ऐसा भी होता है कि नियमानुसार खेलने से वाँछित परिणाम प्राप्त नहीं होता, लेकिन नियमों को तोड़ने पर जीत हाँसिल हो जाती है। जीत का कोई कायदा नहीं होता, बस एक ही कायदा होता है। किसी भी कीमत पर जीतना! हाल ही में लॉंच हुए नए टीवी चैनल ‘‘स्टार भारत‘‘ ने अपने नए शो ‘‘साम दाम दंड भेद‘‘ के साथ इस वास्तविकता से परदा हटाने का प्रयास किया है। शाकुंतलम टेलीफिल्म्ज द्वारा निर्मित ‘‘साम दाम दंड भेद‘‘ एक युवक विजय नामधारी की ऐसी असाधारण कहानी है, जिसके पास कुछ नहीं है, लेकिन वह सब कुछ जीतने के लिए सामने आता है। एक युवा उत्साही व्यक्ति से वह राजनीतिक खेल के नेता के रूप में राख से फीनिक्स पक्षी की तरह उभरकर सामने आता है। भारत के एक काल्पनिक शहर की पृष्ठभूमि वाले ‘‘साम दाम दंड भेद‘‘ में काली वास्तविकता वाले एक दयालु आत्मा विजय नामधारी की कहानी प्रदर्शित की गई है। विजय आज के निर्भीक, लाज-रहित युवा जगत का बेहतरीन उदाहरण है, जिन्हें यह तक पता नहीं कि जिंदगी से वे क्या चाहते हैं? अपने परिवार की खातिर वह वास्तविक राजनीति की दुनिया में प्रवेश करने का फैसला करता है। अपने मृत भाई का आवरण ओढ़कर वह थोड़े ही समय में देश का नेता बनकर अपने तरीकों में सुधार कर लेता है। शो के नाम को सार्थक करता विजय चार तरीकों ‘साम -हाथ पैर जोड़कर, दाम -पहली बार असफल होने पर काम करवाने के लिए रिश्वत का सहारा लेकर, दंड- डराकर तथा भेद-सजा देकर अपना काम पूरा करवा लेता है। यह शो सत्ता हाँसिल करने के लिए कुछ लोगों द्वारा अपनाए जा रहे खतरनाक खेल के अलावा पारिवारिक बंधन और राजनेता के अविवादित नियम के महत्व की बात करता है। राजनीति इस शो में प्रेम,परिवार और मित्रता सभी को कसौटी पर तौलेगी। शो के बारे में निर्माता द्वय श्यामाशीष भट्टाचार्य और नीलिमा बाजपेयी ने बताया कि ‘‘साम दाम दंड भेद‘‘ की अवधारणा प्रत्येक भारतीय घर से मेल खाती है, जिसमें कोई भी किसी भी सीमा तक जा सकता है तथा अपने परिवार की खुशी के लिए अपने जीवन के सुखों का त्याग कर सकता है। इस शो में यह भी कहा गया है कि हम सभी के अंदर शक्ति है, हमें केवल इसके बारे में जागरूक रहने की जरुरत है। इस शो में एक ऐसे शोषित व्यक्ति की कहानी कही जाएगी जो एकदम नीचे से आया है और जिसके पास कुछ भी नहीं है। वह इतना पा लेता है, जिसके बारे में उसने सपने में भी नहीं सोचा था। उसकी यह यात्रा उसके मिजाज, उसके संबंधों की परीक्षा लेगी, उसे त्याग करने को कहेगी, उसे अलग से सोचने के लिए मजबूर करेगी। लेकिन, यदि कोई ठान ही ले तो जीत उसी की होगी। उन्होंने कहा कि इसे वास्तविकता प्रदान करने के लिए हमारी टीम बहुत पसीना बहा रही है और हमें पूरा विश्वास है कि यह शो दर्शकों की सही नब्ज पकड़ने में कामयाब होगा। ‘‘साम दाम दंड भेद‘‘ में सोनल वेंगुरलेकर ने मंदिरा की भूमिका निभाई है। उनके सामने भानु उदय विजय की भूमिका में जान फूँक रहे हैं। इस शो में भानु उदय के भाई के रूप में अक्षय आनंद एक प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं। इसके साथ ही इसमें गिरीश सचदेव विलेन के रूप में पंकज चैधरी की भूमिका में नजर आएँगे। हर सोमवार से शुक्रवार रात 9 बजे केवल ‘‘स्टार भारत‘‘ पर ‘‘साम दाम दंड भेद‘‘में विजय नामधारी की असाधारण यात्रा देखना न भूलें।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: उन लोगों के लिए जीत आरक्षित है जो इसकी कीमत चुकाना चाहते हैं Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल