ताज़ा ख़बर

दुष्कर्म के प्रयास में फंसा एक और बाबा, लॉ-छात्रा ने लगाए गंभीर आरोप

जयपुर। आसाराम बापू, गुरुमीत रामरहीम के बाद अब दुष्कर्म के प्रयास के मुकदमे में एक और बाबा फंसता नजर आ रहा है। बिलासपुर, छत्तीसगढ़ की रहने वाली एक लॉ इंटर्न छात्रा ने बाबा के खिलाफ दुष्कर्म के प्रयास का मुकदमा दर्ज करवाया है। मामले में कई सनसनीखेज आरोप लगाए है। वहीं, मामला दर्ज होने के बाद बाबा की तबीयत बिगड़ गई। इससे उन्हें अस्पताल की आईसीयू में भर्ती करवाया गया। यह मामला है राजस्थान के अलवर जिले का। जहां के नामचीन संत कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य फलाहारी महाराज के खिलाफ 21 वर्षीय छात्रा ने बिलासपुर, छत्तीसगढ़ के थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। इसके बाद पीड़िता के 164 के बयान और कपड़ों की फर्द जब्ती की कार्रवाई कर जीरो नंबर की एफआईआर दर्ज कर अलवर जिला पुलिस, राजस्थान में भेज दिया। जहां बुधवार को अरावली विहार थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी है। बिलासपुर निवासी छात्रा ने जयपुर में रहकर ला की पढ़ाई की। पीड़िता ने एलएलबी की पढ़ाई के दौरान बाबा कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी की सिफारिश पर ही सुप्रीम कोर्ट के एक वकील के अधीन अपना इंटर्नशिप पूरा किया था। इंटर्नशिप खत्म होने के बाद पीड़िता को तीन हजार रूपए का मानदेय दिया गया। इन रुपयों को छात्रा ने परिवार को सौंपा तो परिजनों ने उसे यह पहली कमाई अलवर में फलाहारी बाबा को समर्पित करने की सलाह दी। बिलासपुर के महिला थाने में दिए बयानों में पीड़िता ने बताया है कि 7 अगस्त यानी रक्षाबंधन के दिन वह बाबा के दर्शन करने अलवर स्थित दिव्य धाम पहुंची थी। इंटर्नशिप के तौर पर कमाई गई पहली कमाई जगदगुरू स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी फलाहारी महाराज को अर्पित करने के बाद बाबा ने पीड़िता से रात दिव्य धाम में ही रूकने का आदेश दिया। साथ ही, बेहतर भविष्य के लिए गुप्त दिव्य मंत्र देंगे। पीड़िता का आरोप है कि बाबा फलाहारी ने शाम साढ़े सात बजे दिव्य धाम के अपने कक्ष में उसे बुलाया। बाबा ने छात्रा को अपने राजनीतिक, नौकरशाही, प्रशासनिक क्षेत्र से जुड़े लोगों से रसूखात बताते हुए अपने मोबाइल फोन पर उनकी तस्वीरें भी दिखाईं। साथ ही, पीड़िता को जज बनवा देने का आश्वासन भी दिया। इसके बाद आपत्तिजनक शब्द कहना शुरू कर दिए। इससे छात्रा सहम गई। इसके बाद बाबा ने उसे प्रसाद खाने को कहा। इसके बाद वह अचेत हो गई और फिर उसने वैसा ही किया जैसा बाबा ने कहा। तभी एक बच्चे ने कमरे का दरवाजा खटखटाया। इससे पीड़िता घबरा गई और मौका पाकर कमरे से बाहर चली गई। इन हरकतों से घबराकर छात्रा दिव्य धाम परिसर से बाहर निकलकर वेद विद्यालय स्थित आश्रम में जा पहुंची। जहां वह एक कमरे में ठहरी और अगले दिन सुबह मौका पाकर वहां से निकल गई और जयपुर आ गई। यहां करीब बीस दिन अवसाद में रही। जानकारी के अनुसार इसी बीच बाबा राम रहीम को यौन शोषण का मामला सामने आया तब छात्रा ने हिम्मत जुटाकर परिजनों से आपबीती बताई और परिजन उसे लेकर छत्तीसगढ़ के डीजीपी एएन उपाध्याय से मिले। तब स्थानीय पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया। बिलासपुर महिला थाना में पीड़िता का बयान दर्ज कर फलाहारी बाबा के खिलाफ जीरो नंबर एफआईआर दर्ज कर ली। छात्रा के माता-पिता का बयान के अलावा मजिस्ट्रेट के समक्ष पीड़िता का बयान दर्ज करवाया। इसके बाद केस डायरी लेकर बिलासपुर पुलिस की एक टीम अलवर, राजस्थान पहुंची। जहां अरावली विहार थाने में मुकदमा दर्ज करवाया गया। यह भी जानकारी है कि पीड़िता का परिवार पिछले कई सालों से फलाहारी बाबा से जुड़ा हुआ है। लगभग हर साल वे बाबा के दिव्य धाम अलवर में आते है। वहीं, फलाहारी महाराज के शिष्यों ने केस की जानकारी होने से इंकार करते हुए बाबा के आंतों में संकम्रण होने से अस्पताल में भर्ती होने की जानकारी दी है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: दुष्कर्म के प्रयास में फंसा एक और बाबा, लॉ-छात्रा ने लगाए गंभीर आरोप Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल