ताज़ा ख़बर

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम के खिलाफ रेप मामले में फैसले से पहले पंजाब और हरियाणा में हाई अलर्ट

गुरुग्राम। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम के खिलाफ चल रहे रेप केस में फैसला आने से पहले पूरे हरियाण में हाईअलर्ट जारी कर दिया गया है। डीजीपी स्तर से सुरक्षा व्यवस्था को चुस्त करने के निर्देश जारी किए जाने के बाद जिला प्रशासन की तरफ से निगरानी की जा रही है। पंजाब और हरियाणा में राम रहीम के अनुयाईयों की बड़ी संख्या है। खासकर हरियाणा के उन जिलों में जो पंजाब से लगे हुए हैं। पंचकुला कोर्ट 25 अगस्त को रेप केस में अपना फैसला सुनाना है। राज्य सरकार के निर्देश के बाद गुरुग्राम में भी हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। पूरे शहर में धारा-144 लागू है। पुलिस के अनुसार फैसला आने के बाद अगर लोग किसी भी तरह का कानून तोड़ते हैं तो उन्हें सीधा गिरफ्तार किया जाएगा। फैसला आने तक पुलिस कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं और होम गार्ड्स को ड्यूटी पर बुलाया गया है। गुरुग्राम के उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने एहतियात के तौर पर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए दंड प्रक्रिया अधिनियम 1973 की धारा 144 के तहत निषेद्याज्ञा लागू करते हुए पेट्रोल पंपो के संचालकों को खुले में ज्यादा मात्रा में पेट्रोल और डीजल की बिक्री करने पर रोक लगा दी है। प्रशासन को आशंका है कि सीबीआई की विशेष अदालत फैसला आने के बाद डेरा सच्चा सौदा सिरसा के अनुयायी आंदोलन कर सकते हैं। ऐसे में अपराधी प्रवृति के व्यक्तियों तथा असामाजिक तत्वों की गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए जिलाधीश द्वारा पेट्रोल पंप संचालकों को आदेश दिए गए हैं कि वे खुले में ज्यादा मात्रा में पेट्रोल व डीजल की बिक्री नही करेंगे। ये आदेश तुरंत प्रभाव से लागू होकर 26 अगस्त तक संपूर्ण गुरुग्राम जिला में प्रभावी रहेंगे। जिलाधीश समीरपाल सरो ने डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के मामले में अदालती निर्णय आने की आशंकाओं के मद्देनजर जिले में कानून-व्यवस्था को सु़दृढ़ एवं नियंत्रित रखने के उद्देश्य से 24 डयूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त किए हैं। साथ ही जिले में धारा-144 लागू कर दी है। सभी डयूटी मेजिस्ट्रेट 25 अगस्त से सामान्य स्थिति बहाल होने तक अपने संबंधित पुलिस अधिकारियों के साथ विशेष निगरानी बनाए रखेंगे। जिलाधीश ने बीएस राणा, सुशील शर्मा, यशवंत सिंह, प्रदीप कुमार, बिरेंद्र सिंह, हरीश शर्मा, मोहन लाल, नेपाल सिंह चैहान, अनिल डबास, नरेश कुमार, राजीव शर्मा, पूजा शर्मा, अश्वनी गौड़, विजय सिंह ढाका, एमएल गर्ग, प्रवीन चैधरी, देवेंद्र बेनीवाल, संजय सब्बरवाल, अरविंद कुमार, आनंद स्वरूप, राजेंद्र हुड्डा, रमन शर्मा, विजय चैधरी और पीकेएमके दास को बतौर डयूटी मैजिस्टे्रट थाना क्षेत्र के मुताबित नियुक्त किया है। जबकि तीनों एसडीएम अपने-अपने उपमंडल में पुलिस एसीपी के साथ कानून व्यवस्था के लिए सर्वेसर्वा प्रभारी रहेंगे। पंचकुला कोर्ट परिसर की सुरक्षा कड़ी करने के लिए गुरुग्राम से फोर्स भेजी गई है। गुरुग्राम से पुलिस उपायुक्त अपराध सुमित कुमार के अलावा सहायक पुलिस आयुक्त धर्मबीर फोर्स के साथ पंचकुला पहुंच चुके हैं। इन दोनों अधिकारियों के साथ-साथ शहर से 50 महिला और 89 पुरुष पुलिसकर्मी भेजे गए हैं। एडीजीपी कानून व्यवस्था अकील अहमद के निर्देश पर गुरुग्राम से फोर्स पंचकुला गई है। गुरुग्राम में डेर सच्चा सौदा के अनुयाईयों की संख्या कम है।
हरियाणा के पंचकुला की सीबीआई की विशेष अदालत दुष्कर्म के मामले में 25 अगस्त को फैसला देगी जिसमें डेरा सच्चा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह आरोपी हैं। मामले की सुनवाई 2007 से चल रही है। गुरमीत राम रहीम के पंजाब व हरियाणा व दूसरे राज्यों में लाखों अनुयायी हैं। गुरमीत राम रहीम पर उनकी पूर्व महिला अनुयायी ने डेरा शिविर में उससे रेप किए जाने का आरोप लगाया है। यह डेरा शिविर हरियाणा के सिरसा के बाहरी इलाके में है और चंडीगढ़ से 260 किलोमीटर दूर है।
सिरसा में कर्फ्यू, मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद, 32 ट्रेनें रद्द 
डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ दायर यौन उत्पीड़न के मामले में शुक्रवार को फैसला आने से पहले आमतौर पर शांत रहने वाले पंचकूला में तनाव है, हजारों डेरा समर्थक यहां पहुंच गये हैं। सुनवाई के चलते हालात बिगड़ने के मद्देनजर सिरसा में कर्फ्यू लगा दिया गया है। पूरे हरियाणा में तनाव का माहौल है। पुलिस और प्रशासन को डर है कि इस मामले में अगर फैसला डेरा प्रमुख के खिलाफ आया तो कानून-व्यवस्था के लिये चुनौतीपूर्ण हालात हो सकते हैं। इसे देखते हुये पंजाब और हरियाणा के संवेदनशील इलाकों में 15000 अर्धसैनिक बलों समेत हजारों की संख्या में जवानों को तैनात किया गया है। पंजाब और हरियाणा में डेरा सच्चा सौदा के काफी अनुयायी हैं और इसे देखते हुये दोनों राज्यों में हाई अलर्ट जारी किया गया है। अधिकारियों ने कहा कि दोनों राज्यों और उनकी संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में मोबाइल इंटरनेट सेवा पर अगले 72 घंटे तक रोक रहेगी और सोशल मीडिया पर पोस्ट की जाने वाली सामग्री पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। अधिकारियों ने पंचकूला के लिये बस और रेल सेवा भी रोक दी है। फैसले से पहले रेल विभाग ने पंजाब और हरियाणा जाने वालीं 32 ट्रेनों को चार दिन के लिए रद्द कर दिया है। प्रशासनिक तंत्र के लिये हालांकि थोड़ी राहत की बात यह है कि राम रहीम सिंह ने कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से सीबीआई की विशेष अदालत में पेश होंगे। उन्होंने अपने अनुयायियों से भी शांति बनाये रखने की अपील की है। गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, केंद्र सरकार ने दोनों राज्यों को किसी भी स्थिति से निपटने में मदद करने के लिये हर संभव मदद का भरोसा दिया है क्योंकि बड़ी संख्या में डेरा प्रमुख के अनुयायी पंचकूला पहुंचना शुरू हो गये हैं। उन्होंने कहा कि हम पंजाब और हरियाणा सरकारों के नियमित संपर्क में हैं और उन्हें पर्याप्त बल मुहैया कराया गया है। डेरा प्रमुख ने ट्वीट कर कहा, मैंने हमेशा कानून का सम्मान किया है। मेरी पीठ में हालांकि दर्द है, बावजूद इसके मैं कानून का पालन करते हुये अदालत जाऊंगा। मेरी ईश्वर में पूरी आस्था है। हर किसी को शांति बनाये रखनी चाहिये। डेरा प्रमुख के खिलाफ सीबीआई ने पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के निर्देश पर 2002 में यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज किया था। राम रहीम सिंह द्वारा कथित तौर पर दो साध्वियों के यौन उत्पीड़न को लेकर अनाम चिटिठयों के सामने आने के बाद अदालत ने यह निर्देश दिया था। डेरा प्रमुख ने हालांकि इन आरोपों को खारिज किया है। चंडीगढ़ के पास पंचकुला में महिलाओं और बुजुगोर्ं समेत हजारों डेरा समर्थक पहुंच रहे हैं और वहां पार्कों और खुले स्थानों पर जमे हुये हैं। डेरा अनुयायियों के आने का सिलसिला अभी जारी है। किसी तरह की गड़बड़ी न हो यह सुनिश्चित करने के लिये व्यापक पुलिस बंदोबस्त किये गये हैं। हरियाणा के सिरसा में डेरा मुख्यालय पर भी बड़ी संख्या में अनुयायी पहुंच रहे हैं। केंद्रीय गह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कानून-व्यवस्था को बरकार रखने में पुलिस की मदद के लिये केंद्र से 150 कंपनी अर्धसैनिक बल भेजे हैं। अर्धसैनिक बल की एक कंपनी में 100 से ज्यादा जवान होते हैं। अधिकारी ने कहा कि पंचकूला, सिरसा, हिसार और अन्य जगहों पर सुरक्षा बलों ने फ्लैग मार्च किया जबकि ऐहतियाती कदम के तौर पर कई अस्पतालों को भी अलर्ट पर रखा गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस सोशल मीडिया, खासकर वाटसऐप समूहों, फेसबुक और टिवटर पर कड़ी नजर रख रही है और लोगों से अफवाह नहीं फैलाने को कहा है। ऐहतियाती कदम के तौर पर कई मार्गों पर बस सेवाओं को भी स्थगित किया गया है। पंजाब के राज्यपाल और केंद्र शासित क्षेत्र के प्रशासक वी पी सिंह बदनोर की अध्यक्षता में हुई समन्वय समिति की बैठक में मोबाइल इंटरनेट सेवा को स्थगित रखने का फैसला किया गया। हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) राम निवास ने कहा, मोबाइल इंटरनेट और डेटा सेवा को पंजाब, हरियाणा और केंद्र शासित चंडीगढ़ में अगले 72 घंटों के लिये तत्काल प्रभाव से रोक दिया गया है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में अधिसूचना जारी की जा रही है। निवास ने कहा कि रेल मंत्रालय से तत्काल चंडीगढ़ की तरफ आने वाली गाडि़यों को दो दिनों के लिये रोकने का अनुरोध किया गया है। उन्होंने कहा कि इसी तरह चंडीगढ़ और पंचकूला आने वाली हरियाणा रोडवेज की बसों को पहले ही दो दिन के लिये रोका जा चुका है। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ के सेक्टर 9 में पंजाब और हरियाणा के लिये संयुक्त नियंत्रण कक्ष बनाया जायेगा, जहां दोनों राज्यों से एक—एक अफसर को बेहतर समन्वय के लिये तैनात किया जायेगा। सभी जिलों में धारा 144 लागू रहेगी। वहीं हरियाणा सरकार ने पंचकूला के सेक्टर—3 में ताउ देवी लाल स्टेडियम परिसर और सिरसा में दलबीर सिंह इनडोर स्टेडियम को विशेष जेल बनाया है। पंजाब सरकार ने घोषणा की कि 25 अगस्त को चंडीगढ़ में उसके कायार्लय बंद रहेंगे। उल्लेखनीय है कि डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ यौन शोषण मामले में अदालत का फैसला भी 25 अगस्त को ही आने की संभावना है। पंजाब सरकार के सभी कायार्लय, बोर्ड, निगम, एजेंसियां और सार्वजनिक उपक्रम संगठन सोमवार को बंद रहेंगे। इस संबंध में अधिसूचना जारी की गयी है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम के खिलाफ रेप मामले में फैसले से पहले पंजाब और हरियाणा में हाई अलर्ट Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल