ताज़ा ख़बर

पढ़िए पूरा वृतांत, हरियाणा भाजपा अध्यक्ष के बेटे की दुस्साहस और आईएएस की बेटी वर्णिका की हिम्मत!

भाजपा नेता के विवादित बयान पर बवाल, कहां गायब हो गई सीसीटीवी कैमरे की फुटेज, 'मैं अगर गाड़ी रोकती तो शायद बच नहीं पाती', वर्णिका ने बीबीसी के साथ घटना को साझा किया, हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला का बेटा है आरोपी, पीड़िता और बराला की फेक वायरल तस्वीर बीजेपी नेता के हैंडल से  हुई ट्वीट, सुभाष बराला के भतीजे पर भी लग चुके हैं इसी तरह के आरोप 
चंडीगढ़। आईएएस की बेटी के साथ हुई छेड़छाड़ की घटना का मामला गर्माता जा रहा है। सोमवार को इस संदर्भ में आए भाजपा नेता के एक बयान ने विवाद बढ़ा दिया। हरियाणा बीजेपी उपाध्यक्ष रामवीर भट्टी ने लड़की पर ही सवाल उठाते हुए एक न्यूज़ चैनल से कहा कि उसे रात 12 बजे के बाद बाहर नहीं रहना चाहिए था। उनके अनुसार, माहौल सही नहीं है। हमें खुद ही अपनी सुरक्षा का ख़्याल रखना होगा। लड़की को देर रात कार नहीं चलानी चाहिए थी। सोशल मीडिया पर ये मामला छाया हुआ है। एक वर्ग मानता है कि समाज महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है तो वहीं एक वर्ग ऐसा भी है जो लड़की को ही कुसूरवार ठहरा रहा है। हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बरला के बेटे विकास बराला समेत दो लोगों पर छेड़छाड़ और पीछा करने का आरोप है। एक ओर जहां भट्टी के अनुसार, सारा दोष लड़की का है वहीं चंडीगढ़ से बीजेपी सांसद किरन खेर का कहना है कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। ऐसा किसी के साथ नहीं होना चाहिए। साथ ही औरत की इज्ज़त और मर्यादा को राजनीति से दूर रखना चाहिए। भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर ने भी इस घटना की निंदा की है। वहीं बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इस मामले में जनहित याचिका दायर करने की बात कही है। आपको बता दें कि पीड़िता वर्णिका एक आईएएस अधिकारी वीरेन्द्र की बेटी है, जिसने अपनी कार का पीछा किए जाने और छेड़खानी करने की शिकायत 100 नंबर पर कॉल करके दी थी। जिसके कुछ देर बाद ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि उन्हें बाद में दोनों युवकों को ज़मानत पर छोड़ दिया गया।
कहां गायब हो गया सीसीटीवी कैमरे की फुटेज?
पत्रकार रविंदर सिंह रॉबिन ने बीबीसी हिंदी के लिए लिखा है कि चंडीगढ़ में महिला डीजे के साथ बीते दिनों हुई छेड़छाड़ के मामले स्थानीय पुलिस ने घटना से जुड़े सीसीटीवी फुटेज़ पर अहम बयान दिया है। एसएसपी ईश सिंघल ने सीसीटीवी कैमरों के ख़राब होने की बात कही है। इसके साथ ही पुलिस ने ज़रूरत पड़ने पर इस मामले में अतिरिक्त धाराएं लगाने की बात भी कही है। एसएसपी ईश सिंघल ने इस मामले की सीसीटीवी फुटेज़ पर कहा, "पुलिस घटनास्थल पर मौजूद एक-एक कैमरे का विश्लेषण कर रही है और तकनीकी विश्लेषण पूरा होने पर सूचना दी जाएगी।" ये भी बताया गया कि सीसीटीवी काम नहीं कर रहे थे लेकिन इस मामले में जांच की जा रही है। इससे जुड़ा ब्योरा नहीं दिया गया है। एसएसपी ईश सिंघल ने कहा है कि पुलिस तकनीकी आधार पर विश्लेषण कर रही है लेकिन ये प्रक्रिया कब तक पूरी होगी इस बारे में फिलहाल कोई जानकारी नहीं दी जा सकती है। एसएसपी ने कहा कि पुलिस ने सूचना मिलने के तुरंत बाद एफआईआर रजिस्टर की और अभियुक्त को पकड़ा। पुलिस ने संवाददाता सम्मेलन में ये भी कहा कि इस मामले में मीडिया ट्रायल हो रहा है।
'मैं अगर गाड़ी रोकती तो शायद बच नहीं पाती' 
चंडीगढ़ से बीबीसी संवाददाता खुशबू संधू के अनुसार, हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बरला के बेटे विकास बराला समेत दो लोगों पर छेड़छाड़ का आरोप लगाने वाली लड़की वर्णिका ने कहा है कि अगर पुलिस समय पर नहीं आती तो अभियुक्त उसका अपहरण कर देते। हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला समेत दो लोगों को एक लड़की से छेड़छाड़ करने के आरोप में शनिवार को चंडीगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किया था। हालांकि, बाद में दोनों को जमानत पर छोड़ दिया गया। पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर आरोपियों की कार जब्त कर ली है. मामले को लेकर लड़की वर्णिका ने शनिवार को कोर्ट में बयान दर्ज कराया। हरियाणा बीजेपी के प्रवक्ता डॉक्टर संजय शर्मा ने इस संबंध में बीबीसी से कहा कि यह साइड का मामला है और पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। पुलिस स्वतंत्रता से अपनी जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि युवकों को हिरासत में लिए जाने और उन्हें जमानत मिलने तक यह किसी को नहीं पता था कि इस मामले में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष का बेटा भी शामिल है। इसलिए यह कहना कि बीजेपी के दबाव में आकर युवकों को जमानत दी गई है यह गलत आरोप है।
वर्णिका ने बीबीसी के साथ घटना को साझा किया 
'मेरा किडनैप लगभग हो ही गया था। मै चंडीगढ़ सेक्टर 8 से पंचकुला की तरफ आ रही थी। तभी सेक्टर 7 से एक गाड़ी मेरा पीछा करने लगी। उस गाड़ी में बैठे लड़के मुझे डराने और रोकने की कोशिश करने लगे। सेक्टर 26 के अंदर के उन्होंने मेरी गाड़ी ब्लॉक कर दी और फिर वो उतरकर मेरी तरफ आने लगे। उसी दौरान मैने पुलिस को फोन किया। पुलिस ने मेरी काफी मदद की। पुलिस ने कहा कि मै चलती रहूं और रास्ते में मुझे मदद मिल जाएगी। इन लड़कों ने मुझे सारे रास्ते तंग किया और हाउसिंग बोर्ड चौक के पास वे उतरकर मेरी गाड़ी का दरवाजा खोलने की कोशिश करने लगे। तभी पुलिस वहां पहुंच गई और उन्हें पकड़ने में कामयाब रही। उस समय मेरे सामने दो ही रास्ते थे या तो मैं चुपचाप गाड़ी चलाती रहती या फिर पुलिस को सूचित करती। मैंने पुलिस को बताना बेहतर समझा। उस समय मेरे हाथ कांप रहे थे, सांस फूल रही थी। मैने बहुत मुश्किल से उनकी गाड़ी का नंबर नोट किया। मेरी कमर में पैरालिसिस जैसा दर्द होने लगा था। वह वक्त मेरे लिए जीवन या मृत्यु का था। मैंने सोच लिया था कि अगर इस वक्त कुछ ना कर सकी तो मै खत्म हो जाउंगी। जीवन मौत का सवाल था इसलिए चलती रही। मुझे पता था कि अगर मैंने गाड़ी रोकी तो शायद बच न पाऊं। मै गाड़ी चलाते हुए ज़ोर-ज़ोर से हॉर्न बजा रही थी। मैं लोगों का ध्यान अपनी तरफ लाना चाहती थी। हालांकि मुझे पता था कि इस तरह कोई अपनी गाड़ी रोककर मेरी मदद नहीं करेगा। इस घटना से पहले मुझे कभी रात में बाहर अकेले निकलने से डर नहीं लगता था। लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि मैं घर में बैठ जाउंगी। जब लड़कों को रात में बाहर घूमने से डर नहीं लगता तो हम लड़कियों को डर क्यों लगे। हम इस समाज या लड़कों की सोच तो नहीं बदल सकते। इसलिए लड़कियों को ही अलर्ट होना होगा। उन्हें यह समझना होगा कि हर वक्त उनके साथ कोई हो यह जरूरी नहीं। इसलिए सेल्फ डिफेंस करना हर लड़की को आना चाहिए। उधर, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर भी रविवार को मीडिया के सामने आए और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का बचाव किया। उन्होंने कहा कि बेटे के अपराध के लिए पिता (सुभाष बराला) को सज़ा नहीं दे सकते। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जाँच कर रही है।  
हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला का बेटा है आरोपी 
आईएएस अफसर की बेटी वर्णिका से छेड़छाड़ की कोशिश के आरोप में चंडीगढ़ पुलिस ने हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे समेत दो युवकों को 5 अगस्त की रात में ही गिरफ़्तार कर लिया। चंडीगढ़ के डिप्टी एसपी सतीश कुमार ने बताया कि एक युवती ने अपनी कार का पीछा किए जाने और छेड़खानी करने की शिकायत 100 नंबर पर कॉल करके दी थी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने गाड़ी का नंबर फ्लैश कर दिया और चंद ही मिनट बाद विकास बराला और आशीष कुमार को पकड़ लिया गया। सतीश कुमार के मुताबिक मेडिकल जांच में दोनों युवकों के नशे में होने की पुष्टि हुई है। हालांकि बाद में दोनों युवकों को ज़मानत पर छोड़ दिया गया। ये घटना शुक्रवार देर रात की है। पुलिस ने पीड़ित युवती को शनिवार को अदालत में पेश किया जहां सीआरपीसी की धारा 164 के तहत लड़की के बयान दर्ज किए गए। पुलिस के मुताबिक लड़की के बयान के बाद पहले से दर्ज मुक़दमे में आईपीसी की धारा 341 भी जोड़ दी गई है। पुलिस ने अभियुक्त विकास बराला के भाजपा नेता का बेटा होने की पुष्टि की है। विकास बराला चंडीगढ़ में रहकर क़ानून की पढ़ाई कर रहे हैं। पुलिस के मुताबिक अभियुक्त और पीड़ित के बीच पहले से कोई जान पहचान नहीं है। पुलिस ने शुक्रवार रात विकास और आशीष को आईपीसी की धारा 354 डी के तहत गिरफ़्तार किया था।
पीड़िता और बराला की फेक चित्र बीजेपी नेता ने किया ट्वीट 
हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके दोस्त आशीष द्वारा की गई कथित छेड़छाड़ के विरोध में आईएएस अफसर की बेटी वर्णिका न्याय के लिए खुलकर सामने आईं तो दूसरी तरफ सोशल मीडिया में उनकी एक पुरानी तस्वीर वायरल होने लगी, जिसमें वर्णिका 2 लड़कों के साथ दिख रही हैं। दावा किया जा रहा है कि इस तस्वीर में विकास भी है। हैरानी तब हुई जब यह तस्वीर बीजेपी की बड़ी महिला नेता शाइना एनसी के ट्विटर हैंडल से भी पोस्ट की गई। हालांकि, बाद में बीजेपी नेता ने दावा किया कि उनका अकाउंट हैक हो गया था। शनिवार तक चेहरा छिपाकर मीडिया से बात कर रही पीड़िता ने चेहरे से नकाब हटाते हुए राजनीतिक दबाव के सामने झुकने से इनकार किया। उन्होंने कहा कि वह आखिरी दम तक लड़ेंगी, क्योंकि यह लड़ाई सिर्फ उनके लिए नहीं बल्कि सभी बेटियों की सुरक्षा के लिए है। इस बीच उनकी एक पुरानी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी गई। एक टीवी चैनल ने इंटरव्यू के दौरान वर्णिका को यह तस्वीर दिखाई और इसके बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि यह काफी पुरानी तस्वीर है, जिसमें वह अपने 2 दोस्तों के साथ हैं। उन्होंने इस बात से साफ इनकार किया कि इसमें दिख रहा एक युवक विकास बराला है।
बराला के भतीजे पर भी लग चुके ऐसे ही आरोप 
इसी साल मई में फतेहाबाद में बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के भतीजे सहित कुछ अन्य लड़कों पर एक लड़की को उठाने के आरोप भी लगे थे। इस मामले में ग्रामीणों ने रोड जाम कर खासा हंगामा किया था। लड़की के परिजनों ने पुलिस पर भी आरोपियों से मिलीभगत का आरोप लगाया था। गौरतलब हो कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला फतेहाबाद के टोहाना से विधायक भी है। साभार
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: पढ़िए पूरा वृतांत, हरियाणा भाजपा अध्यक्ष के बेटे की दुस्साहस और आईएएस की बेटी वर्णिका की हिम्मत! Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल