ताज़ा ख़बर

स्वतंत्रता दिवस पर बोले मोदी, धार्मिक हिंसा स्वीकार नहीं, नोटबंदी से लाखों लोग और करोड़ों रु. जांच के घेरे में

ये भी पढ़ेंः समाज में नफरत फैलाने वालों से मिलकर लड़ना होगाः सोनिया, कश्मीर में राष्ट्रगान का अपमान, अनेक लोग सम्मान में खड़े नहीं हुए, भाजपा सांसद ने उल्टा तिरंगा फहराकर खिंचाई फोटो, एस.एस.बी. बोंगाईगांव सेक्टर में भी मनाया गया स्वतंत्रता दिवस   
नई दिल्ली। आजादी की 70वीं वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में भारत को धार्मिक हिंसा को अस्वीकार करने को कहा। लाल किले के प्राचीर से मोदी ने मोदी ने न्यू इंडिया का संकल्प लेकर देश में परिवर्तन लाने की बात कही। कहा कि न्यू इंडिया जो सुरक्षित हो, समृद्ध हो, शक्तिशाली हो, न्यू इंडिया जहां सबको समान अवसर प्राप्त हो। पीएम ने कहा कि हम जिस निराशा में पले बढ़े हैं, अब हमें आत्मविश्वास से आगे बढ़ना है। चलता है ये तो ठीक है, अरे चलने दो, मैं समझता हूं कि चलता है का जमाना चला गया। अब तो आवाज यही उठे कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है। मोदी ने कहा कि देश की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। समंदर हो या सीमा हो, साईबर हो या स्पेस हो हर प्रकार की सुरक्षा के लिए भारत समर्थ है। कश्मीर के मुद्दे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि न गाली से न गोली से, कश्मीर की समस्या सुलझेगी गले लगाने से। आतंकवाद के खिलाफ कोई नर्मी नहीं बरती जाएगी। आतंकवादियों को हमने बार-बार कहा है कि मुख्यधारा में आइए। मुख्यधारा ही है जो हर किसी के जीवन में नयी ऊर्जा भर सकती है। भ्रष्टाचार और नोटबंदी के मुद्दे पर मोदी ने कहा कि आज माहौल बना है कि ईमानदारी का उत्सव मनाया जा रहा है। 800 करोड़ की बेनामी संपत्ति जब्त की है और जब ये होता है तो सामान्य लोगों के मन में ये विश्वास पैदा होता है कि यह देश ईमानदार लोगों के लिए है। उन्होंने कहा कि कालेधन के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी। भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी और हमने धीरे धीरे टेक्नोलॉजी को बेहतर करते हुए, आधार को लिंक करते हुए पारदर्शिता को बढ़ाने की कोशिश की है। पीएम ने तीन तलाक के मुद्दे पर कहा कि तीन तलाक से पीडि़त महिलाओं के साथ देश खड़ा हुआ है। उन्होंने कई सरकारी योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा कि 1400 हजार गांव आजादी के बाद अब तक अंधेरे में थे वहां रोशनी पहुंची है। हम सभी को उस बात को लेकर आगे चलना चाहिए कि आने वाले 2018 की 1 जनवरी सामान्य नहीं होगी। 21वीं शताब्दी में जन्मे नौजवानों के लिए यह वर्ष काफी महत्वपूर्ण वर्ष है। अब युवा 18 साल के हो गए हैं, जो कि देश को आगे बढ़ाएंगे। पीएम ने कहा कि जिन लोगों ने इस देश को और गरीबों को लूटा है वह चैन की नींद नहीं सो सकेंगे। सरकार के नोटबंदी के कदम से दो लाख करोड़ रुपये से अधिक की अघोषित संपत्ति बैंकिंग तंत्र में आई है। 56 लाख नये लोगों ने आयकर रिटर्न दाखिल की है जबकि तीन लाख से अधिक मुखौटा कंपनियों का पता चला है जिनमें से 1.75 लाख कंपनियों का पंजीकरण रद्द किया जा चुका है। सरकार ने कालेधन को बाहर निकालने के लिये पिछले साल आठ नवंबर को 500 और 1000 रुपये के नोट चलन से हटाने की घोषणा की और लोगों को ऐसे नोट अपने बैंक खातों में जमा कराने के लिये 50 दिन का समय दिया। एक स्वतंत्र अध्ययन के मुताबिक नोटबंदी से तीन लाख करोड़ रुपये से अधिक की नकदी बैंकिंग तंत्र में पहुंची है। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लगातार चौथी बार राष्ट्र को संबोधित करते हुये प्रधानमंत्री ने कहा कि नोटबंदी के बाद 1.75 लाख करोड़ रुपये से अधिक जमाराशि जांच के घेरे में है। दो लाख करोड़ रुपये से अधिक कालाधन बैंकों में पहुंचा है और अब इस तरह का धन जमा कराने वालों को सवालों का जवाब देना होगा। प्रधानमंत्री ने अपने करीब एक घंटे के भाषण में नोटबंदी और कालाधन को काफी समय दिया। उन्होंने कहा, कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी। आधुनिक प्रौद्योगिकी और पहचान के बायोमेट्रिक तरीके आधार को बैंक खातों और आयकर स्थायी खाता संख्या पैन के साथ जोड़ने से हमने इस दिशा में सफल प्रयास किया है।
समाज में नफरत फैलाने वालों से मिलकर लड़ना होगाः सोनिया
स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने देश को बधाई दी और सभी देशवासियों की प्रगति और समृद्धि की कामना की। उन्होंने कहा कि सभी भारतीय एकजुट हों और अलगाववाद, आतंकवाद और नफरत फैलाने वाली ताकतों से लड़ें। उन्होंने यह भी कहा कि समाज को विभाजित करने वाली ताकतों को हराकर भारतीयता के मूलभूत सिद्धांतों की रक्षा के लिए एकजुट हों। उन्होंने अपने संदेश में कहा, आज जरूरत है कि सभी भारतीय एक साथ मिलकर आतंकवाद और नफरत फैलाने वाली ताकतों से लड़ें। सोनिया ने अपने संदेश में राष्ट्र की प्रगति की कामना करते हुए कहा कि हमें स्वतंत्र भारतीय होने पर गर्व है। उन्होंने कहा कि मैं देश की आजादी के 71वें वर्ष में सभी को शुभकामनाएं देती हूं। सोनिया ने कहा कि यह 71वां वर्ष आप सभी के लिए समृद्धि और खुशियां लाये और आप स्वस्थ्य रहें। सोनिया गांधी ने कांग्रेस पार्टी के मुख्यालय पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस अवसर पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी समेत पार्टी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। वहीं जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्लाह ने लालकिले से पीएम मोदी द्वारा दिए गए भाषण पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कश्मीर के लोगों ने पीएम मोदी के भाषण को अच्छे से सुना है, लेकिन अब वो बातों से थक गए हैं, कोई कार्रवाई नहीं होती ।
कश्मीर में राष्ट्रगान का अपमान, अनेक लोग सम्मान में खड़े नहीं हुए 
जम्मू कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर के बख्शी स्टेडियम में आयोजित स्वतंत्रता दिवस के मुख्य
कार्यक्रम में ज्यादातर लोग राष्ट्रगान के सम्मान में खड़े नहीं हुए। मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती द्वारा ध्वजारोहण किए जाने के बाद हालांकि उच्च न्यायालय के न्यायाधीश, विधायक, एमएलसी, नौकरशाह और राजनीतिक दलों के पदाधिकारी सहित अन्य गणमान्य लोग राष्ट्रगान के सम्मान में खड़े हुये। इस मौके पर मुख्यमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया। अठारह हजार की क्षमता वाले इस स्टेडियम में लगभग तीन हजार दर्शक ही मौजूद थे। यहां पहली बार परेड में भाग ले रही उत्तर प्रदेश पुलिस की टुकड़ी के लिए स्टेडियम में दर्शकों की कम संख्या चौंकाने वाली थी। उत्तर प्रदेश पुलिस दल का नेतृत्व कर रहे पुलिस उपाधीक्षक शिवदान सिंह ने कहा कि राज्य में स्वतंत्रता दिवस के मुख्य कार्यक्रम में कम लोगों का आना निराशाजनक है। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे राज्य में, स्वतंत्रता दिवस उत्सव की तरह मनाया जाता है।’’ उप मुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच शहर के परेड ग्राउंड में स्थित मिनी स्टेडियम में आयोजित आधिकारिक कार्यक्रम में तिरंगा फहराया। सिंह ने राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद गार्ड ऑफ ऑनर लिया और राज्य पुलिस, सीआरपीएफ, भारतीय रिजर्व पुलिस, एनसीसी और वन संरक्षण बल की टुकड़ियों द्वारा किए गए मार्च पास्ट की सलामी ली। जम्मू और आस पास के क्षेत्रों के विभिन्न सरकारी और निजी स्कूलों के 2,500 से अधिक छात्रों ने मार्च पास्ट में भाग लिया और बाद में रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए।
भाजपा सांसद ने उल्टा तिरंगा फहराकर खिंचाई फोटो
भाजपा सांसद द्वारा उल्टे तिरंगे के साथ तस्वीर खिंचवाने का मामला सामने आया है। सांसद की ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। इन तस्वीरों पर बीजेपी की इन महिला सांसद के लिए लिखा जा रहा है कि ये लोग देश भर को देशभक्ति का सर्टिफ़िकेट बांट रहे हैं और खुद को पता नहीं कि झंडा कैसे सीधा है और कैसे उलटा। दरअसल ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले का है। सीतापुर के महोली स्थित पिसावां ब्लॉक में धौरहरा से बीजेपी सांसद रेखा वर्मा उल्टा राष्ट्रध्वज फहराते और उसके साथ फोटो खिंचवाते नज़र आ रही हैं। आपको बता दें कि बीजेपी बीते कुछ दिनों से देश के अलग-अलग हिस्सों में तिरंगा यात्रा निकाल रही है। इसमें बीजेपी के सांसद-विधायक से लेकर केंद्रीय मंत्री तक हिस्सा ले रहे हैं। इसी के तहत रेखा वर्मा ने भी तिरंगा यात्रा निकाली थी। अब स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उनकी ये तस्वीरें वायरल हो रही हैं। इन तस्वीरों को शेयर करते हुए लोग लिख रहे हैं कि ये लोग देश भर को देशभक्ति का सर्टिफ़िकेट बांट रहे हैं और खुद को पता नहीं कि झंडा कैसे सीधा है और कैसे उलटा। वहीं कुछ अन्य यूजर लिख रहे हैं कि तिरंगे का अपमान करने में इन्हें थोड़ी भी शर्म नहीं आ रही। आपको बता दें कि प्रिवेन्शन ऑफ इंसल्ट टु नैशनल ऑनर ऐक्ट, 1971 के मुताबिक कोई भी व्यक्ति मौखिक, लिखित या किसी भी प्रकार से राष्ट्र चिन्हों और राष्ट्रध्वज का अपमान करता है, तो उसे तीन साल तक की कैद और जुर्माना या दोनों हो सकते हैं।
एस.एस.बी. बोंगाईगांव सेक्टर में भी मनाया गया स्वतंत्रता दिवस 
सशस्त्र सीमा बल (एस.एस.बी.), सेक्टर हेडक्वार्टर, बोंगाईगांव एवं इसकी सभी वाहिनियों एवं इकाइयों में राष्ट्र का 71 वां स्वतंत्रता दिवस पूरे हर्ष एवं उल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर राष्ट्रीय एकता का संदेश जन जन तक पहुंचाने का कार्य किया गया। इस अवसर पर एस.एस.बी. सेक्टर बोंगाईगांव के उप महानिरीक्षक अमित कुमार ने बल की भारत– भूटान सीमा पर स्थित 15वीं वाहिनी, काजलगाँव की डोंगसियापारा सीमा निरीक्षक चौकी में जवानों, स्कूली बच्चों एवं क्षेत्रीय जनता के साथ राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया। इस अवसर पर अमित कुमार ने कहा कि आज का दिन हम सभी देशवासियों के लिए आजादी के लिए संघर्ष करने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को याद करने का है। साथ ही हमें आज अपने देश की एकता एवं अखंडता की बनाए रखने की शपथ लेनी है। कहा कि जब देश सुरक्षित होगा तभी विकास एवं खुशहाली संभव है। इस अवसर पर महानिदेशक, सशस्त्र सीमा बल का संदेश भी जवानों को पढ़कर सुनाया गया। सेक्टर हेडक्वार्टर में तिरंगा स्टाफ आफिसर सुशांतमोय दास ने फहराया। इसके बाद श्री दास ने महानिदेशक, एस.एस.बी. के स्वतंत्रता दिवस संदेश को पढ़कर सुनाया। उन्होंने एस.एस.बी. के पुलिस पदक विजेताओं के नाम पढ़कर सुनाए। ज्ञातव्य हो कि इस वर्ष राष्ट्र अपना 71 वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। दशकों के संघर्ष के बाद हम ने 15 अगस्त 1947 के दिन अपनी स्वतंत्रता हासिल की थी। अतएव इस अवसर पर राष्ट्रीय एकता के संदेश को आम जनता के बीच प्रचारित-एवं प्रसारित करने का विशेष प्रयास किया जा रहा है। एस.एस.बी. के स्वतंत्रता दिवस कार्याक्रमों में आम जनता को सहभागी बनाया गया।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: स्वतंत्रता दिवस पर बोले मोदी, धार्मिक हिंसा स्वीकार नहीं, नोटबंदी से लाखों लोग और करोड़ों रु. जांच के घेरे में Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल