ताज़ा ख़बर

राष्ट्रपति के लिए एनडीए उम्मीदवार होंगे बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद, सियासी सरगर्मियां बढ़ीं

नई दिल्ली। एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद दिल्ली पहुंच गए हैं। यहां पर कोविंद ने पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह से मुलाकात की। थावरचंद गहलोत, जेपी नड्डा के अलावा के बीजेपी के शीर्ष नेताओं ने एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया। इससे पहले बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजभवन पहुंचकर उनसे मुलाकात की। हालांकि, उनकी पार्टी के उन्हें समर्थन दिए जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इन सब चीजों पर आगे भी बातचीत होगी। यह पूछे जाने पर कि क्या रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर जदयू का समर्थन है नीतीश ने कहा, इन प्रश्नों का उत्तर पूछना अभी मुनासिब नहीं है। हमारी लालू जी से भी बातचीत हुई है। सोनिया जी का भी फोन आया था। मैंने अपनी भावना से अवगत भी कराया है। लेकिन इन सब चीजों पर आगे भी बातचीत होगी। मेरे लिए व्यक्तिगत तौर पर यह प्रसन्नता की बात है कि बिहार के राज्यपाल देश के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार घोषित हुए हैं। इससे पहले राष्ट्रपति पद के चुनाव में एनडीए उम्मीदवार के नाम पर भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में फैसला हुआ। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली में सोमवार दोपहर राम नाथ कोविंद के नाम की घोषणा की। कोविंद भाजपा का दलित चेहरा हैं। भाजपा ने उनके नाम की घोषणा करके विपक्ष को भी साधने की कोशिश की है। वहीं, राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्षी दल 22 जून को बैठक करेंगे। समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल ने आज कहा कि विपक्षी दलों की राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार उतारने के बारे में तय करने के लिए 22 जून को बैठक होगी। उन्होंने कहा, पार्टियां यह तय करेंगी कि 17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में आम सहमति के उम्मीदवार को उतारा जाए कि नहीं। कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद ने कहा कि गैर एनडीए दल इस मुद्दे पर कोई भी कदम उठाने से पहले आपस में विचार विमर्श करेंगे। भाकपा के राष्ट्रीय सचिव डी राजा ने कहा कि राष्ट्रपति उम्मीदवार के बारे में आम सहमति तैयार करने के मकसद से बनायी गयी समिति के सदस्य केन्द्रीय मंत्री राजनाथ सिंह एवं एम वेंकैया नायडू ने कोई नाम प्रस्तावित नहीं किया था। उन्होंने कहा, अब उन्होंने आरएसएस पृष्ठभूमि वाले एक व्यक्ति का नाम घोषित कर दिया है। हम इसके विरूद्ध हैं किन्तु हमें भाकपा के भीतर तथा विपक्षी दलों के साथ इसपर विचार विमर्श करना होगा। इस बारे में जल्द ही एक बैठक होगी। राम नाथ कोविंद के नाम की घोषणा होने से पहले वेंकैया नायडू ने वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को उन्हें राजग उम्मीदवार बनाए जाने की जानकरी दी। पीएम मोदी ने इस बारे में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को जानकारी दी है। भाजपा संसदीय बोर्ड की करीब दो घंटे तक चली बैठक के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कोविंद 23 जून को इस शीर्ष संवैधानिक पद के लिए अपना नामांकन दाखिल कर सकते हैं। कोविंद 16 साल तक सुप्रीम कोर्ट और दिल्ली हाईकोर्ट में वकालत कर चुके हैं। वह भाजपा के राज्यसभा सांसद भी रह चुके हैं। कोविंद अगर राष्ट्रपति बनते हैं, तो वे के आर नारायणन के बाद देश के दूसरे दलित राष्ट्रपति होंगे। वे यूपी में कानपुर जिले के परौंख गांव के रहने वाले हैं। इससे पहले राष्ट्रपति पद के चुनाव में अपने उम्मीदवार के नाम पर फैसला करने के लिए आज दोपहर 12 बजे भाजपा के संसदीय बोर्ड की बैठक हुई। बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह, सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू समेत कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए। प्रधानमंत्री मोदी से बात करने के बाद तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने भी एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार राम नाथ कोविंद को अपना समर्थ दिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने आज एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार के समर्थन को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी से बातचीत की। भाजपा राष्ट्रपति पद के अपने उम्मीदवार का नामांकन भरने के लिए अपने केंद्रीय मंत्रियों और सहयोगी दलों के वरिष्ठ नेताओं को प्रस्तावक और अनुमोदक बनायेगा और इनके नामों की घोषणा भी जल्द की जायेगी। भाजपा सूत्रों ने बताया कि पार्टी ने 19 और 20 जून को आपने सांसदों की बैठक बुलाई है, जिसमें उन्हें 14 जुलाई को राष्ट्रपति पद के लिए होने वाले मतदान की प्रक्रिया के बारे में बताया जायेगा। प्रस्तावकों एवं अनुमोदकों में विधायक भी शामिल होंगे और इस बारे में औपचारिकताएं 20 जून को आगे बढ़ाने की संभावना है। भाजपा के एक नेता ने बताया कि राष्ट्रपति पद के लिए भाजपा के उम्मीदवार का नामांकन 23 जून को भरा जाएगा। पार्टी ने 60—60 प्रस्तावकों वाले चार सेट तैयार किये हैं और इतनी संख्या में अनुमोदन भी बनाये हैं। इसमें केंद्रीय मंत्रियों के अलावा राजग के अन्य नेता और निर्दलीय सांसद भी शामिल होंगे। गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने अगले राष्ट्रपति के संबंध में नामांकन भरने की प्रकिया 14 जून को शुरू कर दी है।
राजीव रंजन तिवारी (संपर्क- 8922002003)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: राष्ट्रपति के लिए एनडीए उम्मीदवार होंगे बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद, सियासी सरगर्मियां बढ़ीं Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल