ताज़ा ख़बर

जानें इन देशों में जीएसटी का नतीजा, कहीं महंगाई बढ़ी तो कहीं मुकदमें हुए

नई दिल्ली (राहुल मिश्र)। केन्द्र सरकार 1 जुलाई 2017 से जीएसटी लागू करने जा रही है। सरकार का दावा है कि जीएसटी लागू होने से देश में कारोबारी माहौल सुधरेगा जिससे विकास दर में मजबूत इजाफा करने में मदद मिलेगी। हालांकि दुनिया के जिन पांच देशों ने जीएसटी को अपने देश में लागू कर लिया है उनके आंकड़े कहते हैं कि लागू करने के बाद अर्थव्यवस्था पर पहले 1-2 साल तक नकारात्मक प्रभाव देखने को मिलता है। ऐसा केन्द्र सरकार भी मान चुकी है और खुद वित्त मंत्री अरुण जेटली कह चुके हैं कि जीएसटी लागू करने के बाद कुछ दिनों तक अर्थव्यवस्था के सामने कड़ी चुनौतियां होंगी लेकिन लंबी अवधि में इससे देश को फायदा पहुंचेगा। आस्ट्रेलिया, कनाडा, जापान, मलेशिया और सिंगापोर ने 1991 से 2000 के बीच में अपने-अपने यहां टैक्स के लिए जीएसटी व्यवस्था को लागू किया था। इन देशों के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक 1994 में जब सिंगापुर ने अपने यहां जीएसटी लागू किया तो उस साल के जीडीपी आंकड़ों में बड़ी गिरावट दर्ज हुई। आईएमएफ के मुताबिक 1993 में जीएसटी लागू होने के पहले जहां सिगापोर की जीडीपी विकास दर 5.5 फीसदी के आसपास थी और जीएसटी लागू करने के वर्ष 1994 में वह लुढ़ककर -3 फीसदी हो गई। सिंगापुर में 1994 में जीएसटी लागू किया गया था। जिसके बाद एक साल में जीडीपी विकास दर 5.6 फीसदी से लुढ़ककर -3 फीसदी पहुंच गई। इस देश में जीएसटी लागू करने के बाद महंगाई की मार पड़ी थी। मलेशिया ने 2015 में जीएसटी लागू किया था। इसे लागू करने से पहले मलेशिया सरकार ने टैक्स विभाग समेत देश के सभी कारोबारियों के बीच डेढ़ साल लंबा प्रचार प्रसार किया और जमीनी स्तर पर पूरी तैयारी के साथ जीएसटी लागू किया था। हालांकि इस तैयारी के बावजूद मलेशिया की सरकार को विपक्ष के विरोध के बीच जीएसटी लागू करना पड़ा था। वहीं लागू करने के बाद भी उसे छोटे और मध्यम कारोबारियों के कई महीनों तक चले विरोध-प्रदर्शन का सामना करना पड़ा था। कनाडा ने 1991 में विपक्ष के विरोध में जीएसटी लागू किया। लागू करने के बाद भी वहीं जीएसटी नियमों में लंबे समय तक बदलाव होता रहा। खास बात यह है कि कनाडा ने भारत से पहले डुअल जीएसटी व्यवस्था लागू की थी। यहां जीएसटी लागू होने के बाद कुछ राज्यों ने केन्द्र के खिलाफ अदालत का दरवाजा भी खटखटाया था। कनाडा की प्रगतिशील कंज़र्वेटिव पार्टी के नेता, प्रधानमंत्री किम कैंपबेल को 1993 के राष्ट्रीय चुनाव में करारी हार देखनी पड़ी थी क्योंकि उनकी सरकार ने जीएसटी को लागू करने के बाद अपनी लोकप्रियता खो दी थी। ऑस्ट्रेलिया में जॉन हॉवर्ड सरकार ने जीएसटी को लागू करने के तुरंत बाद 1998 में चुनाव में बड़ी मुश्किल से वापसी की। जीएसटी लागू करने वाले अधिकतर देशों की तरह ऑस्ट्रेलिया में भी कई महीनों तक महंगाई का सामना करना पड़ा था। साभार आजतक
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: जानें इन देशों में जीएसटी का नतीजा, कहीं महंगाई बढ़ी तो कहीं मुकदमें हुए Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल