ताज़ा ख़बर

समाजवादी पार्टी में हुआ दो-फाड़, शिवपाल बनाएंगे समाजवादी सेक्युिलर मोर्चा, मुलायम होंगे पार्टी सुप्रीमो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की करारी हार के बाद आखिरकार समाजवादी पार्टी टूट ही गई। शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा नाम से नई पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया है। सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि इस नई पार्टी के अध्यक्ष सपा के संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह यादव होंगे। इस मौके पर शिवपाल यादव ने कहा कि नेताजी के सम्माुन के लिए नई पार्टी का गठन कर रहा हूं। अभी दो रोज पहले उन्होंयने इटावा में इसके संकेत भी दिए थे। हालांकि उस दौरान उन्होंाने सपा के राष्ट्री य अध्य क्ष अखिलेश यादव से कहा था कि वह इस पद को छोड़ दें और मुलायम सिंह यादव को राष्ट्री य अध्येक्ष की कुर्सी सौंप दें। उल्ले खनीय है कि यूपी चुनावों के बाद से इटावा के जसवंतनगर से विधायक और सपा के पूर्व प्रदेश अध्यडक्ष शिवपाल यादव लगातार अखिलेश और पार्टी के महासचिव रामगोपाल यादव पर निशाना साध रहे थे। शिवपाल शुक्रवार को पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव से मुलाकात करने इटावा पहुंचे। उसके बाद अपने बहनोई डॉ. अजंट सिंह के घर मीडिया से मुलाकात कर नई पार्टी बनाने का बड़ा बयान दे दिया। दो दिन पहले ही शिवपाल ने इटावा में अपने चचेरे भाई रामगोपाल यादव पर हमला बोला था और उन्हें शकुनि तक कह डाला था। इससे ठीक चार दिन पहले मीडिया के सवालों और शिवपाल के बयानों से भड़क कर रामगोपाल ने कहा था कि शिवपाल यादव बेकार की बातें करते हैं। उन्होंने पार्टी का संविधान नहीं पढ़ा है. पार्टी का सदस्यता अभियान चल रहा है। शिवपाल तो अभी तक सदस्य भी नहीं बने हैं। मुलायम सिंह यादव ने इस मोर्चे के अध्यक्ष पद पर अपनी स्वीकृति दी है या नहीं, इस सवाल के जवाब में शिवपाल का कहना था कि उनकी मंज़ूरी ली गई है। शुक्रवार को जब सेक्युलर मोर्चे की घोषणा हुई उसके बाद अखिलेश यादव से इस बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने इससे अनभिज्ञता जताई। लेकिन अखिलेश यादव ने ये ज़रूर कहा कि पार्टी में कुछ लोग 'आस्तीन का सांप' हैं। हो सकता है कि उनका इशारा शायद चाचा शिवपाल यादव की ओर रहा हो। सेक्यूलर मोर्चे के गठन के बारे में इटावा से जानकारी मिली कि मुलायम सिंह यादव इटावा आने के बाद शुक्रवार की सुबह अपने बहनोई डॉक्टर अजंट सिंह और बहन कमला देवी के घर उनसे मिलने के लिए गए थे। वहीं पर शिवपाल भी उनसे मिलने के लिए जा पहुंचे। दोनों के बीच सेक्युलर मोर्चा बनाने को लेकर क़रीब 30 मिनट तक बातचीत हुई और शायद मुलायम ने सेक्युलर मोर्चे का अध्यक्ष पद ग्रहण करने की हामी भर दी। मुलायम की हामी के बाद शिवपाल सिंह यादव बेहद उत्साहित नज़र आए और उन्होंने इसकी घोषणा कर दी। हालांकि जब इस बारे में मुलायम सिंह यादव से पूछा गया तो वो बिना कोई जवाब दिए निकल गए। इस मोर्चे का स्वरूप क्या होगा, इसमें किन दलों को जोड़ने की योजना है, ख़ुद समाजवादी पार्टी की इसमें क्या भूमिका होगी, जैसे तमाम सवाल अभी भी हवा में हैं।  
जानें मुलायम ने क्या कहा था मोदी के कान में? 
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम में बताया कि योगी आदित्यनाथ के शपथग्रहण समारोह के दौरान उनके पिता मुलायम सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी से क्या कानाफूसी की थी। योगी के शपथग्रहण समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह को भी आमंत्रित किया गया था। योगी आदित्यनाथ के शपथ समारोह में मुलायम सिंह यादव और नरेंद्र मोदी एक-दूसरे से कानाफूसी करते हुए नज़र आए थे। मुलायम सिंह के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कान में कुछ कहते दिखने की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब चर्चा में रही थी। अखिलेश ने टेलीविजन प्रोग्राम 'पंचायत आजतक' में कहा, "मैं बता तो दूंगा, लेकिन आप यकीन नहीं करेंगे...नेताजी ने मोदी के कान में कहा...मोदी जी बचकर रहना, ये मेरा बेटा है।" ये पूछे जाने पर कि क्या उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी मायावती की बहुजन समाज पार्टी के साथ महागठबंधन करेगी? अखिलेश ने कहा, "यूपी में कुछ लोग महागठबंधन होने नहीं देंगे।" चुनावों में कांग्रेस के साथ गठबंधन के साथ सवाल पर अखिलेश ने कहा, "मुझे राहुल गांधी से कोई शिकायत नहीं है...ये दोस्ती अभी लंबी चलेगी।"
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: समाजवादी पार्टी में हुआ दो-फाड़, शिवपाल बनाएंगे समाजवादी सेक्युिलर मोर्चा, मुलायम होंगे पार्टी सुप्रीमो Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल