ताज़ा ख़बर

केन्द्र सरकार के आर्थिक सर्वेक्षण पर सहयोगी शिवसेना खफा, भाजपा पर साधा निशाना

मुम्बई। केन्द्र की मोदी सरकार की सहयोगी शिवसेना केन्द्र सरकार द्वारा पेश किए गए आर्थिक सर्वेक्षण से खुश नहीं है। भाजपा इस बार वृहन्नमुंबई नगर निगम चुनाव में अपनी पुरानी सहयोगी शिवसेना के साथ गठबंधन में चुनाव नहीं लड़ने जा रही है। दोनों पार्टियों के बीच रिश्तों में खटास देखी जा रही है। इसी के तहत शिवसेना ने शुक्रवार को दावा किया है कि भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने राज्य के पार्टी नेताओं द्वारा बृहन्मुंबई नगर निगम के कामकाज के बारे में लगाए गए दुर्भावनापूर्ण आरोपों को मंजूर नहीं किया है। भाजपा पर शिवसेना का यह कटाक्ष संसद में पेश आर्थिक सर्वेक्षण की पृष्ठभूमि में आया है जिसमें दो दशकों से शिवसेना द्वारा नियंत्रित मुंबई नगर निकाय पारदर्शिता के मामले में शीर्ष पर आया है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हाल ही में कहा था कि भाजपा बीएमसी में पारदर्शिता और जवाबदेही के मुद्दे पर कोई समझौता नहीं करेगी। बता दें कि पार्टी के स्थानीय नेताओं ने नकदी-अमीर नगरीय निकाय चलाने में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार और गैर पारदर्शिता का आरोप लगाते हुए लगातार शिवसेना पर हमला बोला था। शिवसेना के मुखपत्र सामना में कहा गया है कि 'भाजपा ने बोला है कि गठबंधन तभी होगा जब बीएमसी में पारदर्शिता है बरती जाएगी। आर्थिक सर्वेक्षण के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि पारदर्शिता का मुद्दा भाजपा नेताओं के लिए ज्यादा सीटों की मांग करने के लिए सिर्फ एक बहाना था।' सामने में आगे कहा गया है कि राजनीतिक माफियाओं के आरोप निराधार है बीएमसी ने सभी नागरिकों के लिए काम किया है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: केन्द्र सरकार के आर्थिक सर्वेक्षण पर सहयोगी शिवसेना खफा, भाजपा पर साधा निशाना Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल