ताज़ा ख़बर

अब दुनिया में जमेगा के गोरखपुर के ‘धरा धाम’ का धाक, सौरभ के मिशन कौमी एकता में ग्लैमर के कॉकटेल से रंग जमाएंगे सिने स्टार राजपाल यादव

यूपी के जनपद के गोरखपुर के गांव भस्मा-डवरपार स्थित करीब तीन एकड़ में फैले ‘धरा धाम’ के मुख्यालय परिसर में 8 जनवरी को होगा  दुनिया के सभी धर्मों के प्रतीकस्थलों का शिलान्यास, ‘धरा धाम’ के सहारे समाज में कौमी एकता यानी सर्वधर्म समभाव के ब्रांड अंबेसडर के रूप में ख्याति पा चुके सौरभ पाण्डेय ने ली अब धरती मां को बचाने की शपथ 
गोरखपुर। दुनिया के नक़्शे पर अब गोरखपुर के ‘धरा धाम’ की धाक जमाने के लिए संस्था के प्रमुख और चर्चित समाजसेवी सौरभ पाण्डेय ने इतनी लम्बी लकीर खींच डाली है कि अब उस रिकार्ड को तोड़ना आसान ही नहीं, नामुमकिन है। बिल्कुल गोपनीय तरीके से खुद में शालीनता को समेटे सौरभ पाण्डेय ने हिन्दुवाद के गढ़ के रूप में मशहूर यूपी के इस पूर्वांचल इलाके में सर्वधर्म समभाव की बयार बहाकर उस वर्ग को हतप्रभ कर दिया है, जिसकी रोटी-दाल यानी दुकान हिन्दुवाद के नाम पर चला करती थी। पिछले चौदह वर्षों से इस काम में लगे सौरभ ने यह साबित कर दिया कि कोई भी काम असंभव नहीं है, बशर्ते कि उसे दृढ़ होकर करने के लिए ठान लिया जाए। खास बात यह है कि सर्वधर्म समभाव की बयार बहाने में सफल रहने वाले सौरभ पाण्डेय ने एक और बड़ी शपथ ले ली है, जिसके बारे में आम और खास क्या, कोई भी नहीं सोचता है। सौरभ पाण्डेय का मानना है कि जिस धरती मां के सहारे आज पूरी दुनिया टिकी हुई है। लोग धड़ाधड़ अपना विकास कर रहे हैं, प्रदूषण को बढ़ा रहे हैं, धरती को उसर किए जा रहे हैं, इसे रोकना है। धरती मां उपजाऊ रहें, धरती मां के आंचल में पलने वाली पूरी दुनिया को रोटी-पानी मिलती रहे, इसके लिए धरती मां को बचाना सबसे जरूरी है। जब मां ही सुरक्षित नहीं रहेगी तो औलादों का क्या होगा?
गौरतलब है कि सर्वधर्म समभाव को समर्पित संस्था ‘धरा धाम’ के प्रमुख सौरभ पाण्डेय ने कौमी एकता की बयार बहा कर इस कदर हलचल मचाया कि ‘धरा धाम’ परिसर में सभी धर्मों का प्रतीकस्थल तक बनवाने की तैयारी कर ली। बताते हैं कि ‘धरा धाम’ परिसर में अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारा, गिरिजाघर, जैन मंदिर, बौद्ध मंदिर, सीनगॉग, अग्नि मंदिर, कन्फ्यूसियश साइन, ताओ साइन, रिलीजियस म्यूजियम, रिलिजियस लाईब्रेरी, स्प्रीचुअल एंड कल्चरल ऑडिटोरियम, ऑरफेन हाऊस, गेस्ट हाऊस, हास्पिटल, स्कूल आदि का निर्माण कराया जाना है। इसका शिलान्यास 08 जनवरी, 2017 को होगा। इस शिलान्यास समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में सिने स्टार राजपाल यादव मौजूद रहेंगे। यानी कौमी एकता के मिशन को सफल बनाने के बाद उसे और ख्याति दिलाने के लिए ग्लैमर का कॉकटेल। निश्चित रूप से जब विख्यात सिने स्टार राजपाल यादव धरा धाम परिसर में प्रवेश करेंगे तो वहां की फिजां बेशक निराली हो जाएगी और सौरभ पाण्डेय द्वारा शुरू किए गए इस गौरवमयी कार्य में और निखार आ जाएगा। ‘धरा धाम’ से जुड़कर सौरभ पाण्डेय के कदम से कदम मिलाकर चलने वाले रत्नाकर त्रिपाठी ने बताया कि 8 जनवरी को होने वाले शिलान्यास समारोह की अध्यक्षता उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ के संरक्षक अभिमन्यु तिवारी करेंगे। इनके अलावा सभी धर्मों के प्रतिनिधि विशिष्ठ अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे। बकौल रत्नाकर त्रिपाठी, सौरभ पाण्डेय का मानना है कि धरती पर रहने वाले सभी मनुष्य की एक ही जाति-धर्म है ‘मानव धर्म’। यही वजह है कि सौरभ पाण्डेय ने तय किया कि क्यों न एक ही परिसर में दुनिया के सभी धर्मों के प्रतीकस्थल बना दिया जाए, जहां सब लोग आएं और अपने धर्मानुसार आचरण करें और आपसी सौहार्द का प्रचार-प्रसार करें। फिर कौमी एकता की चटख लकीर खींचने के बाद सौरभ ने ‘धरा धाम’ के विशाल परिसर में सभी धर्मों का प्रतीकस्थल बनाने का अद्वितीय निर्णय ले लिया। सौरभ के इस क्रियाकलाप की चारों ओर तारीफ हो रही है। रत्नाकर त्रिपाठी बताते हैं कि सौरभ की इच्छा है कि धरा धाम का मिशन कामयाबी का शिखर छुए और दुनिया के मानचित्र पर सबसे अलग चमकता रहे।  
राजपाल के संग भी खूब दिखेगा सर्व समभाव का रंग 
चुनावी मौसम शुरू हो गया है, फिर भी ‘धरा धाम’ का कार्यक्रम पूरी तरह अराजनीतिक है। बावजूद इसके समाज विज्ञानी और राजनीतिक पंडित मानते हैं कि जिस तरह चर्चित सिने स्टार राजपाल यादव रूपहले पर्दे पर लोगों का दिल जीतते हैं उसी तरह वे इस कार्यक्रम में भी अपनी अलग छाप छोड़ेंगे। आपको बता दें कि विख्यात सिने स्टार राजपाल यादव के बडे भाई श्रीपाल यादव ने एक पार्टी का गठन किया है। जिसका नाम सर्व समभाव पार्टी है। देश-दुनिया में एक बड़े अभिनेता के रूप में चर्चित राजपाल यादव सर्व समभाव पार्टी के राष्ट्रीय प्रचारक हैं। इसलिए यह आशंका जताई जा रही है कि राजपाल यादव सर्व समभाव पार्टी की विचारधारा को भी लोगों को समझाने की कोशिश करेंगे। वैसे राजपाल यादव की रील लाइफ भले हंसोड़ और उच्छृंखल स्वाभाव वाला हो, पर रीयल लाइफ में वे बेहद संजीदा, संवेदनशील और गंभीर व्यक्ति हैं। इसलिए यह अनुमान लगाना कठिन है कि राजपाल यादव ‘धरा धाम’ के मंच से राजनीतिक बात करेंगे अथवा नहीं। वैसे इसमें कोई शक नहीं कि राजपाल यादव की पार्टी को उसकी विचारधारा के अनुरूप जिस तरह का माहौल चाहिए वह ‘धरा धाम’ ने तैयार कर दी है। यानी अब यहां लोग हिन्दुवाद की बात करने से कतराने लगे हैं। हर किसी के जेहन में सर्व समभाव वाली बात घर कर चुकी है। बहरहाल, 8 जनवरी, 2017 न सिर्फ भस्मा-डवरपार, गोरखपुर, उत्तर प्रदेश बल्कि देश के लिए अहम दिन होगा, जिस दिन एक ही परिसर में सभी धर्मों की आधारशीला रखी जाएगी, जिसका पूरा श्रेय ‘धरा धाम’ और उसके अनुयायियों को जाता है।
(राजीव रंजन तिवारी)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: अब दुनिया में जमेगा के गोरखपुर के ‘धरा धाम’ का धाक, सौरभ के मिशन कौमी एकता में ग्लैमर के कॉकटेल से रंग जमाएंगे सिने स्टार राजपाल यादव Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल