ताज़ा ख़बर

लालू निपटाएंगे सपा-कांग्रेस के गठबंधन का झगड़ा?

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर चल चल रहे गतिरोध को खत्म करने के लिए कांग्रेस अब आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की मदद लेने को मजबूर हो गई है। सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस के शीर्ष स्तर से लालू प्रसाद यादव से कहा गया है कि वह गठबंधन के रास्ते में आ रही दिक्कतों को दूर करने में मदद करें। दरअसल, इसकी जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर चल रही बातचीत शनिवार को भी बेनतीजा रही। समाजवादी पार्टी जहां कांग्रेस को 99 सीटों से ज्यादा देने को तैयार नहीं हैं, तो वहीं कांग्रेस 110 सीटें मिलने पर पर ही गठबंधन करने के लिए अडिग है। राजनीतिक गलियारों में दोनों के बीच गठबंधन न होने के कयास के बीच शनिवार को देर शाम दोनों पार्टियों की तरफ से यह तो माना गया कि अभी गठबंधन पर तो कोई बात नहीं बन पाई है लेकिन गठबंधन के लिए बातचीत जारी है। उम्मीद की जानी चाहिए नतीजा पॉजिटिव ही रहेगा। सूत्रों का कहना है कि रविवार को कुछ निर्णय हो सकता है। यूपी में पहले चरण के लिए 24 जनवरी तक नामांकन होने हैं। इस लिहाज से दोनों पार्टियों के पास अभी भी तीन दिन का वक्त है। गठबंधन पर टकराव के पीछे दोनों दलों के अपने-अपने तर्क हैं। कांग्रेस कैम्प की तरफ से कहा जा रहा है कि पहले समाजवादी पार्टी 142 सीटें देने को राजी थी। बाद में उसका रवैया बदलता आ गया और अब वह सिर्फ 99 सीटें ही देना चाहती है। उधर समाजवादी पार्टी के नेताओं का कहना है कि पहले कांग्रेस 88 सीटों पर ही राजी थी। फिर वह 100 मांगने लगी, और अब 130। कांग्रेस अब कह रही है कि उसे 120 से कम सीटें नहीं चाहिए। वैसे सूत्रों का कहना है कि असल पेंच रायबरेली और अमेठी की सीटों की वजह से है, जहां से सोनिया गांधी और राहलु गांधी सांसद हैं। समाजवादी पार्टी रायबरेली और अमेठी की एक भी सीट कांग्रेस को देने के पक्षधर नहीं है। इसी बीच तालमेल टूटने व जारी रहने के कयासों के बीच शनिवार को कांग्रेस ने यूपी में टिकटों को लेकर केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) की मीटिंग की, जिसमें पहले और दूसरे फेज की सीटों को लेकर चर्चा हुई। सीईसी की मीटिंग के बाद मीडिया से बातचीत में राज्य के प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने कहा कि गठबंधन को लेकर तस्वीर कल दोपहर तक साफ होगी। हमने चुनावों के मद्देनजर पहले और दूसरे फेज के चुनावों के हिसाब से उम्मीदवारों पर चर्चा कर उन्हें क्लियर किया है। यूपी के कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने एसपी-कांग्रेस के बीच गठबंधन टूटने के कयासों पर टिप्पणी करते हुए कहा कि बातचीत में कोई रुकावट नहीं है। हालांकि, एसपी के राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल ने संकेत दिया कि एसपी-कांग्रेस के बीच तालमेल की संभावना खत्म हो चुकी है, वहीं एसपी के नेता किरणमोय नंद का कहना था कि दोनों के बीच बातचीत अभी जारी है। सूत्रों के के मुताबिक, इन दोनों ही नेताओं से अखिलेश यादव की बात हुई और उन्होंने दोनों को तालमेल को लेकर कोई बयान देने से इनकार किया।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: लालू निपटाएंगे सपा-कांग्रेस के गठबंधन का झगड़ा? Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल