ताज़ा ख़बर

धरा धाम की माटी चूमने और मनीषी सौरभ पाण्डेय का आशीष लेने के लिए लगने लगी भीड़

गोरखपुर। दो दिन पूर्व ग्राम भस्मा-डवरपार में हुए ‘धरा धाम’ के शिलान्यास समारोह के अगले दिन जब दुनिया के ख्यातिलब्ध भविष्यवक्ताओं, ज्योतिषियों और अंक विज्ञानियों ने अनुसंधान के उपरांत जब यह घोषणा कर दी कि ‘धरा धाम’ की माटी चूमने से सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाएंगी तबसे ‘धरा धाम’ परिसर में लोगों का तांता लगा हुआ है। हर कोई ‘धरा धाम’ के प्रमुख और मनीषी सौरभ पाण्डेय का दर्शन कर उनसे आशीर्वाद लेने के लिए व्यग्र दिख रहा है। दरअसल, ज्ञानी पंडितों और शोधार्थी अंतरराष्ट्रीय विद्वानों ने यह स्पष्ट कर दिया था कि शुद्ध विचार और पवित्र आस्था के साथ ‘धरा धाम’ परिसर में जाकर वहां माटी चूमने से सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाएंगी। तबसे वहां मेला जैसा दृश्य उत्पन्न हो गया है। आपको बता दें कि ‘धरा धाम’ परिसर में दुनिया के सभी धर्मों का प्रतीकस्थल बनाया जाना है। शायद यही वजह है कि सभी धर्मों का समवेत आशीष वहां श्रद्धाभाव से जाने वालों को मिल रहा है। खास बात यह है कि जो भी अपनी मन्नतें मांगने और माटी चूमने जा रहा है वह शीघ्र ‘धरा धाम’ के निर्माण के लिए यथासंभव कुछ न कुछ दान अवश्य दे रहा है। इससे मनोकामनाएं भी पूरी हो रही हैं। बड़हलगंज निवासी दिनेश कुर्मी ने टेलीफोन पर बताया कि कल उन्होंने ‘धरा धाम’ परिसर में जाकर मिटी चूमी और एक सौ एक रूपए दान दिए तथा अपनी नौकरी लगने की मन्नत मांगी। खुशी से पागल दिनेश ने बताया कि उनके घर आज ही हिमांचल प्रदेश के रोडवेज विभाग से नौकरी लगने के लिए नियुक्ति पत्र आ गया। इससे सिद्ध हो रहा है कि कुछ न कुछ तो दम है। जबकि ‘धरा धाम’ के लिए सबकुछ न्योछावर कर चुके मथुरा के संत स्वामी हृदयनाथ जी ने कहा कि यह अंधविश्वास नहीं, आत्मविश्वास जगाने की प्रेरणा है। बहरहाल, जो भी हो पर ‘धरा धाम’ ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: धरा धाम की माटी चूमने और मनीषी सौरभ पाण्डेय का आशीष लेने के लिए लगने लगी भीड़ Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल