ताज़ा ख़बर

राहुल गांधी की गिरफ्तारी पर भड़के कांग्रेसी, पूरे देश में गुस्से की लहर

नई दिल्ली। 'वन रैंक वन-पेंशन' की मांग को लेकर पूर्व सैनिक की आत्महत्या के मामले पर सियासत तेज हो गई है। इस मसले पर हुई राहुल गांधी की गिरफ्तारी पर कांग्रेसियों में गुजब का गुस्सा देखने को मिल रहा है। पूरे देश के कांग्रेसी राहुल गांधी के साथ खड़े होने का दावा कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि यदि राहुल को हिरासत से नहीं छोड़ा गया होता तो इसी वक्त जेल भरो अभियान शुरू हो जाता। जानकारी के अनुसार, दिल्ली, यूपी, उत्तराखंड, बिहार, बंगाल, उड़िसा, हिमांचल, हरियाणा, पंजाब, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ समेत दक्षिण भारत के राज्यों में भी कांग्रेसियों ने पीएम नरेन्द्र मोदी के खिलाफ गुस्से का इजहार किया है। खुदकुशी करने वाले पूर्व सैनिक के परिवार से मिलने वालों का सुबह से तांता लगा हुआ है।मिलने वालों में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सहित दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तक शामिल हैं। हालांकि इसकी शुरुआत बुधवार सुबह दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया से हुई जिन्हें अस्पताल पहुंचते ही पुलिस ने हिरासत में ले लिया। मनीष के बाद पीड़ित परिवार से मिलने राहुल गांधी आरएमएल अस्पताल पहुंचे जिन्हें पुलिस ने गेट पर ही रोक लिया। जिद करने पर पुलिस ने उन्हें भी हिरासत में ले‌ लिया और मंदिर मार्ग थाने ले गई। थाने में मृतक पूर्व सैनिक के परिवार के भाई और बेटा भी मौजूद था। पुलिस ने इन्हें भी हिरासत में ले रखा था। हिरासत में लिए जाते समय राहुल गांधी ने कहा कि ये नए तरह के भारत का नि र्माण हो रहा है। कुछ देर थाने के रखने के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को छोड़ दिया गया। हालांकि शाम को एक बार फिर से उन्हें कनॉट प्लेस से हिरासत में ले लिया गया। इस बीच राममनोहर लोहिया अस्पताल के बाहर भारी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता जमा हो गए और नारेबाजी करने लगे। कांग्रेस नेताओं में राहुल गांधी के अलावा ज्योतिरादित्य सिंधिया भी अस्पताल पहुंचे। पुलिस ने उन्हें भी हिरासत में ले लिया। आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की बढ़ती भीड़ के बीच पुलिस और उनके बीच धक्का-मुक्की भी हुई। आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह और दिलीप पांडे को भी पुलिस ने हिरासत में लिया। देर शाम दिल्ली पुलिस ने दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल को भी हिरासत में ले लिया गया। जिसके बाद उन्हें आरके पुरम थाने ले जाया गया। वहीं राहुल गांधी को पुलिस तिलक मार्ग थाने ले गई। ले‌‌‌‌कि न बाद में ‌रिहा कर दिया। स्पेशल कमियश्नर एमके मीणा का कहना है किस चूंकिन मृतक सैनि क के परिजन राजनेताओं से संपर्क करने की कोशिदश कर रहे थे और अस्पताल में ही धरना करने वाले थे इसलििए उन्हें गितरफ्तार कर लि या। उधर, लेडी हार्डिंग अस्पताल पहुंचे दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी देश भर में घूम-घूम कर कह रहे हैं कि उनकी सरकार ने वन रैंक वन पेंशन की घोषणा कर दी है जबकि इसकी मांग को लेकर ही दिल्ली में एक पूर्व सैनिक ने आत्महत्या कर ली। इसका मतलब है कि मोदी जी झूठ बोल रहे हैं। केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक की कार्यवाही पर बोलते ही कहा कि इस काम के बाद सेना को ईनाम दिया जाना चाहिए जबकि सेना की रैंक घटा दी। इस बीच लेडी हार्डिंग अस्पताल के बाहर आप कार्यकर्ता दिल्ली पुलिस और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ लगा रहे हैं। गौरतलब है किं रामकिशन पिछले पांच-छह दिनों से अपने दोस्तों के साथ वन रैंक-वन पेंशन के लिए जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे थे। वह रक्षामंत्री को ज्ञापन भी देने वाले थे लेकिोन ज्ञापन देने से पहले उन्होंने रास्ते में ही जहर खाकर जान दे दी। पूर्व सैनिक के आत्महत्या करने के मामले में दिसल्ली के मुख्यमंत्री अरविंेद केजरीवाल ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर निशाना साधा। रामकिशन के छोटे बेटे ने बताया कि खुद उनके पिता ने इस बात की सूचना फोन करके दी थी। जहर खाने के बाद रामकिशन को राम मनोहर लोहिया अस्पताल भ्रर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान ही मंगलवार देर रात उनकी मौत हो गई। इस मामले में डीसीपी नई दिल्ली जतिन नरवाल ने बताया कि रामकिशन ने जहर खाया था। उनके साथ तीन और लोग थे जो जंतर-मंतर पर वन रैंक वन पेंशन को लेकर धरना दे रहे थे। उन लोगों को भी इस बात की जानकारी नहीं थी। रामकिशन के पास जो ज्ञापन मिला है उसके कंटेंट को वेरीफाई किया जा रहा है।
राहुल गांधी की गिरफ्तारी पर भड़के कांग्रेसी, मोदी का पुतला फूंका 
हिमाचल प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन शिमला के परिसर में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू की अध्यक्षता में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी उपाध्यक्ष राहुल गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका गया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने कहा कि कांग्रेस पार्टी अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी की गिरफ्तारी की कड़ी निंदा करती है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार राहुल गांधी और अन्य नेताओं को पूर्व सैनिक के परिवार से राम मनोहर लोहिया अस्पताल में मिलने से रोका गया, वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है और लोकतंत्र के लिए शर्म की बात है। साथ ही भाजपा जो ‘वन रैंक, वन पेंशन’ देने की बात कर रही है, उसकी पोल खुल गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने पूर्व सैनिकों और सैनिकों के लिए ‘वन रैंक, वन पेंशन’ को एक मजाक बना दिया है और ‘वन रैंक, वन पेंशन’ पर भूतपूर्व सैनिकों को गुमराह किया गया है। इस कारण ये परिस्थिति पैदा हुई है और पूर्व सैनिक आत्महत्या करने पर मजबूर हो गए हैं। उन्होंने कहा कि ये बड़ी हैरानी की बात है कि राहुल गांधी जो पूर्व सैनिक के परिवार से मिलने राम लोहिया अस्पताल संवेदनाएं व्यक्त करने जा रहे थे, उन्हें मिलने से रोका गया और गिरफ्तार किया गया।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: राहुल गांधी की गिरफ्तारी पर भड़के कांग्रेसी, पूरे देश में गुस्से की लहर Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल