ताज़ा ख़बर

भावुक हुए पीएम नरेंद्र मोदी, भाजपा सांसदों से कहा- नोटबंदी को ना कहें सर्जिकल स्ट्राइक

नोटबंदी का फैसला सही है या गलत, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ऐप पर मांगी जनता की राय 
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार सुबह संसद में भाजपा सांसदों को नोटबंदी पर संबोधित किया। इस संबोधन के दौरान मोदी भावुक हो गए। उन्हों ने कहा कि नोटबंदी को सर्जिकल स्ट्राइइक ना कहा जाए। 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बैन करने का फैसला गरीबों की मदद के लिए किया गया है। पीएम ने कहा कि विपक्ष गलत जानकारी फैला रहा है। उन्हों ने भाजपा सांसदों से कहा कि वे इस बारे में जनता को जागरूक करें और इस कदम के फायदे बताएं। नोटबंदी कालेधन और भ्रष्टाहचार के खिलाफ लड़ाई का अंत नहीं है बल्कि यह शुरुआत है। गौरतलब है कि पीएम मोदी ने आठ नवंबर को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने का एलान किया था। नोटबंदी के चलते संसद में काम नहीं हो पा रहा है। विपक्ष प्रधानमंत्री मोदी को संसद में आने की मांग कर रहा है। उनका कहना है कि पीएम को राज्यव सभा में आकर नोटबंदी पर जवाब देना चाहिए। विपक्ष लोक सभा में वोटिंग और बहस की मांग कर रहा है। सरकार का कहना है कि पीएम मोदी राज्य सभा में नहीं बोलेंगे। लेकिन वित्त मंत्री अरुण जेटली इस पर जवाब देने को तैयार है। वहीं नोटबंदी पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी भाजपा सांसदों को संबोधित किया। उन्हों ने कहा, ”हम नोटबंदी के फैसले को लेकर चर्चा करने के लिए तैयार हैं, यह हम पहले भी कह चुके हैं। यह बहुत बड़ा निर्णय है और इसे लागू करने के लिए सरकार को बहुत हिम्मत चाहिए थी। पूरा देश इसका स्वागत कर रहा है, ये एक एतिहासिक कदम है। नोटबंदी से गरीबी मिटाने में मदद मिलेगी। यह फैसला देशहित में है। कुछ लोग कह रहे हैं कि वित्त मंत्रालय तक को नोटबंदी के फैसले की जानकारी नहीं थी, फिर वही लोग कह रहे हैं कि भाजपा को पहले ही इस बारे में बता दिया गया था। कुछ हफ्तों के लिए हमारा ध्यान कृषि क्षेत्र पर केंद्रित है, रबि की फसल का सीजन भी आ रहा है। नोटबंदी से थोड़े दिन के लिए दिक्कत हो सकती है।” जेटली ने कहा कि 70 साल से जो कुछ चल रहा उसे पीएम मोदी ने बदल दिया है। सरकार ने मॉरिशस और साइप्रस के रास्तेा जाने वाले कालेधन को भी रोक दिया है। सिंगापुर के साथ बात चल रही है। सरकार का लक्ष्यत डिजीटल करेंसी है।  
मोदी ने ऐप पर मांगी राय 
नोटबंदी के फ़ैसले के बाद जब से संसद की कार्यवाही शुरू हुई है, विपक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बयान की मांग कर रहा है। संसद कई बार ठप हो चुकी है और विपक्ष की मांग है कि पीएम मोदी संसद में उनके सवालों के जवाब दें। लेकिन अभी तक नरेंद्र मोदी ने संसद में कुछ नहीं कहा है। लेकिन मंगलवार को पीएम मोदी ने ट्वीट करके लोगों से 500 और 1000 के नोट को वापस लेने के फ़ैसले पर अपने ऐप के ज़रिए राय मांगी है। मोदी के इस ट्वीट पर लोग खुलकर अपनी राय दे रहे हैं। कुछ लोग परेशानियों की बात मानते हुए देशहित में इसे बड़ा और साहसिक फ़ैसला बता रहे हैं तो कुछ इसकी कड़ी निंदा कर रहे हैं और उनके फ़ैसले पर व्यंग्य कर रहे हैं।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: भावुक हुए पीएम नरेंद्र मोदी, भाजपा सांसदों से कहा- नोटबंदी को ना कहें सर्जिकल स्ट्राइक Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल