ताज़ा ख़बर

यूपीए सरकार में लाए गए थे पाकिस्तानी सैनिकों के सिर, चार बार सीमा पार भारत ने किया था सर्जिकल स्ट्राइक

नई दिल्ली। भारतीय सेना की ओर से उरी हमले के बाद किए सर्जिकल स्ट्राक के पता रविवार को पता चला है कि 2011 में भी सर्जिकल स्ट्राइक किया गया था। उरी हमले के बाद किया गया सर्जिकल स्ट्राइक पहला स्ट्राइक नहीं था। इससे पहले भी सेना सीमा पर ऐसे ऑपरेशनों को अंजाम दे चुका है। आइए जानते है ऐसे ही कुछ सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में जब हमारे सेना के जवानों से दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब दिया। इंडिया टुडे के मुताबिक साल 2008 में 2/8 गोरखा राइफल्स के एक जवान की जान चली गई थी और पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) द्वारा उसके शव को कब्जे में ले लिया गया था। कुछ दिन बाद जवान की सिर कटा शव बरामद हुआ था। रिपोर्ट के मुताबिक इसके एक हफ्ते बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तानी पोस्ट्स पर धावा बोला दिया। इस अटैक में आठ पाकिस्तानी जवान मारे गए थे। भारतीय सेना के जवान 4 पाकिस्तानी सैनिकों के सिर लेकर वापस आए थे। द हिंदू अखबार में छपी खबर के मुताबिक 2011 में हुए सर्जिकल स्ट्राइक को ‘ऑपरेशन जिंजर’ नाम दिया गया था। इस ऑपरेशन में सेना की तीन टुकड़ियां शामिल हुई थीं। खबर के मुताबिक, दो बार सर्जिकल स्ट्राइक हुआ था। जिसमें लगभग 13 जवानों की जान गई थी। जिसमंर से 5 जवानों के सिर भी काटे गए थे। दोनों देशों की सेना एक दूसरे के जवानों के सिर काटकर ट्राफी की तरह लेकर गई थीं। खबर के मुताबिक, पाकिस्तानी आर्मी दो सिर काटकर ले गई थी जिसके बदले भारतीय जवान तीन सिर काटकर लाए थे। द हिंदू को ऑपरेशन जिंजर के कुछ सबूत मिले हैं। वहीं उस वक्त के मेजर जनरल (रिटायर्ड) एसके चक्रवर्ती जिन्होंने इस ऑपरेशन को किया था उन्होंने बातचीत में यह बात कबूल की है। वह कुपवाड़ा के 28वें डिवीजन के चीफ थे। ऑपरेशन जिंजर 30 अगस्त को किया गया था। जनवरी 2013 में पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) ने भारतीय सेना के लांस नायक हेमराज सिंह का सिर काट दिया था। रिपोर्ट की माने तो इसके बाद भारतीय सैन्य टुकड़ियों ने पूंछ की ओर से सीमा पर में पाकिस्तान पोस्ट को नष्ट कर दिया था और आधे दर्जन से ज्यादा पाकिस्तानी सैनिकों और आतंकियों को मार गिराया था। इस बदले को ‘ऑपरेशन बदला’ नाम दिया गया था। 18 सितंबर को जम्मू-कश्मीर के उरी स्थित सेना मुख्यालय पर हुए आतंकी हमले में सेना के 18 जवान शहीद हो गए थे। बाद में दो जवानों की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। इसका बदला लेने भारतीय सेना ने 28-29 सितंबर को सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था। सर्जिकल स्ट्राइक में सेना ने पीओके स्थित करीब 7-8 आतंकी कैंपों को नष्ट कर दिया था और 30 से ज्यादा आतंकियों को मार गिराया था। इस हमले में आतंकियों को बचाने में पाकिस्तानी सेना के दो जवान भी शहीद हो गए थे।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: यूपीए सरकार में लाए गए थे पाकिस्तानी सैनिकों के सिर, चार बार सीमा पार भारत ने किया था सर्जिकल स्ट्राइक Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल