ताज़ा ख़बर

पंपोर में 24 घंटे बाद भी आतंकियों से लड़ रही है फौज, दो सुरक्षाकर्मी हुए हैं जख्मी

श्रीनगर। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर पुलवामा जिले के पांपोर के पास स्थित उद्यमिता विकास केंद्र (जेकेईडीआई) की सात मंजिला इमारत में सोमवार तड़के से शुरू हुआ एनकाउंटर अब भी जारी है। इस इमारत में लश्कर के आतंकी घुस गए थे जिसके बाद से सुरक्षाबलों ने इस इमारत को घेर रखा है और दोनों तरफ से लगातार फायरिंग जारी है। मुठभेड़ के दौरान आतंकियों ने इमारत की छठी और सातवीं मंजिल से गोलीबारी के साथ यूबीजीएल से ग्रेनेड व रॉकेट भी दागे थे। सेना के पैरा कमांडो सहित अन्य सुरक्षाबलों ने पूरे क्षेत्र की घेराबंदी कर रखी है। गोलीबारी से इमारत की तीसरी मंजिल में आग लग गई। परिसर में बनी एक हट भी जलकर राख हो गई है। इस मुठभेड़े में अब तक दो सुरक्षाकर्मी घायल हो गए हैं। आईजी कश्मीर जावेद अहमद जिलानी ने कहा कि आतंकियों की संख्या दो से पांच हो सकती है। फिलहाल, ऑपरेशन जारी है। ईडीआई के निदेशक एमआई पर्रे ने बताया कि हमारे एक कर्मी ने सुबह करीब छह बजे इमारत से धुआं उठता देखा और मुझे सूचित किया। पुलिस और दमकल विभाग को सूचित करने के साथ करीब साढ़े छह बजे वह मौके पर पहुंच गए। इस बीच, सीआरपीएफ और सेना के जवान भी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने वहां मौजूद सभी लोगों को हटाते हुए घेराबंदी कर ली। आतंकियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाते हुए यूबीजीएल से ग्रेनेड दागने के अलावा रॉकेट लांचर से रॉकेट भी चलाया। हालांकि इसमें सुरक्षाबलों को किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ, लेकिन परिसर के भीतर स्थित एक हट ने आग पकड़ ली और वह बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। सुरक्षाबलों ने भी मोर्टार दागा। सूत्रों ने बताया कि ईडीआई परिसर में घुसने वाले आतंकियों के पीछे सुरक्षाबल गत रविवार से ही पड़े थे, लेकिन ये आतंकी सुरक्षाबलों को चकमा देने में कामयाब रहे। ये आतंकी एक कार में थे जो अवंतीपोरा के नीचे चुरसु इलाके से निकले थे। यह कार भी सुबह ईडीआई परिसर से कुछ ही दूरी पर मिली है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकी पूरी तैयारी के साथ अंदर घुसे हैं। उन्हें पता है कि यह इमारत पूरी तरह कंक्रीट से बनी है। मोर्टार और ग्रेनेड से इसमें आग नहीं लगेगी और न यह आसानी से गिरेगी। उन्होंने भीतर जिस तरह से अवरोधक व बूबी ट्रैप लगाए हैं, उससे अंदाजा हैं कि वे यह मुठभेड़ को कुछ दिनों तक खींच कर दुनिया का ध्यान अपनी तरफ दिलाना चाहते हैं। ईडीआई परिसर पूरी तरह राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ सटा हुआ है। मुठभेड़ के दौरान किसी भी प्रकार की नागरिक क्षति से बचने के लिए प्रशासन ने इस सड़क को आम यातायात के लिए बंद कर दिया है। इसके साथ ही आम लोगों की आवाजाही भी बंद कर दी। मीडिया को भी मुठभेड़स्थल से करीब दो किलोमीटर पहले ही रोक लिया गया। ईडीआई परिसर में इसी साल 20 फरवरी को भी लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकी सीआरपीएफ के जवानों को निशाना बनाते हुए दाखिल हो गए थे। तीन दिन चली इस मुठभेड़ में चार सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे। ईडीआई का एक कर्मी भी आतंकियों की फायरिंग में मारा गया था।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: पंपोर में 24 घंटे बाद भी आतंकियों से लड़ रही है फौज, दो सुरक्षाकर्मी हुए हैं जख्मी Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल