ताज़ा ख़बर

आरएसएस वाले बयान पर अब भी क़ायम हैं राहुल गांधी

नई दिल्ली। महात्मा गांधी की हत्या को लेकर राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ पर एक चुनावी सभा में दिए बयान पर मानहानि का मुक़दमा झेल रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने बयान से पीछे नहीं हटेंगे। राहुल गांधी के वकील कपिल सिब्बल ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा कि राहुल अपने बयान, ''आरएसएस के लोगों ने गांधी को गोली मारी'' पर क़ायम हैं और रहेंगे। राहुल गांधी के दफ़्तर ने ट्विट कर कहा कि राहुल गांधी अपने शब्द वापस नहीं लेंगे। राहुल के वकील ने कोर्ट में कहा कि राहुल मानहानि के मुक़दमे का समाना करने के लिए तैयार हैं। राहुल गांधी ने उनके ख़िलाफ़ दायर मानहानि केस को खारिज़ करने की सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका को वापस ले ली है और अब वह निचली अदालत में मुक़दमे का समाना करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र के भिवंडी कोर्ट के सामने व्यक्तिगत तौर पर पेशी से राहुल गांधी को छूट देने से इनकार कर दिया है। राहुल गांधी ने 6 मार्च, 2014 को महाराष्ट्र के भिवंडी इलाक़े में एक चुनावी रैली में कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोगों ने की थी। संघ की भिवंडी इकाई के सचिव राजेश कुंटे ने राहुल के ख़िलाफ़ मानहानि का मामला दाख़िल किया था। कुंटे ने कहा था कि कांग्रेस उपाध्यक्ष ने अपने भाषण के ज़रिए संघ की प्रतिष्ठा को चोट पहुंचाने की कोशिश की थी। भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज़ हुसैन ने राहुल गांधी के इस कदम की आलोचना करते हुए कहा कि उनके इस कदम से कांग्रेस अब 44 से चार सीट पर आ जाएगी। आरएसएस के वरिष्ठ प्रचारक मनमोहन वैद्य ने भी राहुल के इस कदम पर सवाल उठाया है। वैद्य ने कहा कि,''राहुल क्यों इस ट्रॉयल से पिछले दो वर्षों से बचते रहे हैं।''  
महायात्रा 6 से, किसान-कामगार-नागरिकों से होगा संवाद   
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 6 सितंबर से यूपी के चुनावी महासमर में उतरेंगे। कांग्रेस ने राहुल की इस यूपी यात्रा को महायात्रा का नाम दिया है। तकरीबन एक महीने चलने वाली इस यात्रा में राहुल छोटी सभाएं और रोड शो करेंगे। कांग्रेस ने साफ किया कि राहुल कोई बड़ी रैली नहीं करेंगे और यात्रा के दौरान जनता से सीधा संवाद करेंगे। कांग्रेस ने 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव पूरे दमखम से साथ लड़ने की रणनीति तैयार की है। सोनिया गांधी के वाराणसी रोड शो की सफलता के बाद अब राहुल गांधी भी यूपी में पूरी ताकत से चुनाव प्रचार में कूद रहे हैं। कांग्रेस ने अपने कार्यकर्ताओं और वोटरों में जोश भरने के लिए राहुल गांधी को मैदान-ए-जंग में उतारने का ऐलान कर दिया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबव्बर और मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार शीला दीक्षित के नेतृत्व में पहले से ही 2 यात्राएं चल रही हैं। कांग्रेस के प्लान के मुताबिक राहुल महायात्रा के दौरान 2500 किलोमीटर का सफर तय करेंगे, जिसकी शुरुआत 6 सितंबर को देवरिया जिले के रुद्रपुर से होगी। यात्रा के दौरान वो 55 लोकसभा और 223 विधानसभा क्षेत्रों से होकर गुजरेंगे। 39 जिलों से होकर निकलने वाली यात्रा में राहुल 21 जिलों में छोटी रैलियां और गांवों में खाट बैठक भी करेंगे। रोड शो में राहुल किसानों, कामगारों और नौजवानों पर फोकस करेंगे। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी को महायात्रा के दौरान अयोध्या ले जाने की तैयारी भी है। कांग्रेस के एक धड़े का मानना है कि राहुल के रामलला का दर्शन करने से वोटरों में अच्छा संदेश जाएगा। लेकिन कुछ नेताओं की विपरीत राय की वजह से इस पर फैसला होना अभी बाकी है। राहुल की यात्रा के बेहतर मीडिया प्रबंधन के लिए कांग्रेस ने तीन मीडिया प्रभारी भी नियुक्त किए हैं। ये नेता है पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह, राजीव शुक्ला और पूर्व प्रवक्ता मीम अफजल।
कांग्रेस के टोल फ्री नंबर पर लोगों को जोड़ने की तैयारी 
देवरिया के रुद्रपुर में राहुल गांधी डोर टू डोर कैंपेन की शुरुआत करेंगे। इस अभियान में राहुल गांधी के साथ पार्टी कार्यकर्ता होंगे जिनके पास एक झोला होगा और इस झोले में किसान मांगपत्र होगा। जिस मांग पत्र को लेकर कार्यकर्ता किसानों के बीच जाएंगे और उनकी राय लेंगे। घर के मालिक की अनुमति लेकर घर के बाहर एक स्टिकर भी चिपकाया जाएगा। टोल फ्री नंबर 8090180901 के जरिए लोग इससे जुड़ेंगे।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: आरएसएस वाले बयान पर अब भी क़ायम हैं राहुल गांधी Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल