ताज़ा ख़बर

यूपी में किसे मिलेगा बीजेपी का टिकट, यह फैसला मोदी नहीं पांच सदस्यीय टीम करेगी

लखनऊ/कानपुर। विपक्षी पार्टियों की खामियों को उजागर कर राजनीतिक माहौल तो बनाया जा सकता है लेकिन कहीं उम्मीदवारों में कमी रह गई तो नुकसान हो सकता है। इसी दृष्टिकोण को देखते हुए भाजपा कोर कमेटी बनाने जा रही है जो उम्मीदवारों के भविष्य का फैसला करेगी। इस कोर कमेटी में संघ के दो और भाजपा के तीन नेताओं को चुना गया है, जो 423 विधानसभा सीटों के उम्मीदवारों की गहन जांच पड़ताल करेंगे। राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री शिवप्रकाश, क्षेत्रीय प्रचारक शिवनारायण, प्रदेश प्रभारी ओम माथुर, प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या व प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल ही उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। भारतीय जनता पार्टी जिस प्रकार विपक्षी पार्टियों की बखिया उधेड़ कर उत्तर प्रदेश में चुनावी माहौल बना रही है। उससे भी अधिक अपने प्रत्याशियों को कसौटी पर कसने की तैयारी में जुट गई है। इसके लिए संघ व पार्टी की पांच सदस्यीय टीम का गठन होने जा रहा है जो उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेगें। बताया जा रहा है कि पार्टी यह रणनीति इसलिए बना रही है कि स्थानीय विरोध को रोका जा सके। यही नहीं कोर कमेटी क्षेत्रीय अध्यक्षों व मंत्रियों से भी उम्मीदवारों का फीडबैक लेगी। इसके बाद कमेटी उम्मीदवारों का साक्षात्कार भी करेगी। जिसमें एक ही सूत्र रखा गया है कि प्रत्याशी चुनाव जीतने की हैसियत रखता हो। जानकारी के मुताबिक कोर कमेटी में राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री शिवप्रकाश, क्षेत्रीय प्रचारक शिवनारायण, प्रदेश प्रभारी ओम माथुर, प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या व प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल होगें। जिलाध्यक्ष उत्तर सुरेन्द्र मैथानी ने कहा कि कमेटी के विषय में मुझे जानकारी नहीं है अगर ऐसा है तो पार्टी के हित में है। इससे गुटबाजी पर अंकुश लगेगा और जिताऊ उम्मीदवारों का चयन पारदर्शी तरीके से हो सकेगा। आवेदन में भरने होगें जीत के बिन्दुजानकारी के मुताबिक भाजपा ने उम्मीदवारों के लिए आवेदन का जो प्रारूप तैयार किया है उसमें उम्मीदवारों को जीत के बिन्दु भरना होगा। यह बताना पड़ेगा कि विधानसभा में विपक्षी पार्टियों से कौन संभावित या घोषित उम्मीदवार है। उनका किन मतों पर प्रभाव पड़ेगा और किन-किन मतों को अपने पाले में किया जा सकता है। आवेदन में भरे गए जीत के बिन्दुओं के आधार पर कोर कमेटी स्थानीय स्तर पर जानकारी जुटाएगी। जिसके बाद ही उम्मीदवारों को हरी झण्डी दी जाएगी। 92 संगठनात्मक जिलों में युवा सम्मेलन यूपी चुनाव फतेह करने के लिए भाजपा ने कार्यक्रमों की एक श्रंखला बनाई है। आधा दर्जन कार्यक्रमों का एेलान करके हर वर्ग को जोड़ने की कोशिशें तेज कर दी हैं। भाजपा के 92 संगठनात्मक जिलों में युवा सम्मेलन 20 सितंबर के बाद किए जाएंगे। ये सम्मेलन बड़े स्तर पर होंगे और इनमें पार्टी के बड़े सतर के नेता शामिल होंगे। इस सम्मेलन का प्रभार प्रदेश महामंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को दिया गया है। हर दो विधानसभा क्षेत्रों में एक पिछड़ा वर्ग सम्मेलन होगा। भाजपा पश्चिमी, पूर्वांचल, बुंदेलखंड और मध्य यूपी में चार परिवर्तन यात्राएं निकालेगी। ऐसा रूट चार्ज बनाया गया है कि यह यात्रा यूपी की 423 सीटों से होकर गुजरे।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: यूपी में किसे मिलेगा बीजेपी का टिकट, यह फैसला मोदी नहीं पांच सदस्यीय टीम करेगी Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल