ताज़ा ख़बर

राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी से पूछा कि क्या अब दलित और पिछड़े राष्ट्रवादी नहीं रहे?

 
पीएम ने कहा था कि राष्ट्रदवादी भाजपा के साथ हैं, पार्टी को दलितों-पिछड़ी जाति को साथ लाना है 

नई दिल्ली। भाजपा अगले साल पांच राज्यों में होने वाले चुनावों के लिए दलितों को लुभाने की कोशिश कर रही है। इसी क्रम में कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक में कहा था कि पार्टी को दलितों और पिछड़ों को अपने पाले में करने की जरूरत है, राष्ट्र वादी पहले से ही उनके साथ हैं। राहुल गांधी ने आश्च र्य जताया कि क्यार प्रधानमंत्री दलितों और पिछड़ों को राष्ट्रावादी नहीं मानते। राहुल गांधी ने द इंडियन एक्सचप्रेस की खबर का लिंक शेयर करते हुए ट्वीट किया, ”मोदीजी, तो अब दलित और पिछड़े राष्ट्ररवादी नहीं हैं?” बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा था कि बीजेपी की ‘राष्ट्रनवादी’ पहचान को कमजोर किए बिना पार्टी को दलितों और पिछड़ों को अपने पक्ष में करने की जरूरत है। रिपोर्ट थी कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि राष्ट्रतवादी भाजपा के साथ हैं और पार्टी को अब दलितों और पिछड़ी जाति को साथ लाना है। भाजपा अगले साल पांच राज्योंस में होने वाले चुनावों, जिनमें उत्तकर प्रदेश और पंजाब भी शामिल है, के लिए दलितों को लुभाने की कोशिश कर रही है। मोदी ने अपनी पार्टी के नेताओं को वेताया कि आने वाले चुनावों में ‘एंटी इनकम्बें सी’ फैक्ट र रहेगा और पार्टी को इसे हराने के लिए रास्ते ढूंढ़ने चाहिए। जब मोदी बोल रहे थे, मंच पर पार्टी अध्यरक्ष अमित शाह, राम लाल और अरुण जेटली जैसे वरिष्ठ नेता मौजूद थे। बंद दरवाजे के पीछे हुई बैठक में हिस्साक लेने वाले कई वरिष्ठी नेताओं ने कहा कि यह साफ था कि मोदी दूसरे कार्यकाल के बारे में सोच रहे हैं। बैठक में हिस्सा लेने वाले एक सदस्य ने कहा, ”उन्होंने साफ किया कि क्यों इस देश को कम से कम 30 सालों तक एक राष्ट्रवादी पार्टी की जरूरत है नहीं तो देश कमजोर हो जाएगा।”
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी से पूछा कि क्या अब दलित और पिछड़े राष्ट्रवादी नहीं रहे? Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल