ताज़ा ख़बर

संसद में पीएम पर ‘अरहर मोदी’ के नारे के जरिए राहुल गांधी ने बोला करारा हमला

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने एक कविता भी सुनाई-‘मां बच्चे रात-रात भर रोते हैं, आंसू पीकर सोते हैं’, कहा कि मेक इन इंडिया में एक भी शख्स को रोजगार नहीं मिला 
नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार (28 जुलाई) को संसद में महंगाई पर एनडीए सरकार को जमकर घेरा। राहुल ने दाल की बढ़ी कीमतों से लेकर क्रूड ऑयल के घटे दामों तक पर चर्चा की। भाषण के दौरान राहुल ने कहा, ‘मां बच्चे रात-रात भर रोते हैं, आंसू पीकर सोते हैं। मोदी जी ने अपने भाषण में कहा था कि महंगाई को काबू किया जाएगा। लेकिन महंगाई कम नहीं हुई। आपने स्टार्टअप इंडिया की बात की। आपने स्वच्छ भारत अभियान की बात की। आपने महंगाई की कभी बात नहीं की। आलू की बात नहीं की। टमाटर की एक बार बात नहीं की। इस मुद्दे पर एक बार भी चर्चा नहीं हुई। आप स्टार्टअप इंडिया पर बोल सकते हो। लेकिन महंगाई पर झूठे वादे नहीं कर सकते।’ मोदी पर हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मेक इन इंडिया में एक भी शख्स को रोजगार नहीं मिला। राहुल ने कहा, ”आपने यूपी में अपने भाषण में कहा था कि मुझे प्रधानमंत्री मत बनाओ, चौकीदार बनाओ। लेकिन अब आप बड़े आदमी बन गए हैं, चौकीदारी हम पर छोड़ दें। कांग्रेसवालों पर छोड़ दें।” राहुल ने आगे कहा, ”मैं सिर्फ दाम पर बात नहीं करना चाहता। मैं दाल में हो रही चोरी के बारे में बात करना चाहता हूं।” राहुल ने कहा, ‘आप जो चाहे वादे कीजिए लेकिन वो डेट हमें बता दीजिए जब मार्केट में दाल और टमाटर के दाम कम हो जाएंगे।’ राहुल ने आखिर में कहा कि मार्केट में नया नारा चला है-अरहर मोदी, अरहर मोदी। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि देश में महंगाई बहुत बड़ी समस्या है। एनडीए सरकार के दो साल का जश्न धूमधाम से मनाया गया और पीएम ने अपनी योजनाओं का बढ़-चढ़कर बखान किया, लेकिन महंगाई पर कुछ नहीं कहा। उन्होंने दाल, टमाटर, आलू के बारे में बात नहीं की। पीएम महंगाई पर नहीं बोल सकते, क्योंकि वह साफ दिखती है। किसान 50 रुपये में दाल बेचता है और खरीदता 180 में रुपये में है। प्रधानमंत्री ने खुद को पीएम न बनाकर चौकीदार बनाने की बात कही थी। देखिये, अब चौकीदार की नाक के नीचे दाल की चोरी हो रही है, लेकिन उन्होंने एक शब्दी नहीं कहा। पीएम अब बड़े आदमी हो गए हैं, अब 'चौकीदारी' हम पर छोड़ दें। बड़े उद्योगपतियों को फायदा हुआ, किसानों को नहीं। पिछले साल सरकार ने बड़े उद्योगपतियों का 52 हजार करोड़ का कर्ज माफ किया। हम आपसे सिर्फ यह पूछते हैं कि मेक इन इंडिया में आपने एक भी युवा को रोजगार नहीं दिया। दो लाख करोड़ रुपये में से आपने बड़े उद्योगपतियों को पैसा दिया, मगर हिंदुस्तान की जनता को आपने कितना पैसा दिया? बड़े उद्योगपतियों को फायदा हुआ, लेकिन किसान, मजदूर और गरीब महिलाओं को फायदा नहीं हुआ। पीएम आप जो वायदे करना चाहते हैं, सब करिए, मगर आप सदन को वह तारीख दे दीजिए, जब मार्किट में दाल, आलू और टमाटर का दाम कम हो जाएगा। गौरतलब है कि पिछले हफ्ते कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने महंगाई के मुद्दे पर सरकार को निशाना बनाया था और पार्टी सांसदों से आक्रामक होने को कहा था। उन्होंने इसके लिए सरकार और इसके मंत्रियों को जिम्मेदार ठहराया था। आर्थिक वृद्धि के सरकार के दावे की हवा निकालते हुए उन्होंने कहा था कि जब वे आर्थिक वृद्धि और जीडीपी आंकड़ों की बात करते हैं तब उनके खुद के पार्टी नेता उस पर सवाल उठाते हैं। भाजपा ने संप्रग सरकार की हर महत्वपूर्ण एफडीआई पहल को बाधित कर दिया है। और अब इसने रक्षा जैसे संवेदनशील क्षेत्रों को सभी के लिए खोल दिया है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: संसद में पीएम पर ‘अरहर मोदी’ के नारे के जरिए राहुल गांधी ने बोला करारा हमला Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल