ताज़ा ख़बर

गाली विवाद में अब नया मोड़, 'बेटी के सम्मान में, कल बीजेपी मैदान में'

नई दिल्ली। बीजेपी के पूर्व उपाध्यक्ष दया शंकर सिंह के मायावती पर दिए बयान को लेकर हुए विरोध प्रदर्शन में बीएसपी कार्यकर्ता मर्यादा भूल गए. दयाशंकर के बयान का विरोध करते हुए बीएसपी के कार्यकर्ताओं ने दयाशंकर की पत्नी और बेटी के लिए अपशब्द कहे थे. अब बीजेपी ने इसे मुद्दा बना लिया है. शनिवार को बीजेपी पूरे प्रदेश में ‘बेटी के सम्मान में बीजेपी मैदान में’ नाम से विरेध प्रदर्शन करेगी. गाली के बदले गाली देने के मामले में दयाशंकर की मां की ओर से मायावती समेत बीएसपी के कई बड़े नेताओं पर FIR दर्ज कराई गई है. दयाशंकर की पत्नी ने आरोप लगाया है कि गालियों से परिवार सदमे में है और उनकी 12 साल की बेटी दहशत और सदमे से बीमार हो गई है. दया शंकर की मां की तहरीर पर हजरतगंज थाने में बसपा सुप्रीमो मायावती, नसीमुद्दीन सिद्दीकी, रामअचल राजभर, मेवालाल गौतम समेत कुछ और बीएसपी नेताओं के खिलाफ 120B, 153A, 504, 506 और 509 धाराओं में केस दर्ज कराया गया है. मायावती ने अपने कार्यकर्ताओं का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने दयाशंकर को महिला के अपमान का अहसास कराने के लिए अपशब्द कहे. जिससे वो आगे कभी ऐसा शब्दों का प्रयोग ना करें. मायावती ने कहा कि अगर दयाशंकर की मां, पत्नी और बेटी मीडिया में उनके बयान की निंदा करते तो उऩके खिलाफ कुछ नहीं होता. दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह ने कहा अगर बसपा के लोग मेरा कत्ल कर दे और कहें कि सबक सिखाने के लिए किया तो क्या मायावती तब भी उनका समर्थन करेंगी. स्वाति सिंह ने कहा, ”उनके परिवार को क्यों निशाना बनाया जा रहा है. आखिर, उनकी 12 साल की बेटी, 80 साल की मां और उनकी क्या गलती है ? उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि उन्हें जान से मारने की धमकी मिल रही है और उन्हें सुरक्षा चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि उनका वास्ता कभी राजनीति से नहीं रहा तो उनके परिवार की महिलाओं को क्यों निशाना बनाया जा रहा है.” इस मामले में अबतक बैकफुट पर चल रही बीजेपी भी मुखर होने लगी है. बीजेपी कह रही है कि हमने गाली देने के आरोपी नेता के खिलाफ कार्रवाई की है अब बीएसपी भी कार्रवाई करे. हालांकि, मायावती अपने कार्य़कर्ताओं के प्रदर्शन को सही ठहराने पर अड़ी हुई हैं. ऐसे में इस मसले पर राजनीति गरमा रही है और आज यूपी में पीएम भी पहुंचने वाले हैं.
नाबालिग बेटी सहित पूरा परिवार सदमे में है 
दावा है कि बीजेपी से बर्खास्त दयाशंकर की नाबालिग बेटी सहित पूरा परिवार सदमे में है. इस घटना के बाद बीजेपी नेता दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति ने कहा कि ‘मायावती के बारे में उनके पति ने बोला तो केस दर्ज हुआ लेकिन उनकी बेटी के बारे में जो कहा गया उन लोगों पर केस क्यों नहीं किया गया.’ लखनऊ में आंबेडकर की मूर्ति के पास खड़े होकर मायावती की पार्टी के कुछ कार्यकर्ता ने दयाशंकर की बेटी और बहनों के बारे में ऐसे अपशब्द कहे थे. वहीं 12 साल की बेटी ने जब से ये सब सुना है तब से उसकी तबीयत खराब है. स्वाति और दयाशंकर सिंह के दो बच्चे हैं. बड़ी बेटी की उम्र बारह साल है जबकि बेटा छोटा है. इस घटना के बाद बड़ी बहन की तबीयत खराब हुई है तो वहीं छोटा भाई भी परेशान है. दया शंकर सिंह ने दो दिन पहले मऊ में मायावती को लेकर विवादित बयान दिया था. जिसके बाद से संसद से लेकर सड़क तक बीएसपी ने इस घटना का जमकर विरोध किया.  
मायावती ने कहा 'गलती' के एहसास को 'गाली' 
यूपी में ‘गाली’ की राजनीति लगातार गरमाती जा रही है. पहले दया शंकर सिंह की ‘घटिया’ बयान के बाद बीजेपी बैकफुट पर थी. लेकिन, कार्य़कर्ताओं की ‘अभद्र’ प्रतिक्रिया के बाद अब मायावती और उनकी पार्टी घिरती नजर आ रही है. मायावती ने कह दिया है कि उनके कार्य़कर्ताओं ने एहसास कराने के लिए विरोध किया है. दया शंकर सिंह की पत्नी खुलकर सामने आ गई हैं. उन्होंने कहा है कि परिवार को राजनीति में घसीटने के लिए वे मायावती पर एफआईआर करेंगी. दयाशंकर की पत्नी अब मायावती से सवाल पूछ रही हैं कि उनके परिवार को क्यों निशाना बनाया जा रहा है. आखिर, उनकी 12 साल की बेटी, 80 साल की मां और उनकी क्या गलती है ? उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि उन्हें जान से मारने की धमकी मिल रही है और उन्हें सुरक्षा चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि उनका वास्ता कभी राजनीति से नहीं रहा तो उनके परिवार की महिलाओं को क्यों निशाना बनाया जा रहा है.
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: गाली विवाद में अब नया मोड़, 'बेटी के सम्मान में, कल बीजेपी मैदान में' Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल