ताज़ा ख़बर

शिवसेना ने दी भाजपा से समर्थन वापस लेने की चेतावनी

मुम्बई। शिवसेना ने चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि अगर भाजपा शिवसेना को कमजाेर करने की कोशिश करेगी तो उससे समर्थन वापस ले लिया जाएगा। पार्टी के मुखपत्र सामना को दिए साक्षात्कार में पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवसेना भाजपा के साथ पिछले 25 साल के गठबंधन में सड़ गई है। भाजपा के साथ गठबंधन कर एक तरह से शिवसेना को नुकसान ही हुआ। अपने जन्मदिन से पहले दिए साक्षात्कार के आखिरी में उद्धव ने भाजपा के साथ जाने पर नुकसान की बात की। उद्धव ठाकरे आगे कहते हैं कि, भाजपा के साथ गठबंधन करना 25 साल पहले की जरूरत थी। लेकिन इससे शिवसेना को नुकसान ही उठाना पड़ा। बिना गठबंधन शिवसेना अगर लड़ती तो आज तस्वीकर कुछ और होती। ठाकरे ने भाजपा को यह चेतावनी दी कि अगर सत्ता का इस्तेमाल कर शिवसेना को कमजोर करने की कोशिश भाजपा करेगी तो वे सरकार से समर्थन वापस ले लेंगे। भाजपा अगर आगामी महानगरपालिका चुनाव स्वतंत्र रूप से लड़ना चाहती है तो शिवसेना भी उसके लिए तैयार है। उल्लेंखनीय है कि शिवसेना-भाजपा गठबंधन देश का सबसे पुराना राजनीतिक गठजोड़ है। जो दोनों दलों के विपक्ष में होते हुए बना था। इस गठजोड़ को बनाने में दिवंगत शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे और भाजपा के वरिष्ठा नेता लालकृष्ण आडवाणी की अहम भूमिका थी। गुजरे दिनों में इस गठबंधन की केंद्र और राज्य में सरकारें बनी थी। महाराष्ट्र में 1995 में बनी सरकार का नेतृत्व शिवसेना के पास था। और उसे केंद्र में भी अहम मंत्रालय मिले थे। लेकिन 2014 में हुए लोकसभा और महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव के बाद तस्वीकर बदल गई। आंकड़ों के हिसाब से शिवसेना भाजपा के सामने दोयम भूमिका में आ चुकी है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: शिवसेना ने दी भाजपा से समर्थन वापस लेने की चेतावनी Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल