ताज़ा ख़बर

यूपी में राष्ट्रपति शासन लगवाने की तैयारी कर रहे हैं भाजपा नेता?

इलाहाबाद/नई दिल्ली। यूपी के शामली जिला के कैराना में हिंदुओं के पलायन के मामले पर सियासत तेज हो गई है। केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने यूपी सरकार पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा है कि ऐसे हालात रहे तो राज्य से सभी लोग पलायन कर जाएंगे। उन्होंने कहा कि अगर राष्ट्रपति शासन लगाने से कोई फायदा हो तो मैं कहूंगी कि लगा देना चाहिए। वहीं इस मामले पर शामली के एएसपी का कहना है कि प्रशासन ने 150 परिवारों की जांच की है, जिसमें से सभी परिवारों ने किसी निजी काम या कारोबार की वजह से पलायन करने की बात कही है। एएसपी के मुताबिक हिन्दुओं के साथ साथ मुस्लिम परिवार भी कैराना से गए हैं। वहीं कैराना मामले पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि इस मामले में राज्य सरकार पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है।वहीं, कैराना से बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने इन परिवारों के मुखिया के नाम की लिस्ट जारी की। उन्होंने दावा किया है कि ये लोग डर और जान बचाने के लिए अपना घर छोड़ने को मजबूर हुए जबकि बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि कैराना को कश्मीर बनाने की कोशिश की जा रही है। इलाहाबाद में बीजेपी कार्यकारिणी की बैठक में कैराना मुद्दा गर्माने के बाद वहां पहुंचे नेताओं की तरफ से भी प्रतिक्रिया आनी शुरू हुई। आंवला से सांसद और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने राज्य सरकार पर हमला किया और कहा कि एक वक्त ऐसा भी आएगा जब सभी लोग यूपी छोड़ना चाहेंगे। उन्होंने कहा, 'मैं सांसद हूं और मुझे दिन में 10 या 15 फोन आते हैं... कोई कहता है कि मेरी बेटी का अपहरण हो गया है, कोई कहता है, गाय कटने जा रही है, पुलिस कुछ नहीं कर रही है।' केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि पुलिस का राजनीतिकरण करके हमने अच्छा नहीं किया। शर्म नाम की चीज यहां की सरकार में है ही नहीं। अगर राष्ट्रपति शासन लगाने से कोई फायदा हो तो मैं कहूंगी कि लगा देना चाहिए। यूपी के कैराना में हिंदुओं के पलायन मुद्दे पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजीजू ने बयान दिया। रिजीजू ने अभी तक की खबर पर चिंता जताई और कहा कि राज्य सरकार को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को इसपर एक आधिकारिक रिपोर्ट भी भेजनी चाहिए। कैराना से सैकड़ों हिंदू परिवारों के पलायन पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के सख्त रुख अपनाने और शनिवार को आईबी के पहुंचने के बाद तेजी से हरकत में आए प्रशासन ने दो ही दिन में 150 परिवारों का सत्यापन कर लिया। हालांकि इस सत्यापन में पलायन के क्या कारण सामने आये, इस पर प्रशासन चुप्पी साधे हुए है। तर्क है कि समग्र रिपोर्ट डीएम को जल्दी ही सौंप दी जाएगी। इस बारे में शासन स्तर से ही कुछ कहा जाएगा। वहीं, इस मुद्दे को उठाने वाले बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने कहा कि उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से मिली जानकारी के बाद ही यह सूची जारी की। उन्होंने कहा, 'मैंने प्रमाणिकता की जांच की और पाया कि लिस्ट सही है। एक और दो नाम गलत हो सकते हैं लेकिन व्यापक रूप से यह सही है। केंद्रीय मंत्री और गौतमबुद्धनगर से सांसद महेश शर्मा ने कहा कि कैराना की घटना को बिल्कुल अलग तरह से देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि अखिलेश को इस्तीफा दे देना चाहिए और राष्ट्रपति को कार्रवाई करनी चाहिए। हिंदू धर्म के 346 परिवारों के पलायन करने को लेकर सुर्खियों में आया शामली के कैराना में एसडीएम का कहना है यहां के लोग पलायन नहीं कर रहें बल्कि रिटायर कर्मचारी अपने गांव लौट रहे है। उन्होंने कहा कि सांसद हुकुम सिंह ने जो 346 परिवारों के पलायन की लिस्ट जारी की थी उसमें 10 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है, वहीं कुछ कर्मचारी रिटायर हो गए हैं। जो अपने घर लौट रहे हैं। अभी उनकी टीम लिस्ट की जांच करने में लगी हुई है। सूत्रों के मुताबिक, करीब 40 मुस्लिम परिवार भी कैराना से पलायन कर चुके हैं। शामली जिला प्रशासन बार-बार कैराना से पलायन कर चुके परिवारों के मामले में हाथ पर हाथ रखे बैठा रहा। कैराना की मशहूर मिठाई पलमतोड़ और सोनपापड़ी देशभर में मशहूर है। कर्ण द्वारा महाभारत काल में बनाया गया मंदिर तालाब और कैराना के नवाब द्वारा बनाई गई कई बिल्डिं ग आज भी कैराना के इतिहास को जिंदा किए हुए हैं।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: यूपी में राष्ट्रपति शासन लगवाने की तैयारी कर रहे हैं भाजपा नेता? Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल