ताज़ा ख़बर

विजय माल्या के समर्थन में उतरे उनके दोस्त और नेता

बेंगलुरु। तक़रीबन 9 हज़ार करोड़ रुपये का लोन लेकर देश से भागने का आरोप झेल रहे किंगफ़िशर एयरलाइन्स के मालिक विजय माल्या के दोस्त और वो राजनेता जिनकी वजह से माल्या राज्यसभा 2 बार पहुंचे, अब उनके बचाव में आ खड़े हुए हैं। विजय माल्या के नज़दीकी मित्रों में से एक मनोविराज खोसला मीडिया से ख़ासा नाराज़ हैं। उन्होंने एनडीटीवी को बताया कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि माल्याे विदेश गए हों लेकिन इस बार मीडिया ने बेवजह ही उनके दोस्त के खिलाफ मुहिम छेड़ दी है। खोसला के मुताबिक माल्याश 2 मार्च को विदेश जा रहे हैं ये उनके नज़दीकियों को 15 दिनों से पता था। ऐसे में वो अचानक या चुपचाप नहीं भागे। इतना ही नहीं, खोसला ने ये भी भरोसा दिलाया कि वो जल्द ही भारत आएंगे और जहां तक कर्जे का सवाल है, उसे माल्यार चुकता ज़रूर करेंगे। इससे ठीक पहले माल्या ने भी ट्वीट कर उन्हें भगोड़ा कहने पर आपत्ति जताई थी। वहीं शनिवार को जेडीएस सुप्रीमो और पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा से जब ये पूछा गया कि आज माल्याथ गलत कारणों से हर जगह चर्चा में हैं, ऐसे में क्या उन्हें लगता नहीं कि विजय माल्याज को राज्यसभा चुनाव में समर्थन देकर उन्होंने गलती की। देवेगौड़ा का जवाब था कि जेडीएस ने ऐसा करके कोई पाप नहीं किया है क्योंकि विजय माल्यां कर्नाटक के बेटे हैं, कहीं विदेश में उनका जन्म नहीं हुआ था, और माल्यां के पिता विट्टल माल्या देश के प्रतिष्ठित व्यापारी थे। ऐसे में जेडीएस ने निर्दलीय उम्मीदवार विजय माल्याक को समर्थन देकर कोई पाप नहीं किया। हालांकि देवेगौड़ा का कहना था कि इसमें कोई शक नहीं कि माल्याज ने गलती की है। वहीं माल्याा के मित्र और फैशन डिज़ाइनर खोसला ने इस बात पर भी नाराज़गी जताई कि ऋण की रकम को मल्या के ऐशोआराम और खर्चीले स्वाभाव से जोड़ कर देखा जा रहा है जो कि ठीक नहीं। खोसला के मुताबिक माल्या ने क़र्ज़ किंगफिशर एयरलाइन्स के लिए लिया था अय्याशी के लिए नहीं।  
अखबार का दावा, सही है माल्या का इंटरव्यू 
 बड़ा लोन नहीं चुकाने की चल रही जांच के बीच भारत छोड़ने पर विवादों में घिरे उद्योगपति विजय माल्या ने संडे गार्डियन को दिए उस साक्षात्कार से खुद को दूर रखने का प्रयास किया जिसमें उन्हें यह कहते हुए दिखाया गया है कि देश में लौटने का यह ‘सही’ समय नहीं है। माल्या ने अपने आधिकारिक ट्वि‍टर पेज पर ट्वीट किया, ‘‘मीडिया में बिना पुष्टि के यह बयान देखकर स्तब्ध हूं कि मैंने संडे गार्जियन को साक्षात्कार दिया। मैंने किसी को कोई बयान नहीं दिया।’’ उन्होंने उस साक्षात्कार के बारे में विस्तार से जिक्र नहीं किया है। वहीं, संडे गार्डियन ने फिर एक बार अपनी खबर के सही होने का दावा किया और उस ई-मेल का जिक्र किया जिसके जरिए विजय माल्या से बात की गई। इस संबंध में अखबार की वेबसाइट पर vjmallya@protonmail.com अकाउंट का जिक्र किया गया है। अखबार ने यह भी बताया कि इस ई-मेल की विजय माल्या के कानूनी सलाहकार के कार्यालय ने पुष्टि भी की थी। अखबार की साइट पर पूरी मेल-ट्रेल डाल गई है। विजय माल्या ने फिर ट्वीट कर जवाब दिया है और कहा कि ऐसा कोई मेल अकाउंट उनके पास नहीं है। उन्होंने तो यहां तक कहा कि प्रोटोनमेल को उन्होंने पहले कभी नहीं सुना। बता दें कि किंगफिशर एयरलाइन के लिए गए लोन की कुल बकाया राशि 9000 करोड़ रुपये नहीं चुकाने के लिए विवादों में आए माल्या ने 2 मार्च को देश छोड़ दिया था जिसके बाद कांग्रेस और भाजपा के बीच राजनीतिक गतिरोध पैदा हो गया और आरोप-प्रत्यारोप छिड़ गया। किंगफिशर एयरलाइन द्वारा आईडीबीआई के बकाया 900 करोड़ रुपये कथित तौर पर नहीं चुकाने के मामले में धनशोधन जांच के तहत प्रवर्तन निदेशालय ने 18 मार्च को उन्हें मुंबई कार्यालय में पेश होने का समन जारी किया है। इस बात को लेकर खबर चली कि माल्या लंदन में हैं लेकिन अपने ठिकाने के बारे में माल्या ने चुप्पी साध रखी है लेकिन कभी कभार ट्वीट करते हैं कि वह ‘भगोड़ा’ नहीं हैं और वह ‘देश के कानून का पालन’ करेंगे। संडे गार्जियन ने रविवार को उनके हवाले से ई-मेल साक्षात्कार का जिक्र करते हुए लिखा था, ‘‘मैं दिल से भारतीय हूं। निश्चित तौर पर मैं लौटना चाहता हूं। लेकिन वहां मुझे अपना पक्ष रखने का उचित अवसर नहीं मिलेगा। मुझे अपराधी घोषित किया जा चुका है। मेरा मानना है कि यह सही समय नहीं है।’’ साप्ताहिक अखबार की तरफ से भी अभी कोई जवाब नहीं आया है और साक्षात्कार के बारे में जानने के लिए इसके कार्यालय में किया गया फोन भी नहीं उठाया गया। माल्या ने रविवार को ट्वीट किया था, ‘‘ब्रिटेन में मीडिया मुझे ढूंढ रहा है। लेकिन वे मेरे नैसर्गिक स्थान पर नहीं ढूंढ रहे हैं। मैं मीडिया से बात नहीं करूंगा इसलिए प्रयास को बर्बाद मत कीजिए।’’
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: विजय माल्या के समर्थन में उतरे उनके दोस्त और नेता Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल