ताज़ा ख़बर

उत्तराखंड में सियासी घमासान, बीजेपी का सरकार बनाने का दावा, हरक ने दिया इस्तीफा

देहरादून। उत्तराखंड की राजनीति में आए सियासी भूचाल के बीच आज बीजेपी विधायकों ने राज्यछपाल केके पॉल से मुलाकात की। यहां बीजेपी ने सरकार बनाने का दावा किया। इससे पहले सीएम हरीश रावत की कैबिनेट के मंत्री हरक सिंह रावत ने मंत्रिमंडल से इस्तीेफा दे दिया। इस बीच केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ नेता महेश शर्मा भी देहरादून पहुंचे हैं। वहीं, प्रदेश की राजधानी देहरादून में दिनभर के सियासी ड्रामे के बाद देर शाम विधानसभा में जोरदार हंगामा हुआ। कांग्रेस के 9 विधायक सरकार के खिलाफ विपक्षी पार्टी बीजेपी के साथ खड़े दिखे। सदन और बाहर नेताओं ने जमकर हंगामा किया। पार्टी के विधायकों के विपक्ष में खड़े होने के बाद मुख्यमंत्री हरीश रावत की कुर्सी खतरे में दिख रही है। बीजेपी ने वित्त विधेयक पर मत विभाजन की मांग की, जिसे विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने नकार दिया। इसके बाद बीजेपी नेताओं ने जमकर हंगामा काटा और कांग्रेस के 9 विधायक भी इस मामले में सरकार के खिलाफ खड़े हो गए। हंगामे के बीच उत्तराखंड विधानसभा को 28 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। बता दें कि इन दिनों उत्तराखंड विधानसभा का बजट सत्र चल रहा था।
चौदह की न्यायिक हिरासत में भेजे गए भाजपा विधायक 
देहरादून (शिव जोशी, बीबीसी हिंदी डॉट कॉम के लिए)। पुलिस घोड़े पर कथित हमले के आरोप में उत्तराखंड के भाजपा विधायक गणेश जोशी को देहरादून की अदालत ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इससे पहले देहरादून के पुलिस अधीक्षक (शहर) यशवंत सिंह ने बताया था कि उन्हें पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। आरोप हैं कि विधानसभा के पास पिछले दिनों प्रदर्शन के दौरान भाजपा विधायक गणेश जोशी ने कथित रूप से पुलिस के घोड़े पर डंडे बरसाए। उसके बाद घोड़े की टांग टूट गई। हालांकि इस बारे में कोई स्पष्ट वीडियो साक्ष्य नहीं है। अलबत्ता एक तस्वीर में घोड़े के सामने विधायक, जोशो-खरोश से लाठी उठाए वार की मुद्रा में नज़र आ रहे हैं। पंतनगर विश्वविद्यालय के अलावा पुणे से विशेषज्ञ डॉक्टरों के दल ने उसके पांव का ऑपरेशन किया और गैंग्रीन फैलने के डर से घोड़े का पांव काटना पड़ा। बताया जा रहा है कि शक्तिमान अब पुलिस परेड का हिस्सा नहीं बन पाएगा। पुलिस इस मामले में भाजपा के एक अन्य कार्यकर्ता को गिरफ़्तार कर चुकी है। इस दौरान बीजेपी आलाकमान ने अपने उत्तराखंड प्रभारी श्याम जाजू को 'डैमेज कंट्रोल' के लिए देहरादून भेजा था। पुलिस महानिरीक्षक (गढ़वाल) संजय गुंज्याल के मुताबिक़ ''एक टीम बनाई गई है। मामले की संवेदनशीलता देखते हुए जांच जारी है। वीडियो और चश्मदीद साक्ष्यों के आधार पर नैनीताल ज़िले में एक व्यक्ति की गिरफ़्तारी की गई है। उसका नाम प्रमोद वोहरा है।'' इससे पहले भाजपा विधायक गणेश जोशी ने कहा था, ''हम राजनैतिक कार्यकर्ता हैं। जेलों में रहते हैं। हमारे नेता जेल में रहे हैं। हम आंदोलनकारी हैं। हम जेल जाने से घबराने वाले नहीं हैं। उस घोड़े को मल्टीपल फ्रेक्चर हैं। पैर में रॉड डाली गई है। उसे खड़ा किया गया। क्या ज़रूरत थी एकदम खड़ा करने की। उसे चार-पांच दिन पड़ा रहने देते।'' गणेश जोशी गुरुवार को घोड़े को हाल जानने देहरादून की पुलिस लाइन गए थे, जहां उसका इलाज चल रहा है। तब उन्होंने कहा था, ''मैं अपने साथी विधायकगणों के साथ पुलिस लाइन गया। मुझे खेद है कि बेचारे घोड़े को राजनीति का शिकार होना पड़ रहा है। मैं घोड़े के जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूँ।'' जोशी ने उल्टा कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया था कि राजनीतिक लाभ के लिए वह घोड़े को मरवाना चाहती है लेकिन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भाजपा के आरोपों को अनर्गल प्रलाप कहकर ख़ारिज कर दिया था। हरीश रावत ने घोड़े के घायल होने को ड्यूटी के वक़्त सिपाही का घायल होना बताया था। हरीश रावत के मुताबिक़, ''एक मूक जानवर को मारना एक घृणित काम है। मैंने डीजीपी को बुलाकर कहा है कि इलाज कराएं। ऐसा न लगे कि उत्तराखंड उतना असंवेदनशील हो गया है जितनी भाजपा. भाजपा की संवेदना मर गई है। वे अपना गुण दिखा रहे हैं. बीजेपी ने सहिष्णुता छोड़ दी है।''
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: उत्तराखंड में सियासी घमासान, बीजेपी का सरकार बनाने का दावा, हरक ने दिया इस्तीफा Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल