ताज़ा ख़बर

कन्हैया को जान से मारने की धमकी, 31 मार्च तक नहीं छोड़ी दिल्ली तो अंजाम बुरा होगा

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी ने जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को 31 मार्च तक दिल्ली न छोड़ने पर शूटआउट करने की धमकी दे डाली। जानी ने कहा कि शायद देश के लोगों या कन्हैया कुमार और उमर खालिद को 31 मार्च तक के अटलीमेटम की बात मजाक लगती होगी, लेकिन यह हकीकत है। उन्होंने कहा कि 8 अप्रैल से नवरात्रों की पूजा प्रारंभ हो रही है नवरात्रो में उनके शार्प शूटर कन्हैया नामक महिसासुर का अंत कर देंगे। जानी ने यह भी कहा कि कन्हैया के वध किये जाने के बाद ही वे दुर्गा अष्टमी की पूजा करेंगे। अमित जानी ने कहा कि बहुत आसान है यह कह देना कि अमित जानी ने ऐसा अल्टीमेटम सिर्फ खबरों में सुर्खियां बटोरने के लिए दिया था लेकिन हम जुबान के पक्के है, वादे को तोड़ते नहीं है। हमने खुद से कन्हैया को 31 मार्च तक का समय दिया था ऐसे में 31 मार्च से पहले हथियार लेकर JNU में घुसना अपने ही कमेटमेंट को तोड़ने जैसा काम होता। अमित जानी ने कहा कि कुछ लोगों का कहना है कि 31 मार्च के बाद कब? अप्रैल मई जून या अगले साल? व्यंग करने वाले उन लोगो को बता देना चाहते है कि 8 अप्रैल से नवरात्रो की पूजा स्टार्ट हो रही है, नवरात्रोx की 9 दिन की अवधि में किसी भी दिन, JNU गोलियों से गूंजेगा। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वे चाहते तो इस काम को खुद भी शांति से अंजाम दे सकते थे लेकिन बिन बताए किसी पर वार करना एक कायराना हरकत होगी इसलिए पहले ही अल्टीमेटम दे दिया। वे शूट आउट एट जेएनयू को खुलेआम करना चाहते है, इसकी जिम्मेदारी लेना चाहते हैं और जेल जाना चाहते है, ताकि मुद्दे पर लंबी बहस छिड़े। इस बहस से देश के युवाओं को सन्देश जाए कि भगत सिंह और आज़ाद सबके अंदर है बस जरुरत है तो उसको जिन्दा करने की। अमित जानी ने कहा कि दुर्गा अष्टमी के दिन उन्होंने एक बड़ी पूजा रखी है। इस राक्षस का वध करके वे अपनी पूजा संपन्न करेंगे और खुद को सरेंडर करेंगे।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: कन्हैया को जान से मारने की धमकी, 31 मार्च तक नहीं छोड़ी दिल्ली तो अंजाम बुरा होगा Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल