ताज़ा ख़बर

दिल्ली की हवा में रिश्वत से 'जहर' घुल रहाः सिसोदिया

नई दिल्ली (अरुण सिंह)। लगातार बढ़ते प्रदूषण ने देश की राजधानी दिल्ली को पिछले कई महीनों से परेशान कर रखा है. हालात किस कदर खराब हैं इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हाईकोर्ट ने दिल्ली को गैस चैंबर तक बता दिया. 'आज तक' के स्टिंग 'ऑपरेशन जिंदगी' में देखिए दिल्ली की वो सच्चाई जो आपके लिए काल बन रही है. दिल्ली सरकार को जब स्टिंग की भनक लगी तो डिप्टी सीएम ने सख्त कार्रवाई का आदेश दिया है. दिल्ली के बढ़ते प्रदूषण में उन ट्रकों का बड़ा रोल है, जो दूसरे राज्यों से यहां आते हैं या यहां से होकर गुजरते हैं. ट्रकों से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए चंद महीने पहले सुप्रीम कोर्ट ने दखल दिया और दिल्ली में एंट्री करने वाले ट्रकों पर ग्रीन टैक्स को दोगुना कर दिया. साथ ही देश की सबसे बड़ी अदालत ने दिल्ली सरकार को भी जरुरी कदम उठाने के निर्देश दिए. सरकार की ओर से कई कदम उठाए गए. प्रदूषण के बढ़ते स्तर को काबू में करने के लिए ही दिल्ली सरकार ने ऑड-इवन फॉर्मूला लागू किया लेकिन आंकड़े बताते हैं कि तमाम उपायों के बावजूद प्रदूषण पर कोई खास फर्क पड़ता दिखाई नहीं दे रहा. दिल्ली में प्रदूषण का स्तर काबू में नहीं आ रहा उसकी असली वजह दिल्ली में बाहर से आने वाले ट्रकों पर लगाम ना लगाया जाना है. देश की राजधानी दिल्ली से एंट्री प्वाइंट्स पर 'आज तक' की टीम ने स्टिंग ऑपरेशन किया. तीन टोल प्लाजा पर 'आज तक' की खुफिया टीम ने कैसे दिल्ली में ट्रक की एंट्री कराई और कैसे टोल कलेक्टर्स ने सुप्रीम कोर्ट के नियमों की धज्जियां उड़ाकर, अपनी जेब गरम की, ऑपरेशन में सबकुछ दिखेगा. सबसे पहले टीम ट्रक लेकर दिल्ली नोएडा दिल्ली यानी डीएनडी टोल प्लाजा पर पहुंची. दिल्ली में प्रदूषण कम हो, इसके लिए सुप्रीम कोर्ट ने ट्रकों से ग्रीन टैक्स वसूलने का आदेश दिया हुआ है, लेकिन कैसे नोएडा से ट्रक बिना ग्रीन टैक्स दिए दिल्ली में दाखिल होता है, इसके पीछे चलता है रिश्वत का खेल. डीएनडी टोल प्लाजा. से बिना टोल टैक्स दिए कोई भी गाड़ी पास नहीं हो सकती. टीम के साथ जा रहे ट्रक को भी टोल टैक्स देना पड़ा लेकिन ग्रीन टैक्स नहीं देना पड़ा. टैक्स कलेक्टर ने अपनी जेब गर्म करने के बाद ट्रक को दिल्ली में इंट्री दे दी. ट्रक को दिल्ली में एंट्री मिल चुकी थी. डीएनडी को क्रॉस करने के बाद टीम यूपी-दिल्ली के लोनी बॉर्डर पहुंची. यहां यूपी से आने वाले ट्रक दिल्ली में एंट्री करते हैं. यहां भी हमें एक हजार तीन सौ रूपये ग्रीन टैक्स और 450 रुपये एमसीडी टैक्स के तौर पर देना था, यानी दिल्ली में एंट्री करने के लिए ट्रक ड्राइवर को एक हजार सात सौ पचास रुपये देने थे. ट्रक ड्राइवर ने टैक्स कलेक्टर से कहा कि वो गलती से इस एंट्री प्वाइंट पर आ गया है, इसलिए उससे ग्रीन टैक्स और एमसीडी टैक्स न लिया जाए. टैक्स कलेक्टर ने टैक्स नहीं देने के एक हजार रुपए मांगे. यहां भी सुप्रीम कोर्ट के आदेश को धुएं में उड़ा दिया गया. टैक्स कलेक्टर ने एक हजार रुपये अपनी जेब में रखे और ट्रक को दिल्ली में प्रदूषण फैलाने के लिए एंट्री दे दी. टोल से आगे बढ़ने के बाद जब टीम कैमरे के साथ फिर वहां पहुंची और वहां मौजूद सुपरवाइजर को सारा मामला बताया तो उसने फौरन टैक्स कलेक्टर को बुलाया और इस बारे में पूछताछ की. टैक्स कलेक्टर कैमरे पर साफ मुकर रहा था, उसका कहना था कि बिना ग्रीन टैक्स दिए यहां से कोई भी ट्रक पास नहीं हो सकता. लेकिन टीम ने वहीं पर दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया. टीम ने स्टिंग ऑपरेशन की फुटेज दिखाई, जिसमें बाकायदा वो एक हज़ार रुपये मांग रहा था और तब सुपरवाइजर ने अपनी गलती मानी. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को जब 'आज तक' के स्टिंग ऑपरेशन की जानकारी मिली तो उन्होंने भी इस काले खेल पर हैरानी जताई. उन्होंने कहा, 'यह हैरान करने वाली बात है कि एमसीडी के कलेक्टर रिश्वत लेकर दिल्ली में ट्रकों को एंट्री दे रहे हैं. दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. कॉन्ट्रैक्ट भी रद्द किए जाएंगे.' (साभार आजतक)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: दिल्ली की हवा में रिश्वत से 'जहर' घुल रहाः सिसोदिया Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल