ताज़ा ख़बर

दो दिन दिल्ली यूनिवर्सिटी में चलेगा राम मंदिर पर सेमिनार, एनएसयूआई समेत कई छात्र संगठन हुए उग्र

नई दिल्ली। दिल्ली यूनिवर्सिटी में अगले दो दिन राम मंदिर पर सेमिनार चलेगा। इसमें राम मंदिर से जुड़े पहलुओं पर चर्चा होगी। इस सेमिनार का आयोजन भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कराया है। इस सेमिनार इस सेमिनार के खिलाफ एनएसयूआई, वामपंथी संगठन, आम आदमी पार्टी का छात्र संघ समेत तमाम शिक्षक भी उतर आए हैं। विरोध इतना उग्र हो गया है कि पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा और कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी करना पड़ा। डीयू परिसर में 'राम जन्मभूमि मंदिर : उभरता परिदृश्य' नाम के विषय पर दो दिनों का सेमिनार आज शुरू हुआ। इसका आयोजन विश्व हिंदू परिषद के दिवंगत नेता अशोक सिंघल द्वारा स्थापित शोध संस्थान अरूंधती वशिष्ठ अनुसंधान पीठ द्वारा दिल्ली विश्वविद्यालय के कला संकाय में हो रहा है। कांग्रेस छात्र संगठन एनएसयूआई और वामपंथी छात्र संगठन आइसा इसे डीयू का भगवाकरण कह कर विरोध कर रहे हैं। जबकि भाजपा का छात्र संगठन एबीवीपी इस सेमिनार का समर्थन कर रहा है। बताया जाता है कि सुब्रमण्यम स्वामी इस संगठन के अध्यक्ष हैं। उन्होंने ही इस सेमिनार का पूरा आयोजन करवाया है। उन्होंने ही सेमिनार में उद्घाटन भाषण दिया। सेमिनार में भाजपा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा, मैंने जैसा कहा वहीं हुआ, मैंने कहा था राजा 2G में जेल जाएंगे, वह गए। अब कह रहा हूं राम मंदिर अयोध्या में बनेगा। राजीव गांधी ने 1989 में कहा था, देश में रामराज्य होगा। वह अच्छे इंसान थे। विरोध करने वालों पर उन्होंने कहा, वे असहनशील हैं। उन्होंने बताया कि यहां राम मंदिर से जुड़े तथ्यों और रिसर्च पेपर को यहां लोग पेश करेंगे। यहां समान विचारधारा वालों को बुलाया गया है। इसका विरोध करने वाले खुद असहिष्णु हैं। इस सेमिनार में इतिहासकार, पुरातत्वविद और कानून विशेषज्ञ विभिन्न विषयों पर चर्चा करेंगे। इन विषयों में 'भगवान राम का चरित्र और मूल्य, भारतीय संस्कृति में उनके प्रभाव', 'राममंदिर का इतिहास अैर संबंधित पुरातत्व तथ्य', 'राम मंदिर से जुड़े कानूनी पहलू' और 'राम मंदिर के अनुभव तथा भविष्य' आदि शामिल हैं। इधर इस सेमिनार के विरोध में कई शिक्षक भी उतर आए हैं। विश्वविद्यालय में प्रोफेसर शाश्वती मजूमदार ने कहा कि ये सेमिनार विभाजनकारी है। इस तरह के व्याख्यान विश्वविद्यालय में नहीं होने चाहिए। उधर दिल्ली विश्वविद्यालय के अधिकारियों का कहना है कि सेमिनार के विषय से उनका कोई लेनादेना नहीं है और संगठन ने कार्यक्रम के लिए आयोजन स्थल बुक किया है जो बाहरी लोगों के लिए किराए पर उपलब्ध है। दूसरी ओर आयोजकों का कहना है कि सेमिनार का उद्देश्य राम मंदिर पर एक रिसर्च पेपर को पेश करना है। एनएसयूआई का विरोध शुरू होने के बाद एबीवीपी के समर्थक भी पहुंच गए और उन्होंने जय श्रीराम के नारे लगाए।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: दो दिन दिल्ली यूनिवर्सिटी में चलेगा राम मंदिर पर सेमिनार, एनएसयूआई समेत कई छात्र संगठन हुए उग्र Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल