ताज़ा ख़बर

बिना सच जाने फतवा जारी करना भी हरामः बालकृष्ण

हरिद्वार। पंतजलि के प्रोडक्ट्स के खिलाफ एक मौलवी की तरफ से जारी किए गए फतवे के बाद पतंजलि आयुर्वेद की तरफ से सफाई पेश की गई है. फतवे में मौलवी ने कहा था कि मुसलमान बाबा रामदेव का कोई भी उत्पाद ना खरीदें, क्योंकि रामदेव के उत्पादों में गौमूत्र मिलाया जाता है जो इस्लाम में हराम है. फतवे का जबाब देते हुए योगगुरु बाबा रामदेव के सहायक बालकृष्ण ने कहा है कि हम लोग 800 से भी अधिक उत्पाद बनाते हैं जिनमें से केवल पांच उत्पादों में गौमूत्र मिलाया जाता है. आचार्य बालकृष्ण ने यह भी कहा है कि पतंजलि कोई भी काम छुपकर नहीं करती. जिन उत्पादों में गौमूत्र मिलाया जाता है उसके पैकेट पर साफ-साफ लिखा भी होता है. मौलवी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, 'बिना सच जाने फतवा जारी करना भी इस्लाम में हराम है इसलिए फतवा जारी करने के पहले सच पता कर लेना चाहिए.' सफाई पेश करने हुए बालकृष्ण ने कहा कि कुछ लोग नहीं चाहते कि गरीब मुसलमान भाइयों को शुद्ध और सस्ते उत्पाद मिलें. उन्होंने दारुल-उलूम की ओर से जारी फतवा दिखाते हुए कहा कि मुसलमानों की सबसे प्रतिष्ठित संस्था दारुल उलूम देवबंद ने भी एक फतवा जारी किया था जिसमें मुसलमानों से कहा गया था कि वे पांच प्रोडक्ट छोड़कर बाकी का इस्तेमाल कर सकते हैं. बता दें कि तमिलनाडु तौहीद जमात (टीएनटीजे) ने पतंजलि के कॉस्मेटिक्स, मेडिसिन और कई फूड प्रोडक्ट्स के खिलाफ फतवा जारी किया है. टीएनटीजे ने एक प्रेस रिलीज जारी कर कहा है कि सभी मुसलमानों को पतंजलि प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से बचना चाहिए. जानकारी न होने के चलते कई लोग इनको यूज करते हैं. पतंजलि आयुर्वेद साबुन, शैम्पू, मंजन, स्किन क्रीम, बिस्किट, घी, जूस, शहद, आटा, कुकिंग ऑयल, मसाला, शुगर, आटा नूडल्स जैसे 800 प्रोडक्ट बनाती है.
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: बिना सच जाने फतवा जारी करना भी हरामः बालकृष्ण Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल