ताज़ा ख़बर

यूपी में अखिलेश सरकार को झटका, पंचायत चुनाव में कई मंत्रियों-विधायकों के रिश्तेदार हारे

नई दिल्ली। यूपी में अखिलेश सरकार ने कैबिनेट ने फेरबदल कर भले ही मेकओवर की कोशिश की हो, लेकिन पंचायत चुनाव के नतीजे कुछ और ही कहानी बयान कर रहे हैं। रविवार को घोषित हुए प्रदेश के पंचायत चुनाव के नतीजों में समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। पंचायत चुनाव में समाजवादी पार्टी ने अपने मंत्रियों, पदाधिकारियों और जान पहचान वालों को बड़े पैमाने पर टिकट दिया था, लेकिन इनमें से ज्यादातर को हार का सामना करना पड़ा है। अमरोहा सपा जिलाध्यक्ष विजय पाल सैनी की पत्नी चुनाव हार गई हैं। संभल के असमौली से सपा विधायक पिंकी यादव के पति भी चुनाव हार गए हैं। यहीं से सपा जिलाध्यक्ष फिरोज खां की पत्नी भी चुनाव हार गई हैं। संभल के सांसद सत्यपाल सैनी की चाची चुनाव हार गई हैं। उन्हें बसपा के राज्यसभा सांसद की पत्नी ने हरा दिया है। कानपुर के चौबेपुर ब्लॉक से सपा विधायक मुनीन्द्र शुक्ला के भाई अपने ही गांव से बीडीसी का चुनाव हार गए हैं। इधर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अमरोहा में कैबिनेट मंत्री महबूब अली की पत्नी और बेटा चुनाव जीत गए हैं, लेकिन उनकी भाभी को हार का सामना करना पड़ा हैं। उधर, कैबिनेट मंत्री कमाल अख्तर के साले नदीम की पत्नी हुस्ना पांच हजार वोट से आगे। जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत की मतगणना के बाद क्षेत्र पंचायत के वार्ड 7 पर जीते और हारे दोनों प्रत्याशियों को प्रमाण पत्र दे दिया गया। जब तहसील के कर्मचारियों ने अधिकारियों को सूचना दी, तब तक हारा हुआ प्रत्याशी प्रमाण-पत्र लेकर जा चुका था। क्षेत्र पंचायत सदस्य के वार्ड 7 का परिणाम घोषित हुआ, जिसमें विजय कुमार को विजयी घोषित किया गया। कुछ देर बाद बालकिशन के विजयी होने की भी घोषणा माइक से कर दी गई और बालकिशन को भी जीत का प्रमाण पत्र दे दिया गया। तहसील के कुछ कर्मचारियों ने कहा कि इस पद पर विजय कुमार जीत का प्रमाण पत्र ले चुका है, तब तक बालकिशन प्रमाण-पत्र लेकर जा चुका था। अधिकारियों ने कहा कि बालकिशन के प्रमाण-पत्र को निरस्त किया जाएगा।  
ओवैसी की पार्टी ने आज़मगढ़ में दर्ज की जीत 
पंचायत चुनाव के नतीजे असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन यानी एआईएमआईएम के लिए खुशखबरी है। पंचायत चुनाव में इस पार्टी ने अपना खाता खोला है। पूर्वी यूपी के आजमगढ़ में एक सीट पर एमआईएम ने जीत दर्ज की है। एआईएमआईएम के लिए खुशखबरी ये भी है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में भी दो सीटों पर इस पार्टी के उम्मीदवार आगे चल रहे हैं। यूपी में पंचायत चुनाव के नतीजे अखिलेश सरकार के लिए मायूस करने वाले हैं। अखिलेश के कई मंत्रियों के रिश्तेदार चुनाव हार गए हैं। इसी तरह अमेठी में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया, जबकि बीजेपी भी बुरी तरह से पस्त है। बीएसपी खेमें में खुशी की लहर है पार्टी की शानदार जीत देखी जा रही है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: यूपी में अखिलेश सरकार को झटका, पंचायत चुनाव में कई मंत्रियों-विधायकों के रिश्तेदार हारे Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल