ताज़ा ख़बर

अखिलेश यादव की प्रधानमंत्री को सलाह, "फेसबुक पर कम बात हो, ज़मीन पर ज़्यादा काम हो..."

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खास सलाह दी है - फेसबुक पर कम, ज़मीन पर (वास्तव में) ज़्यादा सक्रिय रहें...। एनडीटीवी के 'वॉक द टॉक' कार्यक्रम के दौरान देश के सबसे युवा मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री को अपने पार्टी कार्यकर्ताओं तथा सहयोगियों को अधिक प्रगतिशील तथा विकासशील होने की सलाह देनी चाहिए। दरअसल, जब अखिलेश यादव से सवाल किया गया कि यदि उनकी मुलाकात दुनिया के सबसे ज़्यादा 'मीडिया-सैवी' राजनेताओं में शुमार किए जाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से होती है तो वह उन्हें क्या सलाह देना चाहेंगे, अखिलेश ने कहा, "फेसबुक पर कम बात हो, ज़मीन पर ज़्यादा काम हो..." गौरतलब है कि पिछले माह के आखिरी दिनों में दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के दादरी इलाके के एक गांव में गोमांस रखने और खाने की अफवाह फैल जाने पर भीड़ ने एक व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या कर डाली थी। इस अपराध के लिए गिरफ्तार किए लोगों में कम से कम सात लोग एक स्थानीय बीजेपी नेता के रिश्तेदार थे, और इसके अलावा भी बीजेपी के कई नेताओं ने घटना के बाद वहां पहुंचकर भड़काऊ भाषण दिए। प्रधानमंत्री ने इस मुद्दे पर बुधवार को पहली बार चुप्पी तोड़ी थी, और कहा था कि वह इस घटना से दुःखी हैं, लेकिन उन्होंने साथ ही सवाल भी किया था, "इसमें केंद्र सरकार की क्या भूमिका है...?" उधर, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तथा समाजवादी पार्टी प्रमुख उनके पिता मुलायम सिंह यादव का आरोप है कि लोगों ने यह हत्या अचानक गुस्से में आकर नहीं की, बल्कि यह बीजेपी की सोची-समझी रणनीति का हिस्सा थी, ताकि राज्य में सांप्रदायिक तनाव बढ़ जाए। अखिलेश ने कहा, "मैं निजी रूप से गोमांस खाने के खिलाफ हूं, लेकिन दुनियाभर में इसे खाया जाता है... क्या वे पूरे उद्योग को बंद करवाना चाहते हैं...? आप कानून अपने हाथ में नहीं ले सकते... एक व्यक्ति अपने घर में कुछ खा रहा है... और फिर देखिए, बहस किस स्तर पर पहुंच गई है... लोग कह रहे हैं, मैंने गोमांस खाया है, आओ, मुझे मार डालो... क्या सही भारतीय संस्कृति है...? दुनिया क्या कहेगी...?" 42-वर्षीय मुख्यमंत्री ने कहा, "दादरी कांड के बाद जो कुछ भी अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने प्रकाशित किया है, अगर उसे पढ़ेंगे तो प्रधानमंत्री और बीजेपी काफी शर्मिन्दा होंगे..." दूसरी तरफ, अखिलेश यादव की टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी प्रवक्ता नलिन कोहली ने कहा है कि अखिलेश को इस बात की चिंता करनी चाहिए कि लोग उनके राज्य में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति पर हंस रहे हैं। नलिन कोहली ने कहा, "अखिलेश यादव को इस बात का जवाब देना चाहिए कि क्यों उत्तर प्रदेश में पुलिस लोगों की जगह भैंसों को तलाश करती है... और वैसे, फेसबुक और ट्विटर संचार के माध्यम हैं, प्रशासन के नहीं... सरकार काम कर रही है - हमारी उपलब्धियों को देखिए..."
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: अखिलेश यादव की प्रधानमंत्री को सलाह, "फेसबुक पर कम बात हो, ज़मीन पर ज़्यादा काम हो..." Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल