ताज़ा ख़बर

बिहार विधानसभा चुनावः धुआंधार प्रचार में उतरे पीएम मोदी

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज से धुआंधार प्रचार की शुरुआत करते हुए छपरा में रैली को संबोधित करते हुए राज्य् के लिए छह सूत्रीय कार्यक्रम रखा। पीएम ने कहा, भारत का सदियों तक मार्गदर्शन करने वाली बिहार की धरती के लिए मेरा 3 सूत्रीय कार्यक्रम 'बिजली, पानी और सड़क' है। बिहार के परिवारों के लिए भी मेरा तीन सूत्रीय कार्यक्रम युवकों को पढ़ाई, कमाई और बुजुर्गों को दवाई है। यह छह सूत्रीय कार्यक्रम बिहार का भाग्यक बदलेगा। पीएम ने कहा कि 'ये चुनावी सभा, रैली भी नहीं, रैला भी नहीं है। ये तो परिर्वतन के संकल्प का मेला नजर आ रहा है। ये साफ दिख रहा है कि 8 तारीख की बिहार की दिवाली कैसी होगी। ये चुनाव बिहार ही नहीं, पूरे हिन्दुिस्ताहन के लिए दो-दो दिवाली लेकर आएगा और एक छोटी सी दिवाली की शुरुआत हो चुकी है। उन्होंसने कहा, मैं नीतीश कुमार-लालू यादव से पूछना चाहता हूं कि 'परम आदरणीय लोकतांत्रिक नीतीश बाबू, परम आदरणीय हिंदुस्तामन के सबसे बड़े तांत्रिक होने का दावा करने वाले लालू जी बिहार की जनता आपसे पूछना चाहती है कि बिहार के नौजवानों को बाहरी किसने बनाया। उन्हेंव बाहर जाने के लिए किसने मजबूर किया। इन्हें बाहर किसने धकेला। 25 साल में दो-दो पीढि़यों को तबाह कर दिया। हर समस्याे का समाधान विकास की जड़ी-बूटी में है। मैं लंबे चौड़े वादे और गुमराह नहीं करने आया। बिहार में लालू-नीतीश के दिन लद गए।' प्रधानमंत्री ने कहा, अगर 25 सालों में राज्यर में बिजली पहुंची होती तो कारखाने चलते, किसान को पानी मिलता, नौजवानों को रोजगार मिलता, लेकिन इन लोगों (नीतीश और लालू) को अपने परिवार के अलावा किसी और की चिंता नहीं। अगर राजग की सरकार बनेगी तो मैं राज्यल सरकार से कहूंगा कि कमेटी का गठन कर यहां उद्योग कैसे शुरू हो, उसकी छानबीन कर नौजवानों को रोजगार दिलाने को कहूंगा। पीएम ने आगे कहा, नीतीश कुमार मुझे दिन-रात याद करते रहते हैं। उनकी विरोध भक्ति काबिले-दाद हैं। वो मुझे सवाल पूछते रहते हैं। आपको बता दूं कि महा'स्वावर्थ'बंधन में तीन लोग हैं, बड़े भाई-छोटे भाई और मैडम। लेकिन पहली बार मुझे पता चला कि इस महा'स्वा'र्थ'बंधन में तीन नहीं चार खिलाड़ी हैं। एक लालू, दूसरे नीतीश, तीसरी मैडम सोनिया जी और चौथा तांत्रिक। पीएम ने नीतीश के तांत्रिक से मिलने पर भी चुटकी ली और कहा कि तंत्र-मंत्र से लोकतंत्र नहीं चलता। साथ ही आरजेडी का मतलब राष्ट्री य जादू-टोना पार्टी बताया। पीएम अगले 6 दिनों के दौरान राज्य में 17 रैलियों को संबोधित करेंगे। आज पीएम मोदी की छपरा के मढौरा के बाद पटना के नौबतपुर, नालंदा और हाजीपुर में रैलियों को संबोधित करेंगे। पीएम की रैलियों को लेकर पार्टी ने अपनी नीति में एक बदलाव और किया है। अभी तक पीएम की रैलियां ज़िला मुख्यालय में ही कराई जा रही थी, लेकिन अब इन्हें ब्लॉक स्तर पर भी कराया जा रहा है। बीजेपी इस चुनाव को जीतने के लिए ऐड़ी-चोटी का जोर लगा रही है और खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर लड़ा जा रहा ये चुनाव पार्टी के लिए साख का सवाल बन गया है। चुनाव की गंभीरता को खुद पीएम भी बखूबी जान रहे हैं, इसीलिए उन्होंने आक्रामक तरीके से प्रचार करने का फ़ैसला किया है। इसके अलावा दादरी और हरियाणा में दलितों की हत्या जैसी घटनाओं ने भी चुनावी मौसम में बीजेपी की मुश्किलों को बढ़ा दिया है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: बिहार विधानसभा चुनावः धुआंधार प्रचार में उतरे पीएम मोदी Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल