ताज़ा ख़बर

पीएम मोदी पर भड़के लालू, बोले- मैं 'शैतान' तो वह 'ब्रह्मपिशाच'

पटना। पीएम मोदी के 'शैतान' वाले बयान पर भड़के आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने पीएम मोदी ने बिहार के लोगों का अपमान किया है। मुझे गाली दी है। एनडीटीवी से खास बातचीत में लालू ने कहा, पीएम ने बिहार के दलित और पिछड़ों का अपमान किया है। वह प्रधानमंत्री बनने लायक नहीं हैं। मैंने आरक्षण की बात की तो मुझे 'शैतान' कहा। मुझे 'शैतान' कहने वाले खुद 'ब्रह्मपिशाच' हैं। इनका इलाज हम जानते हैं, पीली सरसों और मिर्ची को जलाकर किया जाता है। पीएम मोदी गुरुवार को बिहार की रैली में कहा, ‘मुझे हैरानी है कि शैतान को प्रवेश करने के लिए उनका (लालू) ही शरीर मिला। मैं जानना चाहता हूं कि शैतान को उनका (लालू का) पता कैसे मिला? शैतान को पूरे बिहार, भारत और पूरी दुनिया में उन्हें छोड़कर किसी और का शरीर नहीं मिला। और उन्होंने भी शैतान का ऐसे स्वागत किया जैसे कोई अपने रिश्तेदारों का करता है।’ लालू ने ट्वीट किया, मोदी को चैलेंज करता हूं कि वह मेरा शैतान वाला बयान दिखाएं वरना सार्वजनिक रूप पर सारे बिहारियों को शैतान कहने के लिए तुरंत माफी मांगे। लालू ने आगे कहा, मोदी ने मेरे बहाने तमाम दलित और पिछडों को शैतान कहा है। लालू ने कहा, दलितों और पिछडों की गोलबंदी से हताश आप शैतान के पीछे छुपने की कोशिश कर रहे हैं। बिहार का वंचित समाज देख रहा है कि बड़बोले प्रधानमंत्री महंगाई, रोजगार और कालेधन पर चुप क्यों हैं। भागवत के बयान की भर्त्सना की हिम्मत दिखाओ।
किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं लालू 
  लालू यादव के बारे में ज्याहदातर लोग जानते हैं। चाहे वो उनके बोलने के अंदाज की वजह से उन्हेंह पहचानते हों या किसी और वजह से लेकिन जानते जरूर होंगे। बिहार में करीब 15 वर्षों तक उनकी ही पार्टी राजद ने राज किया है। लालू की रैली हो और लोग न पहुंचें, ये लगभग नामुमकिन है। लालू के बोलने का अनोखा अंदाज ही उनकी यूएसपी है। चाहे विरोधियों को करारा जवाब देने की बात है या फिर किसी बात पर टिप्पसणी करनी हो, लालू का अंदाज सबसे जुदा होता है। लालू प्रसाद यादव का जन्मस 11 जून 1947 को बिहार के गोपालगंज जिले के फुलवरिया गांव में हुआ। इनकी शुरुआती पढ़ाई गोपालगंज से हुई और कॉलेज की पढ़ाई के लिए वे पटना आए। पटना के बीएन कॉलेज से इन्हों ने कानून में स्ना तक की पढ़ाई की और राजनीति शास्त्रा में एमए किया। लालू छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रि‍य हो गए थे। छात्र राजनीति के दिनों में ही लालू जयप्रकाश नारायण के आंदोलन से जुड़े और यहीं से उनके राजनीतिक जीवन की शुरुआत हुई। लालू पहली बार छठी लोकसभा के लिए जनता पार्टी के टिकट पर सांसद चुने गए। उस समय उनकी उम्र मात्र 29 साल थी। एक जून 1973 को इनकी शादी राबड़ी देवी हुई। लालू प्रसाद की कुल 7 बेटियां और 2 बेटे हैं। लालू प्रसाद 10 मार्च 1990 को पहली बार बिहार के मुख्यएमंत्री बने और सफलता पूर्वक अपना कार्यकाल पूरा किया। 1995 में एक बार फिर जनता ने लालू पर भरोसा जताया और उन्हेंक फिर मुख्य मंत्री चुना। 1997 में लालू ने जनता दल से अलग होकर राष्ट्रीय जनता दल का निर्माण किया और खुद उसके अध्यचक्ष बने। राष्ट्रीलय राजनीति में लालू का अच्छाय रसूख रहा और 2004 में यूपीए की सरकार में लालू रेलमंत्री बने। लालू 8 बार बिहार विधानसभा के सदस्या भी रह चुके हैं। चारा घोटाले में नाम आने और 1997 में सीबीआई द्वारा इसी मामले में लालू के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल करने के बाद लालू को सीएम की कुर्सी छोड़नी पड़ी। तब लालू ने अपनी पत्नी् राबड़ी देवी को राज्या का मुख्य मंत्री बना दिया। 3 अक्टूबर 2013 को लालू को चारा घोटाला मामले में पांच साल की कैद व पच्चीस लाख रुपये के जुर्माने की सजा हुई। इसके चलते उन्हें न सिर्फ अपनी संसद सदस्यचता गंवानी पड़ी बल्कि 11 साल तक के लिए उन पर किसी भी तरह के चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी गई। इस बार विधानसभा चुनाव में लालू ने अपने धुर विरोधी नीतीश कुमार और कांग्रेस के साथ मिलकर महागठबंधन बनाया है और चुनावी मैदान में ताल ठोक रहे हैं। उनकी रैलियों में भीड़ भी खूब जुट रही है। नतीजों के लिए हमें 8 नवंबर 2015 तक इंतजार करना पड़ेगा।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: पीएम मोदी पर भड़के लालू, बोले- मैं 'शैतान' तो वह 'ब्रह्मपिशाच' Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल