ताज़ा ख़बर

राम जेठमलानी ने बीजेपी को घेरा, पीएम मोदी और भागवत को लिखी चिट्ठी

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी की परेशानियां कम होती नहीं दिख रही हैं। पार्टी के वरीय नेता और सांसद राम जेठमलानी ने अपने ही पार्टी को विभिन्न मसलों पर घेरा है। राज्यसभा सांसद राम जेठमलानी ने आरक्षण के मसले और वन रैंक वन पेंशन पर किए गए कामों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ को पत्र लिखा है। जेठमलानी ने पटना के अपने दो दिवसीय निजी दौरे से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संघ को यह चिट्ठी लिखी है। इसमें राम जेठमलानी ने आरक्षण, वन रैंक वन पेंशन के अलावा पार्टी के कुछ नेताओं के बयानों को लेकर भी सवाल खड़े किए हैं। जेठमलानी के बिहार के निजी दौरे को बिहार में भाजपा के विक्षुब्धों की लामबंदी से भी जो़ड़ कर देखा जा रहा है। मालूम हो कि बिहार में चुनाव के पहले से ही कई नेताओं ने पार्टी के फैसलों को लेकर लगातार सवाल खड़े किए हैं। पार्टी के सांसद और शॉटगन शत्रुघ्न सिन्हा के साथ-साथ आरा के सांसद और पूर्व नौकरशाह आरके सिंह ने भी टिकट के बंटवारे को लेकर पार्टी के फैसले पर सवाल खड़े किए थे। दरअसल, संघ प्रमुख मोहन भागवत ने संघ के मुखपत्र पांचजन्य और ऑर्गेनाइजर में दिए साक्षात्काअर में कहा था कि आरक्षण नीति पर पुनर्विचार की जरूरत है। उनका कहना था कि आरक्षण का राजनीतिक उपयोग किया गया। ऐसे में कोई अराजनीतिक समिति गठित की जाए जो यह तय करे कि किसे और कितने समय तक आरक्षण की जरूरत है। हालांकि, भाजपा ने इस बयान से पल्लाक झाड़ते हुए कहा था कि वह अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़े वर्गों के आरक्षण के अधिकारों का सौ फीसदी समर्थन करती है। आरक्षण के मसले पर फिर विचार करने की कोई जरूरत नहीं है और न ही पार्टी ऐसे किसी मांग का समर्थन करती है। वहीं, आरएसएस ने कहा था कि मोहन भागवत के बयान का गलत मतलब निकाला गया। आरक्षण का लाभ वंचितों को मिलना चाहिए।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: राम जेठमलानी ने बीजेपी को घेरा, पीएम मोदी और भागवत को लिखी चिट्ठी Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल