ताज़ा ख़बर

राजनीतिक स्वार्थ के कारण बंटा आंध्र प्रदेश : पीएम मोदी

अमरावती (आंध्र प्रदेश)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कांग्रेस पर जहर फैलाने, युवाओं को भड़काने और आंध्र प्रदेश तथा तेलंगाना के बीच तनाव पैदा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि राजनीतिक स्वार्थ के कारण जल्दबाजी में आंध्र प्रदेश का बंटवारा हुआ। बंटवारे के बाद प्रदेश की नई राजधानी की आधारशिला रखने के बाद प्रधानमंत्री ने दोनों राज्यों की जनता से कहा कि वह झूठ और दुष्प्रचार के शिकार न बनें जो आंध्र और तेलंगाना के बीच तनाव का कारण बन सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लोगों के राजनीतिक स्वार्थ के कारण उचित परामर्श की प्रक्रिया को ठीक ढंग से अपनाए बिना जल्दबाजी में आंध्र प्रदेश का बंटवारा कर दिया गया। मैं आज भी उन मासूमों का दर्द महसूस कर सकता हूं जिन्होंने इस घटनाक्रम में अपना जानमाल गंवाया।’’ यहां उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को निशाने पर लिया और कहा, ‘‘अंग्रेज ऐसी चीजें पीछे छोड़ गए हैं, जिससे आज भी देश में तनाव है। पिछली सरकार ने कुछ ऐसा किया है, जिसकी वजह से हर दिन तनाव पैदा होता है।’’ प्रधानमंत्री ने लोगों को आश्वासन दिया कि आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम को उसकी पूरी भावना के साथ निर्धारित समयसीमा में लागू किया जाएगा। पीएम मोदी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली पिछली सरकार ने दोनो राज्यों के बीच स्थायी समस्या के बीज बोने का प्रयास किया। प्रधानमंत्री ने लोगों से तेलुगु की सच्ची भावना और आत्मा के साथ आगे बढ़ने का आग्रह किया। उन्होंने चेतावनी देने वाले अंदाज में कहा, ‘‘वह लोग जिन्होंने आंध्र प्रदेश और तेलंगाना का बंटवारा करते समय स्थायी समस्या के बीज बोने का प्रयास किया, वह आज भी जहर बनाने और भ्रम पैदा करने के लिए खाद डाल रहे हैं और युवाओं की भावनाओं के साथ खेलने की कोशिश कर रहे हैं। अटल बिहारी वाजपेयी के शासन में तीन नए राज्यों.झारखंड, उत्तराखंड और छत्तीसगढ़ के गठन का हवाला देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उस समय कोई टकराव नहीं हुआ था और अब वह भी वैसा ही करने का प्रयास कर रहे हैं ताकि दोनों राज्यों की जनता के बीच किसी तरह की समस्या या खूनखराबा न हो। उन्होंने कहा, ‘‘पिछली सरकार ने ऐसी बहुत सी चीजें कीं, जिन्हें ठीक करने में इस सरकार का बहुत सा समय और शक्ति जा रही है, लेकिन मैं दोनों राज्यों को केन्द्र के समर्थन का आश्वासन देता हूं और भारत सरकार हमेशा आपके साथ खड़ी रहेगी और आपका समर्थन करेगी।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि वह मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के साथ मिलकर आंध्र प्रदेश की आकांक्षाओं और सपनों को पूरा करेंगे और विकास प्रक्रिया को रफ्तार देकर इसे बुलंदियों तक ले जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘‘मैं आंध्र प्रदेश की जनता को आश्वासन देना चाहता हूं कि भारत सरकार पुनर्गठन अधिनियम के प्रावधानों का पूरी भावना के साथ पालन करेगी। मैं यहां आप लोगों को यह आश्वासन देने आया हूं कि नरेंद्र मोदी और चंद्रबाबू नायडू की जोड़ी तमाम सपनों और आकांक्षाओं तथा स्वीकृत मुद्दों को निर्धारित समय सीमा के भीतर पूरा करेगी। नई राजधानी मंर छिड़कने के लिए यमुना नदी का पानी और संसद परिसर की मिट्टी लेकर आए मोदी ने कहा, ‘‘इस प्रतीक में एक संदेश और शक्ति है कि आंध्र प्रदेश के नई ऊंचाइयों को छूने के सफर में दिल्ली हमेशा उसके साथ खड़ी रहेगी और उसके कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ेगी।’’
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: राजनीतिक स्वार्थ के कारण बंटा आंध्र प्रदेश : पीएम मोदी Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल