ताज़ा ख़बर

गांधी परिवार के पूर्व प्रधानमंत्रियों के नाम पर जारी डाक टिकट को बंद करने के निर्णय की आलोचना

हिसार (अरोड़ा)। कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार के उस कदम की कड़ी आलोचना की है जिसमें गांधी परिवार के पूर्व प्रधानमंत्रियों पर जारी डाक टिकट को सरकार द्वारा बंद करने का निर्णय लिया है। इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि गांधी परिवार से संबंधित देश के पूर्व प्रधानमंत्रियों इंदिरा गांधी व राजीव गांधी के सम्मान में प्रकाशित डाक टिकटों को बंद कर मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजनीतिक द्वेषता का प्रमाण दिया है। यहां जारी बयान में रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि आर.टी.आई. के जबाव से यह स्पष्ट है कि मोदी सरकार द्वारा मनमानी व्यक्तिगत नफरत के कारण इस प्रकार के ओच्छे निर्णय लिए जा रहे हैं। सुरजेवाला ने कहा कि देश के 2 महान एवं शहीद प्रधानमंत्रियों की स्मृति मिटाने के प्रयास में मोदी सरकार किसी कीमत तक भी नीचे गिरने को तैयार है। इससे पहले भी मोदी सरकार ने 2 पुरस्कारों ‘इंदिरा गांधी राजभाषा पुरस्कार’ और ‘राजीव गांधी राष्ट्रीय ज्ञान-विज्ञान पुस्तक लेखन पुरस्कार’ के नाम बदलकर उनमें से क्रमश: इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के नाम हटा दिए थे। हाल में ही नेहरु मैमोरियल म्यूजिय़म और लाईब्रेरी जैसी ऐतिहासिक संस्था में से पंडित जवाहरलाल नेहरू का नाम मिटाने हेतु आमूलचूल परिवर्तन करने की एक सस्ती कोशिश सरकार द्वारा की गई। इस प्रकार के निंदनीय कार्यों के माध्यम से भाजपा-आर.एस.एस. के विघटनकारी गठबंधन ने नरेंद्र मोदी की अगुवाई में स्वतंत्रता संग्राम और उसके बाद राष्ट्रनिर्माण और त्याग की नि:स्वार्थ विरासत का अपमान करने की कोशिश की है, क्योंकि भाजपा या आर.एस.एस. ने कभी भी स्वतंत्रता संग्राम में भागीदारी ही नहीं की। सुरजेवाला ने कहा कि भारत के लोगों को यह बताने की आवश्यकता नहीं कि दोनों प्रधानमंत्रियों, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी ने देश में अनेक उपलब्धियों के मील पत्थर स्थापित किए। भारत को 21वीं सदी की सुपर पॉवर बनाने का नया रूप दिया। भारतीय अखंडता व एकता को बनाए रखने का आजीवन प्रयास किया और इसी प्रयास में देश के लिए अपने प्राणों का बलिदान भी दिया। वे केवल कांग्रेस पार्टी के नेता नहीं थे, बल्कि वो समूचे देश एवं देश के लोगों के निर्विवाद नेता थे। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस मोदी सरकार के द्वारा सेवा एवं त्याग की भारतीय विरासत की कहानी को मिटाने के दुर्भावनायुक्त प्रयासों की कड़ी निंदा करती है। इस देश के लोग सरकार को प्रतिशोध की इस घिनौनी राजनीति के लिए कभी माफ नहीं करेंगे। कांग्रेस पार्टी और इसके कार्यकर्त्ता भारत की जनता के साथ सरकार के इस घिनौने प्रयास के खिलाफ सड़क पर आंदोलन करेंगे।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: गांधी परिवार के पूर्व प्रधानमंत्रियों के नाम पर जारी डाक टिकट को बंद करने के निर्णय की आलोचना Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल