ताज़ा ख़बर

लोकसभा चुनाव जीतने के बाद होश खो बैठे हैं भाजपा नेताः राजेन्द्र चौधरी

लखनऊ। सपा के प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि उप्र की सपा सरकार व जनता के विरूद्ध इन दिनों सुनियोजित ढंग से दुष्प्रचार हो रहा है। कानून व्यवस्था की स्थिति को लेकर तमाम तरह की भ्रामक बातें प्रचारित की जा रही हैं। बसपा तो खैर अपनी सत्ता खोने के दिन से ही बौखलाई हुई है और उसका एक सूत्री कार्यक्रम समाजवादी सरकार को बदनाम करना और उसे बर्खास्त कराना रहा गया है। लोकसभा चुनाव की जीत के बाद से भाजपा भी अपने होश खो बैठी है और उसे भी जल्दी से जल्दी सत्ता हथिया लेने का दुःस्वप्न दिखाई देने लगा है। कांग्रेस सब कुछ गंवाने के बाद और कोई रास्ता न सूझने पर भाजपा-बसपा के साथ ही सुरताल मिला रही है। समाजवादी सरकार द्वारा कानून व्यवस्था के प्रति पूर्ण सतर्कता बरती जाती है। इस पर भी झूठे आंकड़ों के सहारे अनर्गल बयानबाजी कर जनता को बरगलाने की साजिशें चल रही हैं। समाजवादी पार्टी के नेताओं के बयानों को तोड़मरोड़ कर और संदर्भ से अलग पेश कर खराब माहौल बनाया जाता है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के बयानों को इधर कुछ ज्यादा ही गलत ढंग से प्रचारित किया गया है। नेता जी का नाम राष्ट्रीय स्तर पर एक गंभीर, विवकेशील और संतुलित विचार रखने वाले जननेता के रूप में शुमार होता है। महिलाओं को वे अत्यधिक सम्मान देते हैं। दुष्कर्म की शिकार महिलाओं को त्वरित न्याय मिले इसके वे पक्षधर हैं। उनके किसी बयान का आशय कदापि न तो किसी अपराध को कमतर बताना है और नहीं नारी जगत के प्रति अवमानना दिखाना है। भाजपा के कई नेता बसपा नेताओं की तरह कानून व्यवस्था के बारे में गलत बयानियां कर रहे हैं। उनके बयानों में धमकी का पुट रहता है। यह एक सर्वविदित तथ्य है कि उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा सूबा है। इसकी जनसंख्या 20 करोड़ के लगभग है। समाजवादी सरकार को जनता ने विशाल बहुमत देकर सत्ता में बिठाया है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य सरकार प्रदेश को बदहाली से उबारने के लिए विकास के नए एजेंडा को अमली जामा पहनाने का काम कर रही है। अवस्थापना सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। किसानों, नौजवानों, महिलाओं और अल्पसंख्यकों की जिंदगी को खुशहाल बनाने के प्रयास हो रहे हैं। इस बीच कुछ तत्व प्रशासन के लिए चुनौती बन रहे हैं। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जी की प्राथमिकता में कानून व्यवस्था बनाए रखना है क्योंकि विकास की गतिविधियॉ तभी सफल हो सकती हैं। इसके लिए ऊपर से लेकर नीचे तक प्रशासन को चुस्त दुरूस्त बनाने के निर्देश दिए गये हैं। अधिकारिक स्तर पर अपराधियों पर अंकुश लगा है। मुख्यमंत्री के स्पष्ट निर्देश हैं कि असामाजिक तत्वों के प्रति सख्ती बरतनी चाहिए और अपराधियों की जगह जेल होनी चाहिए। जहॉ भी कोई अवांछनीय घटना की कोशिश होती है मुख्यमंत्री स्वयं उसका संज्ञान लेते हैं। उप्र की जनता जागरूक है और साजिशकर्ताओं के मंसूबों को भली भांति समझती है। समाजवादी सरकार को बदनाम करने वाले वास्तव में देश - दुनिया में इस प्रदेश की छवि बिगाड़ने में लगे हैं। ये विपक्षी लोकतंत्री व्यवस्था और जनादेश दोनों का अपमान करने पर उतारू हैं। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेष को उत्तम प्रदेश बनाने का संकल्प लिया है और उसे साकार करने को पूर्णतः प्रतिबद्ध हैं।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: लोकसभा चुनाव जीतने के बाद होश खो बैठे हैं भाजपा नेताः राजेन्द्र चौधरी Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल