ताज़ा ख़बर

बेटा सांसद बन गया पर जुत्तियां बनानी नहीं छोड़ी...

अंबाला। लाडवा निवासी व अंबाला से दूसरी बार बहुमत से चुने गए भाजपा सांसद रतनलाल कटारिया का परिवार सत्ता में होने के बावजूद आज भी ईमानदारी की एक नई मिसाल पैदा करके गरीबी में अपना गुजारा कर रहा है। जिस बाप का बेटा २ बार सांसद बना हो, उसके पिता को मजदूरी करके २ वक्त की रोटी कमाने की क्या चिंता, लेकिन लाडवा के रविदास नगर में रहने वाले ज्योति राम ने इस बात को झूठला दिया है। लाडवा निवासी ज्योति राम पिछलें कईं वर्षों से चमड़े की जूती बनाने का काम करते है और उनकी इस मेहनत से आज भी परिवार का गुजारा चलता है। ज्योतिराम ने बताया कि मुझे गर्व है कि मैंने रतनलाल कटारिया जैसे पुत्र को जन्म दिया और उसकी अच्छी शिक्षा करवाई। मैंने मजदूरी करके अपनी चार बच्चों को पढ़ाया लिखाया। जिनमें रतनलाल भी शामिल है, रतनलाल को बीए, एमए व एलएलबी की शिक्षा प्रदान करवाई। बताया जाता है कि रतनलाल कटारिया ने सांसद बनने से पहले अपना पूरा जीवन गरीबी में बिताया, रतनलाल के परिवार ने कभी भी ईमानदारी का दामन नहीं छोड़ा और अब इसी रास्ते पर रतनलाल भी अपने पिता के दिखाए रास्ते पर चल रहे है, जिसके कारण आज भी लाडवा क्षेत्र की जनता में उनकी छवि एक ईमानदार नेता के रूप में देखी जाती है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: बेटा सांसद बन गया पर जुत्तियां बनानी नहीं छोड़ी... Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल